आईडिएट- फ्रीडम टू ड्रीम: सोचो: सपने देखने की आज़ादी

blog-image-4-resized

प्रसून जोशी संग संवाद पुनीता रॉय प्रायोजक: भास्कर भाषा सीरीज़   वृषाली जैन, अधिकृत ज़ी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ब्लॉगर   असल हुनर किसी पेशे, किसी रोक का मोहताज नहीं| सपने बंद कमरों से भी परवाज़ भर लेते हैं| आँखों को अपने कल को देखने के लिए दीवार में खिड़कियाँ नहीं चाहिए| कुछ ऐसी ही बातें… Read more »

Ideate: Freedom to Dream

blog-image-1-resized

Prasoon Joshi in conversation with Puneeta Roy Presented by Bhaskar Bhasha Series   By Sitamsini, Official ZEE Jaipur Literature Festival Blogger   Prasoon Joshi defies categorization: an award-winning lyricist, a poet, an advertising executive who has won numerous awards in each of the fields he works in. In an insightful session at the ZEE Jaipur… Read more »