गाथा : मानो तो सच, नहीं तो झूठ

180125-DURB-026e-EkSachhiJhootiGatha (4)

By:- Urmila Gupta, Official blogger at Zee Jaipur Literature Festival   साहित्य अकादेमी पुरस्कार विजेता अलका सरावगी का नया उपन्यास ‘एक सच्ची झूठी गाथा’ आते ही चर्चा का विषय बन गया| इक्कीसवीं सदी की यह गाथा एक स्त्री और एक पुरुष के बीच संवाद और आत्मालाप से बुनी गई है। यहाँ सिर्फ सोच की उलझनें… Read more »