30 जनवरी - 03 फरवरी 2025 | होटल क्लार्क्स आमेर, जयपुर

प्रोग्राम 2024

The sessions for the upcoming edition will be announced shortly!

Programme
गुरूवार, 1 फ़रवरी

01 Feb | 09:00 AM - 09:40 AM
फ्रंट लॉन

प्रात: संगीत

01 Feb | 09:50 AM - 10:50 AM
फ्रंट लॉन

01 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
फ्रंट लॉन

हरदिल अजीज़ शायर, गुलज़ार साहब अपने नये काव्य-संग्रह के माध्यम से एक बार फिर से अपना जादू चलाने को तैयार हैं| उनके काव्य संग्रह, बाल--पर का अंग्रेजी अनुवाद, पुरस्कृत अनुवादक और लेखिका, रख्शंदा जलील ने किया है| बाल--पर गुलज़ार साहब के छह कविता संकलनों का संग्रह है| द्विभाषी इस संकलन में मूल और अनुवाद साथ-साथ चलता है, और ये गुलज़ार साहब काव्यात्मक सफ़र की सुहानी पेशकश है| इस विशाल संकलन में समस्त मानवीय भावों की तस्वीर है| भूतपूर्व राजनयिक और लोकप्रिय लेखक पवन के.वर्मा से संवाद में गुलज़ार साहब और रख्शंदा हमें सुरों के अनुपम सफ़र पर ले चलेंगे|   

01 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
चारबाग

लेखक पॉल लिंच का बुकर प्राइज 2023 से सम्मानित उपन्यास, प्रोफेट सोंग, हाशिये पर खड़े समाज का एक उत्तेजक, प्रेरक और टकरावपूर्ण वर्णन है| एक महिला द्वारा अपने परिवार को बचाने की इस कहानी में आयरलैंड के पितृसत्तात्मक और तानाशाह समाज की झलक है| यह कहानी आज़ादी और अभिव्यक्ति की है| नंदिनी नायर के साथ संवाद में, लिंच अपने लेखन की बारीकियों के साथ ही, एक परिवार को जोड़ने में माँ के संघर्ष को भी बयां करेंगे|
 

01 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
मुग़ल टेंट

 
इतिहासकार और लेखिका कैथरीन स्कोफिल्ड की नई किताब, म्यूज़िक एंड म्यूज़िशियन्स इन लेट मुग़ल इंडिया, उस समय के दौरान संगीत, संगीतकारों और उनके दर्शकों का एक नया इतिहास प्रदान करने के लिए नौ संगीतकारों के जीवन की कहानी बयां करती हैं| संगीतकार और लेखिका विद्या शाह और इतिहासकार और लेखिका राणा सफ़वी के साथ संवाद में, स्कोफील्ड उन तरीकों पर चर्चा करेंगी की, जिनसे मुगल संस्कृति ने ब्रिटिश शासन में राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक उथल-पुथल का जवाब दिया।
 

01 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
दरबार हॉल

हिमालय  के पवित्र शिखर में अध्यात्म और रहस्यवाद की समयातीत परम्परा समाई है| प्रबुद्ध गुरु धार्मिक और आध्यात्मिक समुदायों के लिए एक स्थायी और जीवंत उपस्थिति कैसे बनते हैं? प्रसिद्ध अकादमिक और लेखक एंड्रू क्विंटमैन ने तिब्बत के गुरु और आध्यात्मिक कवि, मिलारेपा के जीवन पर बहुत लिखा है| अभिनेता और लेखक केली दोरजी बौद्ध धर्म को मानते हैं| उनकी किताब, हिडन रेनबो, हमें बौद्धिक प्रतीकों के माध्यम से आंतरिक शांति और स्वीकृति के एक आध्यात्मिक सफ़र पर ले जाती है|
ये दोनों मिलारेपा के जीवन के साहित्यिक प्रतिनिधित्व की बात करते हुए रहस्य और अध्यात्म के अनेक कहानियां सुनायेंगे| इस सत्र में मिस्टिक एंड सेप्टिक्स: इन सर्च ऑफ़ हिमालयन मास्टर्स के हिन्दी अनुवाद का लोकार्पण भी होगा|

01 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
फ्रंट लॉन

 रघुराम राजन और रोहित लाम्बा के सह-लेखन में लिखी, ब्रेकिंग मोल्ड: रीइमेजनिंग इकोनोमिक फ्यूचर, भारत की अर्थव्यवस्था से जुड़े कुछ मुश्किल सवालों को उठाती है| किताब में कुछ ऐसी रणनीतियां भी प्रस्तावित हैं, जिनसे भारत की अर्थव्यवस्था को उछाल दिया जा सकता है, जैसे मानव-पूँजी में निवेश करके, उच्च-दक्षता सर्विस में विस्तार करके, और तकनीक से जुड़े नये उत्पादों के माध्यम से| नौशाद फ़ोर्ब्स के संग संवाद में, वे भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास की बारीकियों और ग्लोबल इकोनॉमी पर अपने विचार व्यक्त करेंगे|

01 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
चारबाग

बी. जेयामोहन एक तमिल और मलयालम लेखक व साहित्य समीक्षक हैं, जो मिथक, दर्शन और कल्पना पर लिखते हैं| जयमोहन का विस्तृत और विविध लेखन भारत की समृद्ध साहित्यिक शास्त्रीय परंपराओं के सार की जांच और व्याख्या करता है। आपने कई तमिल फिल्मों की पटकथा लिखी है, जिनमें हाल ही में रिलीज हुई फिल्म, पोन्नी सेल्वन भी शामिल है| लेखिका और अनुवादक सुचित्रा रामचंद्रन ने जेयामोहन की एज्हाम उलागम का अंग्रेजी में अनुवाद किया| लेखिका अंजुम हसन के साथ बातचीत में, वे अपने समृद्ध लेखकीय जीवन और अनुवाद की कई बारीकियों के माध्यम से खोजे गए बहुस्तरीय आख्यानों पर चर्चा करेंगे।

01 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
मुग़ल टेंट

  दो शानदार महिला उपन्यासकार, मंजू कपूर और देविका रेगे अपने नये उपन्यासों पर चर्चा करेंगी| द गैलरी में, कपूर चार महिलाओं के जीवन को आपस में जोड़ती हैं, जो अपने अलग-अलग रास्तों की चुनौतियों को सुलझाती हैं| कविता और संपत्ति की पृष्ठभूमि पर आधारित यह उपन्यास अकेलेपन और लालसा की बात करता है, और पूछता है कि एक महिला को अपने लिए खड़े होने के लिए क्या करना पड़ता है। देविका रेगे का पुरस्कृत डेब्यू उपन्यास क्वार्टरलाइफ़ एक महत्वपूर्ण आम चुनाव के बाद की पृष्ठभूमि पर आधारित है, जो भारत की राजनीतिक चेतना का एक तीखा दर्पण है। रेगे की कथा का आर्क उसके पात्रों को चित्रित करता है क्योंकि वे देश के अशांत और बदलते परिदृश्य में कदम रखते हैं| रचना सिंह के साथ संवाद में कपूर और रेगे अपनी लेखन प्रक्रिया और प्रेरणा पर चर्चा करेंगी।

01 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
दरबार हॉल

वर्तमान समय में, कुछ लोगों के लिए कल्पना एक लक्जरी है; कुछ ऐसा जो अंततः मायावी है, जिसका उपयोग करना कठिन है और इसे दूसरों के लिए छोड़ देना ही बेहतर है| लेकिन कल्पना करने का क्या मतलब है? हम इसके बारे में कैसे सोचते हैं, और यह इतना महत्वपूर्ण क्यों है कि हम अपने लिए इसकी कल्पना करें? अल्बर्ट रीड की विचारोत्तेजक किताब, इमेजिनेशन मसल, कल्पना को हमारे जीवन में सबसे आगे रखती है। लेखिका अमृता त्रिपाठी से संवाद में अल्बर्ट मानव मस्तिष्क की असीम क्षमता और समय के साथ विचारों की उत्पत्ति पर चर्चा करेंगे|

01 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
बैठक

सनातन धर्म', या 'शाश्वत सत्य', हिंदू धर्म का दार्शनिक और व्यावहारिक आधार है। ऋग्वेद वैदिक संस्कृत श्लोकों का एक प्राचीन भारतीय संग्रह है और प्रमुख पवित्र हिंदू ग्रंथों में से एक है। प्रसिद्ध लेखक, कवि और वेदांत के शिक्षक, पार्थो की नई किताब, दिस इज़ सनातन धर्म, सनातन धर्म के कुछ मौलिक सिद्धांतों और प्रथाओं को समझने का एक प्रयास है। वह श्री अरबिंदो को अपनी प्रेरणा और मार्गदर्शन का स्रोत मानते हैं। चिकित्सक और लेखक परीक्षित सिंह की नई किताब, वेद मेड सिंपल, ऋग्वेद की विशाल जटिलता और गहरे रहस्यों को समझाने की कोशिश करती है| सत्र में वे दोनों पवित्र परंपराओं और ग्रंथों पर संवाद करते हुए, हमारे अतीत, वर्तमान और भविष्य पर उनके निरंतर प्रभाव का भी जिक्र करेंगे|

01 Feb | 1:00 PM - 1:50 PM
फ्रंट लॉन

क्रिकेट सही मायनों में भारतियों का धर्म है| बीते सालों के साथ खेल की भावना और अभ्यास दोनों ही बदल गए हैं, लेकिन एक जुनून ने अभी भी देश की पीढ़ियों और क्षेत्रों को साथ में बांधा हुआ है। लेखक, टिप्पणीकार, कोच और पूर्व क्रिकेटर, वेंकट सुंदरम की नई किताब, इंडियन क्रिकेट: देन एंड नाउ, खेल पर क्रिकेटरों और प्रमुख लेखकों के पचास लेखों का संग्रह है, जो महान क्रिकेटरों की विरासत को साझा करते हुए, भारत के क्रिकेट इतिहास के महत्वपूर्ण क्षणों का वर्णन करती है। पूर्व सिविल सेवक, पत्रकार, और लंबे समय तक भारतीय क्रिकेट प्रशासक और अंपायर, अमृत माथुर का संस्मरण, पिचसाइड: माई लाइफ इन इंडियन क्रिकेट, भारतीय क्रिकेट के परिवर्तनकारी दौर का एक व्यापक दृश्य प्रस्तुत करता है| दोनों के बीच हुई बातचीत क्रिकेट का दिलचस्प ब्यौरा प्रस्तुत करेगी| उद्यमी और गॉड्स ऑफ विलो के लेखक अमरीश कुमार के साथ बातचीत में, वे अपनी किताबों, अनुभवों और उस खेल के उपाख्यानों पर चर्चा करेंगे, जिसने वर्षों से खेल जगत को नियंत्रित किया है।

01 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
चारबाग

01 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
मुग़ल टेंट

01 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
दरबार हॉल

01 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
बैठक

01 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
फ्रंट लॉन

इस सत्र में वक्ता ऐतिहासिक वास्तविकता और सैद्धांतिक आदर्शवाद और चुनावी प्रक्रिया की वास्तविकता के बीच संघर्ष की पड़ताल करेंगे| लेखक और अकादमिक यास्चा मॉनक की किताब, ग्रेट एक्सपेरिमेंट इतिहास, सामाजिक मनोविज्ञान और तुलनात्मक राजनीति पर आधारित है, जो सभी को खुश करने वाले एक समरूप समाज बनाने के तरीकों पर बात करती है। भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त और लेखक एस वाई क़ुरैशी की किताब, इंडियाज़ एक्सपेरिमेंट विद डेमोक्रेसी उन मूलभूत सिद्धांतों का मूल्यांकन करती है जो राष्ट्रीयता, नागरिकता और लोकतंत्र के विचारों के लिए मंच तैयार करते हैं। गिरीश कुबेर लोकसत्ता के संपादक हैं। मंदिरा नायर के साथ संवाद में, वे युद्ध, संघर्ष और बहुजातीय संघर्ष से टूटी हुई दुनिया में लोकतांत्रिक प्रथाओं के पोषण की जटिलताओं पर चर्चा करेंगे|

01 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
चारबाग

प्रधानमंत्री बनकर एक देश की नियति निर्धारण करना कैसा होता है? ऑस्ट्रेलिया के भूतपूर्व प्रधानमंत्री, माल्कोल्म टर्नबुल, लेखक और भूतपूर्व राजनयिक नवदीप सूरी के साथ संवाद में अपने कार्यकाल और उसमें लिए गए महत्वपूर्ण निर्णयों पर चर्चा करेंगे| 
 

01 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
मुग़ल टेंट

लेखिका सोनोरा झा का नया उपन्यास, लाफ्टर, वर्ग, विशेषाधिकार, कट्टरपंथ और आधुनिक शिक्षा पर एक मज़ेदार वर्णन है, जो हमें दुनिया के बारे में हमारी धारणाओं का सामना करने के लिए मजबूर करता है। यह कहानी एक श्वेत पुरुष कॉलेज प्रोफेसर और एक नए दक्षिण एशियाई सहकर्मी के प्रति उसके खतरनाक जुनून की कहानी है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने इसे "जबरदस्त हास्य उपलब्धि" कहा है। सुज़ाना टोरेस के साथ संवाद में सोनोरा वासना और प्रतिशोध की मार्मिक गाथा में 'दूसरे' के विचार पर चर्चा करेंगी।

  • सोनोरा झा का नया उपन्यास, लाफ्टर, वर्ग, विशेषाधिकार, कट्टरपंथ और आधुनिक शिक्षा पर एक मज़ेदार वर्णन है, जो हमें दुनिया के बारे में हमारी धारणाओं का सामना करने के लिए मजबूर करता है। यह कहानी एक श्वेत पुरुष कॉलेज प्रोफेसर और एक नए दक्षिण एशियाई सहकर्मी के प्रति उसके खतरनाक जुनून की कहानी है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने इसे "जबरदस्त हास्य उपलब्धि" कहा है। सुज़ाना टोरेस के साथ संवाद में सोनोरा वासना और प्रतिशोध की मार्मिक गाथा में 'दूसरे' के विचार पर चर्चा करेंगी।

01 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
दरबार हॉल

लेखक और प्रकृतिवादी युवान आवेस की नई किताब, इंटरटाइडल: कोस्ट एंड मार्श डायरी, दो साल और तीन मानसून में फैली हुई, तट और आर्द्रभूमि, जलवायु और स्वयं की गहरी टिप्पणियों की एक डायरी है। जहां भूमि समुद्र से मिलती है - और जहां अस्तित्व दुनिया से मिलता है, कथा सौंदर्य और नाजुकता के परिदृश्य के बीच सबसे छोटे जीवन रूपों के साथ बातचीत का पता लगाती है। प्रसिद्ध लेखक रोबर्ट मैकफार्लें के साथ संवाद में, आवेस हमें मनुष्य, जानवर, समुद्र और तट की सीमाओं से परे सामंजस्यपूर्ण सह-अस्तित्व की यात्रा पर ले जाएंगे|

01 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
बैठक

01 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
फ्रंट लॉन

अमेरिकी लेखिका और कॉपीराइटर, बोनी गार्मुस का पहला उपन्यास, लेसंस इन कैमिस्ट्री एक हताश कैमिस्ट के गिर्द घूमता है, जब वो अचानक खुद को एक कुकिंग शो में पाती है, जो 1960 के दशक के अमेरिका में क्रान्ति की चिंगारी लगा देता है| उपन्यास की नायिका, एलिज़ाबेथ जोट, पुरुषवादी समाज में अपनी पहचान की जंग लड़ती है| बी रोलेट के साथ संवाद में, गार्मुस अपने उपन्यास के महत्त्व और प्रासंगिकता पर बात करेंगी|

01 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
चारबाग

किसी दूसरे के जीवन को समझकर उन्हें पन्नों पर कैसे दर्ज किया जाता है? किसी और की कहानी में डूबकर, इतिहास को खंगालकर, उसे जीवंत कैसे किया जाता है? इस सत्र में महान जीवनीकार एकत्र होकर, जीवनी लेखन की बारीकियों की चर्चा करेंगे| वे बताएँगे कि इस राह में उन्हें किन चुनौतियों का सामना करना पड़ता है|

01 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट



                     

01 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
दरबार हॉल

इस सत्र में दक्षिण एशियाई व्यंजनों की विविध पाक परंपराओं पर बात होगी| यादों, व्यंजनों और पारिवारिक इतिहास में डूबी, लेखिका और सांस्कृतिक इतिहासकार तराना हुसैन खान और लेखिका और इतिहासकार राणा सफ़वी हमें अवधी और रामपुर के व्यंजनों की समृद्ध सांस्कृतिक और सामाजिक परंपराओं के विषय में बतायेंगी और समय के साथ इसमें आए बदलावों पर भी रौशनी डालेंगी|

01 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
बैठक

इस सत्र में एक पत्रकार, कवि-राजनेता और एक अकादमिक के नजरिये से उत्तर-पूर्वी राज्यों की मुख्य समस्याओं और बदलती वास्तविकताओं पर बात होगी| वे इस क्षेत्र के प्राकृतिक संसाधन और समृद्ध सांस्कृतिक विविधता के साथ ही, राजनीतिक और पर्यावरणीय मसलों पर भी संवाद करेंगे| 

01 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
जयपुर बुक मार्क

01 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
फ्रंट लॉन

बेस्टसेलिंग लेखक अमीश और उनकी बहन भावना रॉय ने अपनी नई किताब, आइडल्स: अनअर्थिंग पावर ऑफ मूर्ति पूजा में मूर्तिपूजा के वास्तविक अर्थ से जुड़े ज्वलंत सवालों को उठाया है| किताब में उन्होंने मिथकों और धार्मिक ग्रंथों की सरल, व्यावहारिक व्याख्याओं के माध्यम से इष्ट देवता और भक्ति के सार की खोज की है| सत्यार्थ नायक के साथ संवाद में, वे मूर्ति पूजा के प्रतीकात्मक और गहरे अर्थों और हमारे भीतर और बाहर देवत्व की खोज पर चर्चा करेंगे।

01 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
मुग़ल टेंट

एक सत्र मेंटल हेल्थ की गंभीरता और जनरल हेल्थ पॉलिसीज के नाम| वक्ता मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े सभी पहलुओं पर बात करेंगे और इसके इलाज में आने वाली कमी, सामाजिक-आर्थिक हालात और वास्तिवकता पर भी प्रकाश डालेंगे|

01 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
दरबार हॉल

पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ माना गया है| क्या मीडिया के बदलते स्वरुप और नई तकनीकों ने पत्रकारिता के मूल आदर्शों को प्रभावित किया है?

01 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
बैठक

 भारतीय हमेशा से अपने परिवेश और स्वयं को सुगंधित बनाने के प्रति सजग रहे हैं| सुगंधित पौधों की 18,500 किस्मों के साथ, गुलाब के प्रति भव्य रुझान से लेकर ऊद की कस्तूरी तान तक, चंदन के वुडी नोट्स से लेकर चमेली की मादक गंध और वेटिवर की लंबे समय तक रहने वाली सुगंध तक, सुगंध हमारे ह्रदय के चक्र को खोलती है।
लेखक जॉन ज़ुब्रिकी संग संवाद में, लेखिका और पत्रकार दिवृना ढींगरा अपनी नई किताब, परफ्यूम प्रोजेक्ट: जर्नीज़ थ्रू इंडियन फ्रेगरेंस के माध्यम से ‘खुशबु’ पर चर्चा करेंगी, जो यादों और भावनाओं के लिए एक शक्तिशाली ट्रिगर के साथ-साथ आत्म-अभिव्यक्ति और पहचान का एक तरीका भी है|

01 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
जयपुर बुक मार्क

भारतीय भाषा प्रकाशन में लम्बे समय तक सेक्सुअलिटी पर खुलकर बात नहीं हुई| हाल ही में, हिंदी, राजस्थानी और अन्य भाषाओं में सेक्सुअलिटी को अभिव्यक्त किया जाने लगा है| प्रकाशक, लेखक और टिप्पणीकार परिवर्तन की इस लंबे समय से प्रतीक्षित चेतावनी को कैसे देखते हैं?
 

01 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
फ्रंट लॉन

01 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
मुग़ल टेंट

01 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
दरबार हॉल

01 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
बैठक

01 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
जयपुर बुक मार्क

मलयालम पब्लिशिंग कम्पनी डीसी बुक्स ने वर्ष 2023 में अपनी सफलता के 50 साल पूरे किये| कार्तिका वीके के संग संवाद में रवि डीसी इस प्रेरक सफ़र की कहानी सुनाएंगे|
 

01 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
फ्रंट लॉन

कॉमेडियन और अभिनेता कनन गिल का पहला उपन्यास, एक्ट्स ऑफ गॉड, मानव अस्तित्व, विविधता और जीवन के सवालों को एक साथ जोड़ता है। संवाद में गिल अपने चिर-परिचित अंदाज में अपने हास्य और लेखकीय जीवन की झलक देंगे|
 

01 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
मुग़ल टेंट

युद्ध रिपोर्ताज की वास्तविकता के नाम एक सत्र| यह बताता है कि युद्ध की आंतरिक प्रकृति से साहित्य कैसे प्रभावित होता है। पत्रकार और लेखक रोजर कोहेन ने यूक्रेन युद्ध को कवर करते हुए टाइम्स टीमों के साथ पुलित्जर पुरस्कार और जॉर्ज पोल्क पुरस्कार अर्जित किया। वह पहले अफगानिस्तान, इराक, बोस्निया और ईरान जैसे विभिन्न अशांत क्षेत्रों से रिपोर्ट कर चुके हैं। पत्रकार और लेखक अंजन सुंदरम ने मध्य अफ़्रीकी गणराज्य, कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य और रवांडा से रिपोर्ट की है। पत्रकार स्टीफन संग संवाद में वे बताएँगे कि किस तरह से संघर्ष ने उनकी यात्रा और लेखन को प्रभावित किया है।
 
 

01 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
दरबार हॉल

लुईस फाउलर-स्मिथ की नई किताब, सेक्रेड ट्रीज़ ऑफ इंडिया, पारिस्थितिक स्थिरता और पृथ्वी पर जीवन की निरंतरता के लिए वनों की कटाई से उत्पन्न बुनियादी खतरे की जांच करती है। फाउलर-स्मिथ ने भारत में 10 सालों तक कार्य किया है, इसी अनुभव का लाभ उठाते हुए उन्होंने भारत के पवित्र वृक्षों और वृक्ष-पूजा की परंपराओं को दर्ज किया, जो प्रकृति के पश्चिमी पूंजीवादी वस्तुकरण के लिए एक शक्तिशाली विकल्प प्रस्तुत करता है। इस सत्र में, वह एक ऐसी संस्कृति पर चर्चा करेंगी, जिनकी पेड़ों के प्रति श्रद्धा ने उन्हें पारिस्थितिक विनाश को रोकने में मदद की है।

01 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
बैठक

कविताओं को समर्पित एक सत्र, जहाँ विभिन्न भाषाएँ, लय और शैलियाँ अपनी प्रस्तुति देंगी|

शुक्रवार, 2 फ़रवरी

02 Feb | 09:00 AM - 09:40 AM
फ्रंट लॉन

प्रात: संगीत: फिल स्कार्फ

फिल स्कार्फ, प्रियांक कृष्णा और अनूप बनर्जी

प्रस्तुति: ब्लूवन इंक

02 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
फ्रंट लॉन

पुलित्ज़र  पुरस्कार से सम्मानित लेखक, हेर्नन डिआज़ की नई किताब, ट्रस्ट धन के गिर्द बुने मिथक की बात करती है| महामंदी से पहले के वर्षों में वॉल स्ट्रीट बिजनेसमैन और उसकी पत्नी की कहानी के विभिन्न संस्करणों के बाद, उपन्यास आत्म-धोखे के लिए मानवीय कमजोरी को आश्चर्यजनक ढंग से पकड़ता है। वर्ष 2023 के पुलित्ज़र पुरस्कार जीतने वाले इस उपन्यास पर जल्द ही एक टीवी सीरिज बनने वाली है| कला समीक्षक और लेखिका कैटी कितामुरा से संवाद में, डिआज़ ट्रस्ट यानी विश्वास को नैतिक गुण और वित्तीय प्रबंधन की नज़र से देखेंगे|  

02 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
चारबाग

इतिहासकार, लेखक और ब्रॉडकास्टर जेरी ब्रोटों की किताब, द ओरिएंट आइल, मुस्लिम समाज के साथ इंग्लैंड के रिश्ते और उसके व्यापारिक व राजनीतिक प्रभाव की बात करती है| व्यक्तिगत बातचीत के आधार पर इसमें दर्ज कहानियां एक समृद्ध टेपेस्ट्री का हिस्सा हैं, जो अंततः उस समय की भूराजनीति द्वारा निर्देशित थी। इतिहासकार, लेखक और फेस्टिवल के को-डायरेक्टर विलियम डेलरिम्पल के साथ संवाद में, ब्रोटों उन राजनीतिक, सांस्कृतिक और सामाजिक अनिवार्यताओं पर बात करेंगे, जिन्होंने पूर्व और पश्चिम में साझा इतिहास के लिए जमीन तैयार की।

02 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
मुग़ल टेंट

बुद्ध की ख्याति अंधेरे में खड़ी यशोधरा की नींव पर बनती है, वो युवा पत्नी जिसे महल में तन्हा छोड़ दिया गया था| श्याम सेल्वादुरै का विचारोत्तेजक उपन्यास, मेंशन ऑफ़ द मून हमें छठी सदी के भारत में वापस ले जाता है, और यशोधरा की शादी के शुरुआती सालों और पति द्वारा छोड़ दिए जाने की बेचैनी से परिचित कराता है| इसी पर एक दूसरा पहलू वेनेसा आर. सेसों का उपन्यास, यशोधरा: ए नॉवेल प्रस्तुत करता है| इसमें बुद्ध की कहानी को यशोधरा की नज़र से लिखा गया है, और ऐसा करते हुए बौद्ध मठों और संघ में एक छिपी हुई समानता उजागर हो जाती है| उनकी नई किताब, द गैदरिंग: ए स्टोरी ऑफ़ द फर्स्ट बुद्धिस्ट वीमेन है| सत्र में, सेल्वादुरै और सेसों अपने-अपने नजरिये से यशोधरा के जीवन को प्रस्तुत करेंगी| उनसे संवाद करेंगी प्रसिद्ध कवयित्री और लेखिका अरुंधति सुब्रमण्यम|
 

02 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
दरबार हॉल

दो प्रमुख लेखक और पब्लिक इंटेलेक्चुअल, मणिशंकर अय्यर और गुरुचरण दास, अपनी हाल ही में प्रकाशित किताबों पर चर्चा करेंगे| इन किताबों में व्यक्तिगत और राजनीतिक घटनाओं और उनसे होने वाले प्रभाव को वर्णित किया गया है| पूर्व राजनयिक और राजनीतिज्ञ, मणिशंकर अय्यर का संस्मरण, अय्यर’स मेमोयर्स ऑफ ए मेवरिक: द फर्स्ट फिफ्टी इयर्स, और उसकी अगली कड़ी, द राजीव आई न्यु, विदेश सेवा और राजनीति में उनके जीवन के स्पष्ट, विचारशील और मजाकिया विवरण हैं। लेखक, स्तंभकार और प्रॉक्टर एंड गैंबल के पूर्व सीईओ, गुरुचरण दास की हाल ही में प्रकाशित किताब, अनदर सॉर्ट ऑफ फ्रीडम: ए मेमॉयर एक मार्मिक कहानी है, जो हमें विभाजन की अराजकता से लेकर असफल पहले प्यार और अपरंपरागत करियर निर्णयों तक उनके जीवन के उतार-चढ़ाव से रूबरू कराती है। इस मनोरंजक सत्र में, मंदिरा नायर से संवाद में वे अपने जीवन और किताबों पर बात करेंगे|

02 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
जयपुर बुक मार्क

किताबों की मार्केटिंग अब बदल रही है| स्पेशलिस्ट एजेंसी, सोशल मीडिया पर दमदार उपस्थिति और यूट्यूब पर रिव्यू किताब की तरफ ध्यान आकर्षित करने में मदद करते हैं| इस सत्र में विशेषज्ञ बताएंगे कि वो इन बदलावों का सामना कैसे कर रहे हैं|
 

02 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
फ्रंट लॉन

क्या होता है जब किसी किरदार के फैसले पूरे वर्णन को ही बदल देते हैं?
क्या होता है जब किसी एक्शन का डोमिनो इफेक्ट पड़ता है?
 
ऐसे नायकों और साहित्यिक किरदारों को समर्पित एक सत्र, जिनके फैसलों ने पूरी कहानी बदलकर रख दी| जेसीबी प्राइज फॉर लिटरेचर 2023 में शोर्टलिस्टेड किताबों के लेखक और अनुवादक उन आवाज़ों की बात करेंगे, जिनको खुद उन्हें जुबान दी|

02 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
चारबाग

02 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
मुग़ल टेंट

आधी रात को आजादी मिलने के 77 साल बाद, भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक बनकर उभरी है। नीति, व्यापार और वित्त क्षेत्र के दिग्गजों का एक खास पैनल भारत की आर्थिक कहानी की विरासत और विकास का मूल्यांकन करते हुए भारतीय व्यापार और उद्यम के भविष्य पर चर्चा करेगा|

02 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
दरबार हॉल

02 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
बैठक

एक दिलचस्प सत्र जिसमें असम और ओडिशा की प्रमुख आवाज़ें, अनुराधा शर्मा पुजारी और इति सामंता, अपने सांस्कृतिक और साहित्यिक परिवेश पर बात करेंगी| साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित, पत्रकार अनुराधा शर्मा पुजारी समाचार पत्र ‘सैडिन’ और पत्रिका ‘सतसोरी’ की संपादक हैं| उनकी दस किताबें प्रकाशित हुई हैं| उनके उपन्यास, हृदय एक बिग्यपन का असमिया से अनुवाद अरुणी कश्यप ने माई पोयम्स आर नॉट फॉर योर एड कैंपेन के रूप में किया है।
उपन्यासकार, निबंधकार और लघु कथाकार इति सामंता ‘कादंबिनी’ और ‘कुनिकथा’ पत्रिकाओं की संपादक और कादंबिनी मीडिया की निदेशक हैं। उनके उपन्यास, शकुंतला रा जिया का ओडिया से दीप्ति पटनायक द्वारा शकुंतला की बेटी के रूप में अनुवाद किया गया। रचना सिंह के साथ संवाद में, वे अपनी मातृभाषाओं के साथ अपने बहुमुखी साहित्यिक जुड़ाव और अपने काम के स्रोतों पर चर्चा करेंगे|

02 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
जयपुर बुक मार्क

वरिष्ठ फेमिनिस्ट प्रकाशक उर्वशी बुटालिया और ऋतु मेनन अपने इस शानदार सफ़र की कहानी सुनाएंगी| सत्र संचालन करेंगी आर. शिवप्रिया|
 

02 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
फ्रंट लॉन

राजनयिक, लेखक, पब्लिक इंटेलेक्चुअल और अकादमिक गोपालकृष्ण गांधी की नई किताब, आई एम एन ऑर्डिनरी मैन, उनकी पिछली किताब, रेस्टलेस एज मर्करी: माय लाइफ एज ए यंग मैन के आगे की कहानी कहती है| कहानी मोहनदास करमचंद गांधी के भारत लौटने से शुरू होती है – उनकी आशाएं, चुनौतियाँ, जेल का दौरा, परिवार के साथ उनके सम्बन्ध, इत्यादि – और उनके अपने शब्दों में लिखे गए उनके आखरी दिन से ख़त्म होती है| संजॉय के. रॉय के साथ संवाद में, गांधी अपनी किताब से चुनिन्दा अंशों को पढेंगे और वर्तमान में गांधी की प्रासंगिकता पर चर्चा करेंगे|

02 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
चारबाग

02 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
मुग़ल टेंट

एक महत्वपूर्ण सत्र जो शारीरिक और मानसिक विकलांगताओं का सामना करने वाले व्यक्तियों के प्रति इतिहास, कानून और एक विकसित समाज की सामाजिक अपेक्षाओं के ढांचे को नेविगेट करता है। इस चर्चा में, वक्ता विकलांगता से जूझ रहे लोगों और उनकी देखभाल करने वालों के सामने आने वाली चुनौतियों और उनके लिए सुलभ सुविधाओं व सहायता प्रणाली पर बात करेंगे| उनके लिए उपलब्ध सरकारी नीतियों और व्यावहारिक उपायों पर भी चर्चा होगी|

02 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
दरबार हॉल

सत्ता का चेहरा कैसा दिखाई देता है?
कला में किसका स्मरण किया जाता है और क्यों?
और हम उन राजनेताओं के बुत को देखकर क्या सोचते हैं, जिनकी हमने आलोचना की थी?
 
प्रमुख क्लासिकवादी और कल्चरल कमेंटेटर मैरी बियर्ड की हालिया प्रकाशित किताब ट्वेल्व सीज़र्स: इमेजेस ऑफ़ पॉवर फ्रॉम द एन्शियंट वर्ल्ड टू द मॉडर्न, रोमन आर्ट और उसके पश्चिम पर पड़े प्रभाव की बात करती है| प्राचीन शाही कल्पना और आधुनिक दृश्य कल्पना के बीच संबंधों की जांच करते हुए, बियर्ड हमें रोमन सम्राटों, विशेष रूप से 'बारह सीज़र', क्रूर जूलियस सीज़र से लेकर ‘फ्लाई-टॉर्चर’ देने वाले डोमिनिशियन तक की छवियों के माध्यम से उनके आधुनिक महत्व को समझाती हैं। सत्र में, वे बदलती पहचानों और सत्ता के अनिश्चित प्रतिनिधित्व पर बात करेंगी|

02 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
बैठक

02 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
जयपुर बुक मार्क

कोशकार वो अनाम नायक हैं, जिन्होंने भाषा के संसार को विकसित किया| अनुवादक, भाषाविद, पाठक और लेखक उनके ऋणी हैं| आखिर किस चीज ने उन्हें ये असाध्य कार्य करने के लिए प्रेरित किया? इस सत्र में ऐसे ही सवालों पर चर्चा होगी!
 

02 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
फ्रंट लॉन

गुलज़ार साहब सबके चहेते कवि और गीतकार हैं। उनका हास्य, संवेदनशीलता और सहानुभूति पीढ़ियों के दिलों को छू जाती है। यतीन्द्र मिश्र की नई किताब, गुलज़ार साहब हमें उनके जीवन और समय की यात्रा पर ले जाती है। दो दशकों में सावधानीपूर्वक रिकॉर्ड की गई बातचीत पर आधारित, सत्या सरन द्वारा अंग्रेजी में अनुवादित, मिश्र की किताब गुलज़ार साहब की प्रतिभा को एक श्रद्धांजलि है।

02 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
चारबाग

02 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
मुग़ल टेंट

02 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
दरबार हॉल

02 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
बैठक

जंगल इकोसिस्टम की शानदार बड़ी बिल्लियों, जैसे ग्रेट बंगाल टाइगर, ने पीढ़ियों से काल्पनिक और गैर-काल्पनिक दोनों लेखकों को प्रेरित किया है। न्यूज़ एंकर और पर्यावरण पत्रकार गार्गी रावत की नई किताब, टाइगर सीज़न, एक पर्यावरण पत्रकार की बाघ संरक्षण, प्रेम और एडवेंचर का एक काल्पनिक विवरण है। लेखिका, उपन्यासकार और प्रकृति कार्यकर्ता आरेफ़ा तहसीन को राजस्थान सरकार द्वारा उदयपुर जिले का मानद वन्यजीव वार्डन नियुक्त किया गया था और उन्होंने अपनी किताबों और लेखों के माध्यम से प्रकृति संरक्षण को आगे बढ़ाया है। सत्र में, वे बाघ की कहानियों के रहस्य और राजस्थान में संरक्षण प्रयासों पर चर्चा करेंगे।

02 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
फ्रंट लॉन

अमूर नदी रूस और चीन के बीच अत्यधिक विवादित सीमा बनाती है। यह पृथ्वी पर सबसे घनी किलेबंद सीमा है और दोनों देशों के इतिहास के साथ-साथ उनके अनूठे संबंधों का भी प्रतिनिधित्व करती है। यात्रा लेखन के लिए पुरस्कृत कॉलिन थुब्रों ने अपनी लोकप्रिय किताब, अमूर रिवर: बिटवीन रशिया एंड चाइना में अमूर की नाटकीय यात्रा का वर्णन किया है| किताब में इसके गुप्त स्रोत से लेकर लगभग 3,000 मील के विस्तार तक का सफ़र है। इतिहासकार और लेखक पीटर फ्रैंकोपैन के साथ संवाद में थुब्रों विविध लोगों, जलवायु और इलाकों के बीच से गुजरने वाली इस नदी के तत्काल इतिहास और वैश्विक भू-राजनीति पर इसके प्रभाव की पड़ताल करेंगे|


 

02 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
चारबाग

बेस्टसेलिंग इतिहासकार बेन मकिन्त्रे की नई नॉन-फिक्शन किताब, कोल्दित्ज़: प्रिज्नर्स ऑफ़ कैसल इतिहास की सबसे बदनाम जेल की सच्ची कहानी है| द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान मित्र देशों के अधिकारियों के लिए युद्ध शिविर की जेल के रूप में कोल्डिट्ज़ को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनामी मिली| द्वितीय विश्व युद्ध के समय पर आधारित, मकिन्त्रे की किताब जेल और उसके भीतर कैद विश्व बंदियों और उनके रोमांचक पलायन की जीवनी प्रस्तुत करती है। लेखिका नारायणी बसु के साथ बातचीत में, मकिन्त्रे हमें जर्मन जेल की दीवारों के भीतर वास्तविक जीवन की जासूसी के बारे में गहराई से बताते हैं।    

02 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
मुग़ल टेंट

पत्रकार चार्ल्स ग्लास की नई किताब, सोल्जर्स डोंट गो मैड, युद्ध के दो महान कवियों, सेजफ्राइड सेसून और विलफ्रेड ओवेन की दोस्ती और प्रथम विश्वयुद्ध के उन पर पड़े प्रभाव की बात करती है| वे एक दूसरे से भाईचारे, कविता और मानसिक बीमारी की वजह से जुड़े थे, ये कहानी उन सैनिकों और डॉक्टर के संघर्ष को बयां करती है, जो उस दौर की मानसिकता को झेलते हैं| लेखक और पत्रकार मुकुंद पद्मनाभन संग संवाद में ग्लास भयानक युद्ध की पृष्ठभूमि में कला के माध्यम से उत्पन्न सकारात्मक प्रभाव की बात करेंगे|
 

02 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
दरबार हॉल

समाज के विकास के साथ सीखने की प्रणालियाँ भी विकसित होनी चाहिएं; एजुकेशन और इन्नोवेशन बदलती वास्तविकताओं और प्रतीक्षारत चुनौतियों के लिए बहुत ज़रूरी हैं। इस सत्र में विशेषज्ञ शिक्षा के बदलते आयामों में शिक्षा के भविष्य और इसे व्यापक सामाजिक कल्याण और सार्वजनिक भलाई से जोड़ने पर बात करेंगे|

प्रोफेसर चार्ली जेफ़री यॉर्क यूनिवर्सिटी के वाईस-चांसलर और प्रेजिडेंट हैं। उनका मानना है कि शिक्षा सामाजिक और आर्थिक कल्याण प्रदान कर सकती है। आर्ची कॉमिक्स की को-सीईओ, नैन्सी सिल्बरक्लीट ने उन तरीकों पर बड़े पैमाने पर काम किया है, जिनके माध्यम से ग्राफिक उपन्यासों को बच्चों की शिक्षा के लिए उपयोग में लाया जा सकता है। अकादमिक और लेखिका सीतल कलंत्री सिएटल यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ लॉ में एसोसिएट डीन हैं। प्रियांक नारायण एक अनुभवी उद्यमी और शिक्षाविद् हैं। वह IndiaPreneurship के संस्थापक हैं, जो भारत में उद्यमशीलता के अवसरों को दुनिया के सामने प्रदर्शित करने पर केंद्रित संगठन है।

इनसे संवाद करेंगे संजॉय के. रॉय|

02 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
बैठक

कलकत्ता में जन्मी, फ्रेंच लेखिका शुमोना सिन्हा की कृति, एसोमन्स लेस पॉवर्स! फ्रांस के आधुनिक शरणार्थी संकट पर एक बहुस्तरीय नज़र डालती है। टेरेसा लैवेंडर फगन द्वारा इसका अंग्रेजी अनुवाद है, डाउन विद द पुअर! यह किताब एक महिला की परिस्थितियों और क्रोध को समझने का प्रयास करती है, जो एक रात, पेरिस मेट्रो में एक शरणार्थी पर हमला करती है। इस कहानी को कई पुरस्कार प्राप्त हुए, और जर्मनी व ऑस्ट्रेलिया में इसको थिएटर में भी प्रदर्शित किया गया| अनुवादक और लेखक अरुनाव सिन्हा के साथ बातचीत में, वह अपनी कहानी के राजनीतिक पहलुओं और हिंसा को समझाने का प्रयास करेंगी।

02 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
जयपुर बुक मार्क

पॉडकास्ट आवाज़ और पाठ के बीच अनोखा सम्बन्ध बनाता है| बेहतरीन क्वालिटी के पॉडकास्ट श्रोताओं के साथ एक आत्मीय रिश्ता बनाने में कामयाब होते हैं| कैसे पॉडकास्ट श्रोताओं को पाठक में बदल रहे हैं? इस सत्र में इस पर चर्चा होगी| 
 

02 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
फ्रंट लॉन

पहला उपन्यास हमेशा सबसे कठिन होता है| तीन डब्यू लेखक साहित्यिक समीक्षक मेर्वे एमरे से संवाद में अपनी लेखन प्रक्रिया के विषय में बताएँगे|

02 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट

भारत अनेक विरोधाभासों का देश है। दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था और बढ़ती तकनीकी प्रगति के बीच संतुलन बनाते हुए, हम ऐसी गरीबी भी देखते हैं, जहां जनता जीवित रहने के लिए संघर्ष कर रही है। इस सत्र में समावेशी विकास और वृद्धि की दिशा में नीति और रणनीतियों का मूल्यांकन किया जाएगा| भारत के योजना आयोग के पूर्व सदस्य और लेखक अरुण मायरा ने इस विषय पर विस्तार से लिखा है। उनकी नई किताब, शेपिंग द फ्यूचर: ए गाइड फॉर सिस्टम लीडर्स, ‘सिस्टम बीइंग’, ‘सिस्टम थिंकिंग’ और ‘सिस्टम एक्टिंग’ के तीन विषयों का अनुसरण करती है, जो भविष्य के नेताओं के लिए एक रूपरेखा प्रस्तुत करती है। पद्म विभूषण से सम्मानित रघुनाथ माशेलकर उदारीकरण के बाद के भारत में विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार नीतियों को आकार देने में एक प्रभावशाली विचारक रहे हैं। फोर्ब्स मार्शल के सह-अध्यक्ष और द स्ट्रगल एंड द प्रॉमिस: रिस्टोरिंग इंडियाज पोटेंशियल के लेखक नौशाद फोर्ब्स के साथ संवाद में, वे भारत के भविष्य के लिए एक वैचारिक रोडमैप प्रस्तुत करते हैं, जो इसकी विविध सामाजिक, आर्थिक और सांस्कृतिक आवश्यकताओं के अनुकूल है।

02 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
दरबार हॉल

 दो प्रतिबद्ध लेखक अपनी नई किताबों पर चर्चा करेंगे| वो किताबें जो मतभेद, निराशा और आशा की तलाश पर आधारित हैं| प्रमुख राजनीति विचारक और बहु-संस्कृति और गैर-पश्चिमी समाज में धर्मनिरपेक्षता के विद्वान्, राजीव भार्गव, अपनी नई किताब, रिइमेजनिंग इंडियन सेक्युलरिज्म में विरोधियों द्वारा भारतीय धर्मनिरपेक्षता के दुरुपयोग और जानबूझकर की गई विकृति पर सवाल उठाते हैं। इससे पहले उनके लेखों का संकलन, बिटवीन होप एंड डेस्पेयर, भारत की सामूहिक नैतिक पहचान पर प्रासंगिक सवाल उठाते हुए, एक समावेशी, बहुलवादी भारत के विचार की तलाश करता है| प्रमुख राजनीति अर्थशास्त्री और सामाजिक कमेंटेटर परकाला प्रभाकर की नई किताब, क्रूकेड टिम्बर ऑफ़ न्यू इंडिया, धार्मिक बहुलवाद के उदय में ‘नये भारत’ की पड़ताल करती है| इन दोनों से संवाद करेंगे मोहित सत्यानंद|       

02 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
बैठक

एक समतापूर्ण सामाजिक, सांस्कृतिक और आर्थिक वातावरण, जो महिलाओं को समान अवसर प्रदान करने में मदद करता है| यह एक न्यायपूर्ण और प्रगतिशील समाज के लिए आवश्यक है। सत्र में वक्ता चर्चा करेंगे कि महिलाओं की निर्णय लेने की शक्तियों को कैसे विकसित किया जाए और पुरुषों और महिलाओं के लिए एक समतावादी मंच कैसे प्रदान किया जाए।
 

02 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
जयपुर बुक मार्क

जहाँ पाठक अब दूसरी संस्कृति, दूसरे देश के साहित्य के प्रति आकर्षित हो रहे हैं, तो अनुवाद का क्षेत्र भी विस्तृत होता जा रहा है| भाषा विशेषज्ञों का एक पैनल भाषाई और सांस्कृतिक सीमाओं को पार करने वाली पुस्तकों की पहुंच और प्रभाव पर चर्चा करेगा|
 

02 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
फ्रंट लॉन

एक ज़रूरी सत्र जो दुनिया और उसमें भारत के स्थान पर नजर डालता है। एक संस्कृति के रूप में, भारत ने सदियों के आक्रमणों, प्रवासन और सामाजिक परिवर्तन के बावजूद अपनी मूल पहचान बरकरार रखी है। इस निरंतरता के पीछे मूल तत्व क्या है और वे कौन से कारक हैं जिन्होंने इसे पोषित किया है। मनमोहन वैद्य राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह और वी एंड द वर्ल्ड अराउंड के लेखक हैं। बद्री नारायण साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता कवि, निबंधकार और स्कूल ऑफ सोशल साइंसेज, जेएनयू में प्रोफेसर हैं और उत्तरी भारत की राजनीतिक समझ और निर्माण पर काम करते हैं। लेखक, राजनीतिज्ञ और पूर्व राजनयिक पवन के. वर्मा ने भारत और भारतीय सभ्यतागत मूल्यों पर विस्तार से लिखा है। पत्रकार मंदिरा नायर के साथ संवाद में, वे भारत के विचार और बदलती दुनिया में इसके स्थान पर चर्चा करेंगे।

02 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
मुग़ल टेंट

विविध सभ्यताओं और संस्कृतियों में व्याप्त नारीवाद के प्राचीन और नवीन, दोनों ही रूपों ने शायद महिला आंदोलन को अधिक लचीलापन प्रदान किया है। महिला अधिकार, अंतरविरोधी नारीवाद, जातीय हाशिये, सामाजिक पदानुक्रम और आर्थिक अभाव जैसे मुद्दे कई रूप लेते हैं और उनकी बहुलता को समझना होगा। इस सत्र में विश्व प्रसिद्ध लेखक और कार्यकर्ता तात्कालिक संदर्भों और समानता व न्याय की व्यापक खोज पर बात करेंगे|

02 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
दरबार हॉल

भारतीय फैशन की विरासत अतीत और वर्तमान, परंपरा और आधुनिकता के तत्वों को साथ लेकर चलती है| फैशन डिजाइनर तरुण ताहिलियानी के डिजाइंस में ये साफ़ झलकता है, जिसमें वैश्वीकरण और उपनिवेशीकरण के प्रभाव से लेकर लंबे समय से भूली हुई तकनीकों के पुनरुद्धार तक शामिल हैं। इन्वेस्टीगेटिव जर्नलिस्ट आलिया अल्लाना के साथ लिखी गई उनकी किताब, जर्नी टू इंडिया मॉडर्न, इस पर विस्तार से बात करती है। लेखिका शिवानी सिब्बल के साथ संवाद में, ताहिलियानी फैशन में अपने अन्वेषणों और उन सवालों के बारे में जानकारी साझा करेंगे, जो वह अपने डिजाइनों के माध्यम से उठाना चाहते हैं।   

02 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
बैठक

दो शानदार लेखक शब्द और कल्पना की दुनिया में गोता लगाएंगे| अंजुम हसन का नया उपन्यास, हिस्ट्री’स एंजेल, भारत के इतिहास से एक सौम्य स्कूल शिक्षक की यात्रा का वर्णन करता है जब मुसलमानों को या तो असहाय पीड़ितों या जीवित खतरों के रूप में देखा जाता है। यह मार्मिक कथा चुटीलता से विचारों की शक्ति और बहुसंख्यकवाद के खतरे पर प्रकाश डालती है। तानिया जेम्स का उपन्यास, लूट इतिहास की कहानी है, जो साम्राज्य और महत्वाकांक्षा की थाह का पता लगाती है। कहानी एक युवा लकड़हारे के सफ़र से शुरू होती है, क्योंकि उसकी कला टीपू सुल्तान का ध्यान आकर्षित करती है - उसकी यात्रा भारत और यूरोप में युद्ध से तबाह हुए राष्ट्रों और राजवंशों के परिवर्तन को दर्शाती है। सत्र संचालन करेंगे अनीश गावंडे|

02 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
जयपुर बुक मार्क

जब एआई जीवन के विभिन्न पहलुओं में घुस गई है, तब पब्लिशिंग भी इससे अछूता नहीं रहा है| एआई के एडिटिंग, ट्रांसलेशन और ऑडियोबुक्स के क्षेत्र में घुसपैठ के बाद का भविष्य क्या होगा? एआई लीगल कॉन्ट्रैक्ट पर क्या असर डालेगी? इस सत्र में इस नये क्षेत्र पर चर्चा होगी|
 

02 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
फ्रंट लॉन

02 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
मुग़ल टेंट

02 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
दरबार हॉल

02 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
बैठक

इस सत्र में काव्य और महाकाव्य ग्रंथों के अनुवाद में संस्कृत, हिंदी, अवधी, ब्रज भाषा और स्पेनिश पर बात होगी| प्रतिष्ठित विद्वान ऑस्कर पुजोल ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में संस्कृत का अध्ययन किया। उन्होंने पहला संस्कृत-कातालान शब्दकोश भी लिखा है। भगवद्गीता का उनका स्पेनिश अनुवाद 2023 में प्रकाशित हुआ था।
मृदुल कीर्ति ने संस्कृत में लिखे सामवेद और अष्टावक्र गीता जैसे अत्यधिक सम्मानजनक हिंदू धर्मग्रंथों का हिंदी और बृज भाषा में अनुवाद किया है। इनसे संवाद करेंगी प्रकाशक अदिति माहेश्वरी गोयल|
 

02 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
फ्रंट लॉन

02 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
मुग़ल टेंट

लोकप्रिय लेखिका और पत्रकार मृणाल पांडे का उपन्यास, सहेला रे हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत के गुमनामी में घिरते घरानों की कहानी कहता है, उनके अपने शब्दों में, "एक खोए हुए सौंदर्य शास्त्र, एक कला रूप, एक जीवन शैली का अंतिम रोना"। उपन्यास की नायिका, विद्या, उस समय की कहानियों और परंपराओं को उजागर करने के लिए पुराने पत्र, तस्वीरें और ग्रामोफोन रिकॉर्ड एकत्र करती है, जब संगीत की प्रथा की तुलना पवित्र पूजा से की जाती थी। 
लेखक, स्तंभकार और कल्चरल आइकन यतीन्द्र मिश्र ने भारतीय संगीत की विरासत पर बड़े पैमाने पर काम किया है। उनकी किताबों में लता मंगेशकर और बेगम अख्तर की जीवनियां शामिल हैं। अकादमिक और लेखिका कैथरीन स्कोफिल्ड के साथ संवाद में मृणाल और यतीन्द्र संगीत के इतिहास और स्मृति, कलाकारों के जीवन के अनकहे कोड, और भारतीय विरासत के बीच संबंधों पर बात करेंगे|

02 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
दरबार हॉल

तीन प्रमुख भारतीय कवि अपने काम, प्रेरणा, मीटर और सुर पर चर्चा करेंगे| नवीन किशोर के नए काव्य संग्रह मदर म्यूज़ क्विंट में सम्मोहक छंद, जन्म देने वाली मां और मातृभाषा के लिए संवेदना, यादों और सपनों की गहराई से कोहरे की तरह उभरते हैं| रंजीत होसकोटे का आठवां कविता संग्रह, आइसलाइट दुस्साहसी अन्वेषण और चिंतनशील वापसी के बीच से गुजरता है क्योंकि यह खोई हुई दुनिया और रिश्तों को संग्रहीत करता है, और अतीत, वर्तमान और भविष्य के मार्मिक संस्करणों को संकलित करता है। अरुंधति सुब्रमण्यम का हालिया संकलन वाइल्ड वुमेन: सीकर्स, प्रोटागोनिस्ट्स, एंड गॉडेसेस इन सेक्रेड इंडियन पोएट्री भारतीय उपमहाद्वीप में महिलाओं की, उनके द्वारा और उनके लिए भयावह आवाजों को एक साथ बुनता है और हमें महिला शक्ति की एक विस्फोटक विरासत को पुनः प्राप्त करने के लिए आमंत्रित करता है। कविता के इस सुरीले सत्र का संचालन अनीशा लालवानी करेंगी|

02 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
बैठक

 लेखक जॉन बॉयने की नई किताब, ऑल द ब्रोकन प्लेसेस  उनकी बेस्टसेलिंग किताब, द बॉय इन द स्ट्राइप्ड पजामा का दूसरा भाग है| यह एक महिला की मार्मिक कहानी है, जिसे अपने अतीत के अपराधों और एक ऐसे वर्तमान का सामना करना पड़ता है, जिसमें साहस और मुक्ति के लिए कभी देर नहीं होती है। साहित्यिक आलोचक और लेखक मेर्वे एमरे के साथ संवाद में, बॉयने अतीत की त्रासदियों और भविष्य पर पड़ने वाली अपरिहार्य छायाओं पर चर्चा करेंगे।
 

02 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
जयपुर बुक मार्क

चाहे यादों को सहेजना हो या विभिन्न भाषाओं की ध्वनियों को जीवित रखना हो, रचनात्मकता का जोश विभिन्न देशों के प्रतिबद्ध प्रकाशकों को काम करने के लिए प्रेरित करता है| मॉरीशस और तिब्बत जैसे विविध देशों से आने वाले प्रकाशक इस सत्र में अपनी बात रखेंगे|

शनिवार, 3 फ़रवरी

03 Feb | 09:00 AM - 09:40 AM
फ्रंट लॉन

प्रात: संगीत: The Trio One World

03 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
फ्रंट लॉन

पुलित्ज़र पुरस्कार विजेता केय बर्ड अपने लेखन और साहित्यिक सफ़र पर बात करते हैं| स्वर्गीय मार्टिन जे.शेर्विन बर्ड के साथ लिखी उनकी किताब अमेरिकन प्रोमिथेउस: द ट्राइंफ एंड ट्रेजेडी ऑफ़ जे. रोबर्ट ओपेन्हाईमर, जिसने क्रिस्टोफर नोलन को ओपेन्हाईमर फिल्म बनाने के लिए प्रेरित किया| बर्ड को संयुक्त राज्य अमेरिका-मध्य पूर्व के राजनीतिक संबंधों और जिमी कार्टर जैसी राजनीतिक हस्तियों की जीवनियों के लिए भी जाना जाता है।

03 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
चारबाग

लेखक, स्तंभकार और पटकथा लेखक आनंद नीलकंठन कहते हैं, "हर रामायण अलग है, हर महाभारत अलग है।" भारतीय महाकाव्यों को उनके विरोधियों के नजरिए से याद करते हुए, उन्होंने कहानियों की अद्भुत व्याख्याएं गढ़ीं, जो अपार संभावनाओं और अटूट पुनर्कथन की दुनिया को उजागर करती हैं। नीलकंठन लोकप्रिय कहानीकार हैं, जिन्होंने प्रसिद्ध बाहुबली त्रयी सहित तेरह किताबें लिखी हैं| उनके लेखन में उपन्यास, टेलीविजन शो, ऑडियो पुस्तकें और फिल्में शामिल हैं। इस सत्र में, नीलकंठन, नेशनल बेस्टसेलर, महागाथा - 100 टेल्स फ्रॉम द पुराण के लेखक सत्यार्थ नायक के साथ संवाद में मिथकों की अदम्य शक्ति और उनके भीतर मौजूद कहानियों पर चर्चा करेंगे|

03 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
मुग़ल टेंट

अमिताभ कांत, मुकेश बंसल और नीलकंठ मिश्रा हमारे प्लेनेट और ब्रह्मांड में हमारे स्थान को संवारने के सामयिक विषय का पता लगाएंगे। जैसे-जैसे भारत प्लेनेटरी सिस्टम और उससे आगे का पता लगाने की दिशा में आगे बढ़ रहा है, एक प्रजाति के रूप में हमारी दृष्टि का विस्तार हो रहा है और हमारे क्षितिज व्यापक हो रहे हैं। यहां तक कि जैसे ही 'एक विश्व' की चेतना उभरती है, लालच और अहंकार दुनिया को विभाजित करता है, उद्यमी, लेखक, टेक्नोक्रेट और भविष्य के स्पेस प्रोफेशनल बढ़ते स्पेस इकोसिस्टम के भीतर वैश्विक अर्थव्यवस्था की रोमांचक क्षमता का पता लगाते हैं। इस सत्र में हमारी बदलती दुनिया पर बात होगी|
 

03 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
दरबार हॉल

हमारे देश के सबसे महान और मॉडर्न आर्टिस्ट, राजा रवि वर्मा के नाम के सत्र| गणेश वी.शिवास्वामी के छह वॉल्यूम की सीरीज में से दूसरी किताब, राजा रवि वर्मा: एन एवरलास्टिंग इंप्रिंट कलाकार के जीवन, शैली और कला पर पड़ी उनकी अमिट छाप की बात करती है| सत्र संचालन असद लालजी करेंगे|   
 

03 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
बैठक

पठन और पाठन पर एक शक्तिशाली सत्र, जो स्वदेशी साहित्य की मौखिक परंपरा के भीतर असाधारण काव्य प्रतिभा को मंच प्रदान करता है।
 

03 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
जयपुर बुक मार्क

बुकस्टोर का दौरा आपके लिए एक जादुई दुनिया का दरवाज़ा खोल देता है| बुकस्टोर के जादूगर क्युरेशन और डिस्प्ले की कला पर बात करेंगे| इस सत्र में पुस्तक विक्रेता बतायेंगे कि कैसे पाठकों का दायरा बढ़ाया जा सकता है| 
 

03 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
फ्रंट लॉन

03 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
चारबाग

 इतिहासकार और पुरातत्ववेत्ता जोसफिन कुइन की नई किताब, हाउ द वर्ल्ड मेड द वेस्ट, पश्चिम के बनने की कहानी है, जो 4000 सालों के इतिहास को कवर करती है| इतिहास के भीतर 'सभ्यताओं' के विचार पर सवाल उठाते हुए, कुइन एक दिलचस्प विचार प्रस्तुत करती हैं कि कैसे विशिष्ट और अलग-थलग सभ्यताओं के बजाय संपर्क और संबंध थे, जिन्होंने ऐतिहासिक परिवर्तन को प्रेरित किया। इतिहासकार और लेखक पीटर फ्रैंकोपैन और क्लासिकिस्ट और लेखिका मैरी बियर्ड के साथ संवाद में, कुइन ने 'पश्चिम' के विचार और समय में खो गए साझा इतिहास पर चर्चा करेंगी|
 

03 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
मुग़ल टेंट

मॉडर्न लव का परिदृश्य बदल गया है, हमारे समय के अनुरूप ढल रहा है और विकसित हो रहा है। इस सत्र में वक्ता रोमांस, इच्छा और प्रतिबद्धता के बदलते स्वरुप पर बात करेंगे| स्तंभकार और लेखिका सीमा गोस्वामी का लोकप्रिय स्तंभ 'स्पेक्टेटर' समकालीन जीवन और समाज को प्रस्तुत करता है। लेखिका शिवानी सिब्बल का पहला उपन्यास, इक्वेशन पारिवारिक, सामाजिक परिवर्तन और वर्ग विभाजन पर केंद्रित है। लेखक और अनुवादक अनीश गावंडे पिंक लिस्ट इंडिया के क्यूरेटर हैं -- LGBTQIA+ अधिकारों का समर्थन करने वाले भारतीय राजनेताओं का एक संग्रह। मारिया गोरेटी के साथ संवाद में वे हलचल और बदलाव की दुनिया में प्यार के स्वरुप पर चर्चा करेंगे|
 

03 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
दरबार हॉल

किताबों को जलाया जा सकता है, प्रतिबंधित किया जा सकता है, उन्हें खतरनाक बताया का सकता है, लेकिन उनमें व्यक्त विचारों को दबाया नहीं जा सकता| मृदुला गर्ग साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित एक प्रतिष्ठित और विपुल हिंदी लेखिका हैं। उनके उपन्यास चित्तकोबरा को अश्लील करार दिया गया और उनकी गिरफ्तारी हुई। कल्पना रैना विभिन्न भाषाओं में अनुवाद की संरक्षक हैं और उन्होंने हाल ही में स्वर्गीय हरि कृष्ण कौल की कहानियों, फॉर नाउ इट इज़ नाइट का सह-अनुवाद किया है। पूर्व राजनयिक नवदीप सूरी ने अपने दादा नानक सिंह के शब्दों का अनुवाद किया है, जिनकी कविताओं, खूनी वैसाखी और ज़ख्मी दिल को जलियांवाला बाग और गुरु का बाग मोर्चा के बाद प्रतिबंधित कर दिया गया था। मेर्वे एमरे वेस्लीयन यूनिवर्सिटी में क्रिएटिव राइटिंग और आलोचना के प्रोफेसर हैं| उपन्यासकार और स्तंभकार नीलांजना एस. रॉय ‘अवर फ्रीडम्स’ की संपादक हैं और उन्होंने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर विस्तार से लिखा है। एक महत्वपूर्ण सत्र में, ये सभी वक्ता उन किताबों पर बात करेंगे, जिन्हें दबा दिया गया और खामोश कर दिया गया, और वे कैसे विस्मृति और सेंसरशिप से बची रहीं।
 

03 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
बैठक

हिंद महासागर के आसपास के क्षेत्र द्वीप देशों की प्राचीन परंपराओं और उनकी संस्कृतियों के माध्यम से जुड़े हुए हैं। यह सत्र उन देशों की विविध आवाज़ों को एक साथ लाता है जो अपनी भाषाई, साहित्यिक और काव्यात्मक पहचान में समुद्री अनुभव की एक साझा विरासत साझा करते हैं। अनिता औजायेब मॉरीशस की कवयित्री, इतिहासकार और बहुभाषी शिक्षिका हैं। बहुभाषी इब्राहिम वहीद मालदीव के लेखक, कवि, अकादमिक और टेलीविजन शो होस्ट हैं। श्याम सेल्वादुरई, श्रीलंका के एक प्रशंसित उपन्यासकार हैं। भारतीय कवि और राजनयिक अभय के. की लम्बी कविता, मानसून हिंद महासागर के द्वीपों और भारतीय उपमहाद्वीप की जैव विविधता, भोजन और विरासत को एक काव्य सूत्र में पिरोती है।
 

03 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
जयपुर बुक मार्क

एजुकेशनल पब्लिशिंग भारत में बुक इंडस्ट्री की सबसे बड़ी सपोर्ट बनी रही है| इंडिया के प्रमुख प्रकाशक नई शिक्षा नीति के प्रकाश में इस पर संवाद करेंगे| वे उन साझा हितों पर भी चर्चा करेंगे जो शैक्षिक और ट्रेड प्रकाशकों को जोड़े रखते हैं|
 

03 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
फ्रंट लॉन

एक सत्र न्याय के विचार के नाम|
उड़ीसा हाईकोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति एस. मुरलीधर ने लगभग दो दशकों तक भारत के सर्वोच्च न्यायालय और दिल्ली उच्च न्यायालय में वकालत की है। न्यायमूर्ति मदन बी. लोकुर वर्तमान में फिजी के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश हैं, उन्हें भारत का अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल नियुक्त किया गया था, और वह दिल्ली उच्च न्यायालय में न्यायाधीश और भारत के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश भी रहे हैं। सीतल कलंत्री और अपर्णा चंद्रा की सह-लिखित पुस्तक, कोर्ट ऑन ट्रायल: ए डेटा-ड्रिवेन अकाउंट ऑफ द सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया, सुप्रीम कोर्ट और इसकी प्रक्रियाओं के सामने आने वाली चुनौतियों और परीक्षणों का निरीक्षण करती है| यह किताब सर्वोच्च न्यायालय का एक सिंहावलोकन प्रदान करती है और इसकी प्रभावशीलता में सुधार के लिए डेटा-संचालित सुझाव प्रस्तुत करती है। सर्वोच्च न्यायालय का समग्र विवरण प्रदान करने के लिए एक शानदार पैनल अतीत, वर्तमान और भविष्य के संदर्भ में संवाद करेगा|
 

03 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
चारबाग

03 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
मुग़ल टेंट

03 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
दरबार हॉल

पुरस्कृत जीवनीकार निकोलस शेक्सपियर की नई किताब, इयान फ्लेमिंग: द कम्प्लीट मैन, हमें जेम्स बॉन्ड के पीछे के व्यक्ति और उनकी स्थायी विरासत का प्रस्तुत करती है। बॉन्ड मर्दानगी, ब्रिटिश राष्ट्रीय मानस और वैश्विक राजनीति के विचारों के बारे में जो दर्शाता है उसका विकास समय के साथ बदल गया है, जैसा कि उनके लेखक के जीवन की व्याख्या में हुआ है। हालाँकि, फ्लेमिंग स्वयं अपने द्वारा लिखी गई किसी भी चीज़ से अधिक रहस्यमय और सूक्ष्म थे। इतिहासकार और लेखक मैथ्यू पार्कर की पुस्तक गोल्डनआई: व्हेयर बॉन्ड वाज़ बॉर्न, जमैका के गोल्डनआई में फ्लेमिंग के प्रवास की एक अंतरंग झलक प्रदान करती है, वह स्थान जहां बॉन्डवर्स साकार हुआ था। साथ में, वे 007 के पीछे वाले व्यक्ति को श्रद्धांजलि देते हैं।
 

03 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
बैठक

नाइजीरियाई-अंग्रेजी मूल की डायना इवांस और मलेशिया में पैदा और पली-बढ़ीं आइवी नगियो, दोनों लंदन में रहती हैं और मिश्रित-नस्लीय के लेंस के माध्यम से शहरी मध्यवर्ग की कहानियाँ सुनाती हैं। 2008 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में बराक ओबामा की ऐतिहासिक जीत की पृष्ठभूमि में, दक्षिण लंदन में स्थापित, इवांस का तीसरा उपन्यास, ऑर्डिनरी पीपल दो कपल्स की कहानी है, जो मिडलाइफ रिलेशन क्राइसिस से निपटने के दौरान खुद को एक महत्वपूर्ण क्षण में पाते हैं। आइवी नगियो का नया उपन्यास, द अमेरिकन बॉयफ्रेंड, एक रोमांचक कहानी है कि कैसे साउथवार्क में एक बेकार नौकरी करने वाली सिंगल मदर फोएबे अपने दो साल के बच्चे के साथ अपने बॉयफ्रेंड से मिलने फ्लोरिडा जाती है और खुद को मुसीबत में डाल लेती है। अकादमिक वेइओ पोउ के साथ संवाद में ये दोनों लेखिकाएं अपनी किताबों, लेखकीय अनुभव और उनकी मिश्रित सांस्कृतिक पहचानों पर चर्चा करेंगी|
 

03 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
जयपुर बुक मार्क

भारतीय भाषा प्रकाशन में बहुत तेजी से चीजें बदल रही हैं| कौन सी पुस्तकें अधिक लोकप्रिय हो रही हैं? इस सत्र में तमिल, मलयालम, तेलुगु, हिंदी, बांग्ला और पंजाबी प्रकाशकों की विविध दुनिया पर बात होगी|
 

03 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
फ्रंट लॉन

लेखक देवदत्त पट्टनायक की नई किताब, बाहुबली: 63 इनसाइट्स इनटू जैनिज़्म भारत के सबसे प्राचीन धर्मों में से एक की कहानियां, प्रतीक, रिवाज और विचारों को पेश करती है| दर्शनशास्त्र से ओत-प्रोत और चित्रों से सुसज्जित, यह किताब उन तीर्थंकरों की यात्राओं का वर्णन करती है, जो आदर्श प्राणी माने जाते थे, जो आस्था के कम-ज्ञात सिद्धांतों की जांच करते हुए मानवता को सत्य और मुक्ति का मार्ग दिखाते थे। इस सत्र में ये प्रसिद्ध कहानीकार धर्म और अध्यात्म की कई अनकही कहानियां प्रस्तुत करेंगे|
 

03 Feb | 1:00 PM - 1:50 PM
चारबाग

 भारत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों का एक संघ है, और केंद्र और राज्यों के बीच संबंध महत्वपूर्ण हैं। इस रिश्ते की व्याख्या अलग-अलग दृष्टिकोणों और अक्सर विवादास्पद रूप से की जाती है। राजनीतिज्ञ और लेखक शशि थरूर सहित एक प्रतिष्ठित पैनल; भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त नवीन चावला; और राजस्थान की पूर्व राज्यपाल मार्गरेट अल्वा इस विषय पर लेखक और अकादमिक वर्गीस के. जॉर्ज से संवाद करेंगे|

03 Feb | 1:00 PM - 1:50 PM
मुग़ल टेंट

03 Feb | 1:00 PM - 1:50 PM
दरबार हॉल

03 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
बैठक

03 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
फ्रंट लॉन

03 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
चारबाग

उपन्यासकार और पटकथाकार डेमो गल्गुट के द प्रॉमिस को 2021 में बुकर प्राइज से सम्मानित किया गया था| यह रंगभेद के बाद दक्षिण अफ्रीका की पृष्ठभूमि में, रिश्तों में पॉवर के खेल को दर्शाता है। एक श्वेत परिवार, बदलते समाज से परेशान होकर, एक खेत और एक विलंबित वादे को लेकर झगड़ता है। हिंसक अतीत, उथल-पुथल भरे राजनीतिक माहौल, बदलते समाज से जूझते साउथ अफ्रीका की पृष्ठभूमि में, गल्गुट ने संबंधों में संघर्ष की कहानी बुनी है| गल्गुट की अन्य किताबें हैं: ए सिनलेस सीजन, द गुड डॉक्टर और आर्कटिक समर | सत्र संचालन करेंगे अनीश गावंडे|
 

03 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
मुग़ल टेंट

एक दिलचस्प सत्र जो तीन लेखकों की नज़र से महान युद्ध में उपमहाद्वीपीय भागीदारी के पहलुओं पर विचार करेगा|
मुकुंद पद्मनाभन की किताब, द ग्रेट फ्लैप ऑफ़ 1942 द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान भारत में जापानी खतरे के कारण उत्पन्न घबराहट का वर्णन करती है। म्होंलुमो किकों द्वारा रचित हिज मेजेस्टीज़ हेडहंटर कोहिमा की महाकाव्य घेराबंदी पर एक आंतरिक परिप्रेक्ष्य प्रदान करती है। विष्णु सोम के साथ संवाद में वे सैन्य इतिहास के विभिन्न पहलुओं और प्रभावों व परिणामों पर चर्चा करेंगे।
 

03 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
दरबार हॉल

1948 में इज़राइल राज्य का निर्माण यहूदी लोगों के इतिहास में एक गौरवशाली क्षण था; हालाँकि, भूमि के फ़िलिस्तीनी निवासियों के लिए, विकास एक आपदा था। कई क्षेत्रीय युद्धों और दशकों के संघर्ष के बाद, अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा समर्थित ‘टू स्टेट सलूशन’ एक दूर का सपना बना हुआ है। 1967 में गाजा और वेस्ट बैंक पर इजरायल के कब्जे के बाद से, यहूदी बस्तियों के विस्तार ने फिलिस्तीनी राज्य के लिए उपलब्ध भूमि को और कम कर दिया और तनाव बढ़ा दिया है। आज, जब दुनिया 7 अक्टूबर के भयानक हमास हमले के बाद हिंसा और विनाश की लहर देख रही है, विशेषज्ञों का एक पैनल संघर्ष के जटिल इतिहास, वर्तमान विकास और क्षेत्र पर उनके संभावित प्रभाव पर चर्चा करेगा|

03 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
बैठक

इतिहासकार मैथ्यू पार्कर की नई किताब, वन फाइन डे: ब्रिटिश एम्पायर ऑन द ब्रिंक, अपनी वैश्विक पहुंच के चरम पर ब्रिटिश साम्राज्य का एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक अन्वेषण है - और उस क्षण जब इसका लड़खड़ाना शुरू हुआ। भौगोलिक दृष्टि से 29 सितंबर 1923 को ब्रिटिश साम्राज्य अपने चरम पर पहुंच गया। जैसे ही ब्रिटेन द्वारा प्रशासित फ़िलिस्तीन शासनादेश लागू हुआ। जमैका से लंदन तक एक छोटे से प्रशांत द्वीप तक इस एक दिन के चश्मे के माध्यम से, पार्कर ने ब्रिटिश साम्राज्यवाद के शिखर को विस्तार से दर्शाया है। लेखक और इतिहासकार डेविड वीवर्स के साथ संवाद में, पार्कर ने ब्रिटिश साम्राज्य में सूरज डूबने से पहले होने वाले स्पष्ट परिवर्तन के एक क्षण की जांच की।
 

03 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
जयपुर बुक मार्क

इस सत्र में प्रमुख टैक्स से जुड़ी प्रक्रिया पर बात करेंगे| इस क्षेत्र में वे क्या बदलाव चाहते हैं? वे पायरेटेड किताबों की समस्या से कैसे जूझ रहे हैं? क्या कानूनी उपाय संतोषजनक हैं? यह सत्र कठिन प्रश्नों पर बारीकी से विचार करेगा। 
 

03 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
फ्रंट लॉन

पन्नों पर लिखी कहानी को रुपहले पर्दे तक कैसे लाया जाता है? कामयाब लेखक बोनी गार्मुस, केय बर्ड, बेन मकिन्त्रे और निकोलस शेक्सपियर पन्ने से पर्दे तक के इसी गुर की बारीकियां बताएंगे| लिटरेरी एजेंट चार्ल्स कोलिएर के साथ संवाद कला के इस रूप पर गहराई से बात होगी|

03 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
चारबाग

03 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट

इस सत्र में वर्तमान वैश्विक जलवायु संकट की पृष्ठभूमि में भारत की प्राथमिक ऊर्जा आवश्यकताओं और फॉसिल फ्यूल्स पर निर्भरता और इसके प्रभाव पर एक गहन चर्चा होगी। देश में ऊर्जा परिवर्तन को बढ़ावा देने वाले अवसरों और रुझानों की खोज करते हुए, वे इसके बड़े राजनीतिक, आर्थिक और राजनयिक निहितार्थों और जटिलताओं का मूल्यांकन करते हुए ऊर्जा के स्थायी स्रोतों में बदलाव पर चर्चा करेंगे|

03 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
दरबार हॉल

चोल साम्राज्य ने प्रायद्वीप के दक्षिणी इलाकों पर शासन किया, जिसमें उत्तरी आंध्र प्रदेश में कृष्णा-गोदावरी डेल्टा शामिल था और अपनी शक्ति के चरम पर दक्षिण पूर्व एशिया तक अपना प्रभाव बढ़ाया। उन्होंने तुंगभद्रा नदी के दक्षिण में प्रायद्वीपीय भारत को एकीकृत किया और 907 से 1215 तक, तीन शताब्दियों तक इस क्षेत्रीय एकता को बनाए रखा। इस सत्र में विशेषज्ञ उन प्रमुख हस्तियों का मूल्यांकन करेंगे, जिन्होंने चोल वर्चस्व और सांस्कृतिक, राजनीतिक, आर्थिक संबंध स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
 

03 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
बैठक

 दो प्रमुख साहित्यिक आवाज़ें अपने काम पर चर्चा करेंगी| जाने-माने साहित्यकार विवेक शानबाग का हाल ही में रिलीज़ हुआ उपन्यास, सकीना’ज़ किस का मूल कन्नड़ सकीनाला मुत्तु से अनुवाद किया साहित्य अकादमी-पुरस्कार से सम्मानित श्रीनाथ पेरूर ने| उपन्यास का कथानक सत्य और धारणा के बीच अपनी जगह तलाशता है। संपादक और मशहूर उपन्यासकार राज कमल झा का नया उपन्यास, द पेशेंट इन बेड नंबर 12 एक शहर की घेराबंदी की कहानी है, जब महामारी ने वहां के निवासियों के जीवन को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। अकादमिक अनिल अनेजा के साथ संवाद में, वे बताएंगे कि वे अपने आस-पास की खंडित दुनिया के बारे में कैसे और क्यों लिखते हैं।
 

03 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
जयपुर बुक मार्क

स्थायी सौंदर्य की वस्तु के रूप में किताब देखने वालों की उत्कृष्ट नजर के तहत आकार लेती है। एक प्रेरक सत्र जहाँ असाधारण प्रतिभाएं अपनी रचनात्मक प्रक्रिया और उसके परिणाम पर संवाद करेंगी|
 

03 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
फ्रंट लॉन

क्या समान विचारधारा वाले देश नियम-आधारित वैश्विक व्यवस्था की रक्षा के लिए एक साथ रह सकते हैं? क्या QUAD के देश भू-राजनीतिक मजबूरियों और राजनीतिक अहंकार से आगे बढ़कर समान लक्ष्यों और हितों वाले भविष्य की ओर बढ़ सकते हैं? पत्रकार सुहासिनी हैदर ने भारत में अमेरिकी राजदूत, महामहिम एरिक गर्सेती; ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधानमंत्री, मैल्कम टर्नबुल; प्रसिद्ध लेखक और राजनीतिज्ञ शशि थरूर और भारत सरकार के पूर्व विदेश सचिव, श्याम सरन के साथ क्वाड और उसके परिणामों पर चर्चा करेंगी|
 

03 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
चारबाग

03 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट

03 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
दरबार हॉल

धरती पर मौजूद हर प्राणी अपने क्षेत्र के प्रति सजग होता है| इंसानों का मस्तिष्क हमेशा से आक्रामकता के प्रति आकर्षित रहा है: रूस/यूक्रेन और इज़राइल/फ़िलिस्तीन में युद्ध हिंसा का ही प्रमाण है। सत्र में विशेषज्ञ इन संघर्षों के कारण, तर्कसंगतता और शांति कायम रहने के सुझावों पर चर्चा करेंगे|
 

03 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
बैठक

प्रकाशकों के बीच अनुवाद पर बढ़ते फोकस और बड़ी और छोटी भाषाओं के अनुवादकों की बढ़ती संख्या के साथ, साहित्यिक सिद्धांत कई तरीकों से समृद्ध हो रहा है। वर्तमान में, भारत से उभरने वाले अंतरराष्ट्रीय बाजार के लिए अनुवाद ज्यादातर अंग्रेजी में हैं, लेकिन अन्य भाषाओं में भी रुचि बढ़ रही है। सत्र में ऐसे सवालों पर चर्चा होगी: पश्चिम में प्रकाशक गैर-अंग्रेजी भाषाओं के अनुवादित साहित्य से क्या तलाश रहे हैं? इस संदर्भ में अनुवादकों की सीख क्या है?
 

03 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
जयपुर बुक मार्क

किताबें और कहानियां सरहदों के पार भी अपनी ज़मीन तलाश ही लेती हैं| भिन्न देशों के प्रकाशक बताएँगे कि प्रकाशन सूची तैयार करते समय उन्हें क्या चीज प्रेरित करती है और पाठकों के लिए भविष्य में क्या संभावनाएं हैं|
 

03 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
फ्रंट लॉन

03 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
मुग़ल टेंट

03 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
दरबार हॉल

03 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
बैठक

03 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
फ्रंट लॉन

विलियम डेलरिम्पल के साथ सुशीला रमन और सैम मिल्स, विलियम ब्लेक की दूरदर्शी कविता का मंचन करेंगे| यह उनका नवीनतम प्रोजेक्ट है। ब्लेक अनगिनत कवियों, कलाकारों और दार्शनिकों के लिए प्रेरणा रहे हैं।
गीत में ब्लेक की अपनी शानदार, मूल सेटिंग के साथ, विलियम डेलरिम्पल उनके शब्दों को दोहराते हैं, जो ब्लेक के क्लासिक 'मैरिज ऑफ हेवन एंड हेल' से 'द वॉइस ऑफ द डेविल' बन जाते हैं। उनकी मृत्यु के दो शताब्दियों के बाद उनका उदात्त और उत्तेजक कार्य प्रत्येक नए युग के लिए खुद को पुनर्जीवित करता है।
 

03 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
मुग़ल टेंट

आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस और डेटा विज्ञान ने विभिन्न क्षेत्रों में ज्ञान की हमारी समझ और प्रयोग को बदल दिया है। जलवायु और पर्यावरणीय चुनौतियों के साथ एआई का अंतर्संबंध अफोर्डबल क्लीन एनर्जी को बढ़ाने और ग्रह के कार्बन फुटप्रिंट्स को कम करने के लिए परिवर्तनकारी अवसर प्रदान करता है। इस सत्र में जलवायु परिवर्तन के असर को कम करने में एआई के उपयोग और आगे आने वाली चुनौतियों के समाधान पर बात की जाएगी|

03 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
दरबार हॉल

भाषा और संचार शब्दों और छवियों, ध्वनियों और प्रतीकों की परस्पर क्रिया से उत्पन्न होता है। इस सत्र में ग्राफिक्स की पॉवर पर बात होगी| वक्ता उन तरीकों पर चर्चा करेंगे, जिसमें प्रकाशक और लेखक आज की तकनीकी पीढ़ी और इसके लगातार घटते फोकस पर संदर्भ और चित्रण की पुनर्कल्पना कर रहे हैं।
 

03 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
बैठक

बहुभाषी कविताओं का पाठ, जहाँ विभिन्न भाषाएँ, लय और शैलियाँ कल्पनाशील संभावना के आनंदमय उत्सव में परिवर्तित होंगी|
 

03 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
जयपुर बुक मार्क

तेजी से विकसित होती बुक इंडस्ट्री हमेशा ही डाटा पर निर्भर करती है| नीलसन रिपोर्ट मार्केट के साइज़, ट्रेंड और ऐसे तथ्यों को उजागर करता है, जिनका उपयोग इंडस्ट्री के विकास में किया जा सकता है| इंडस्ट्री के विशेषज्ञ बातायेंगे कि कैसे डाटा अपनी नींव मजबूत बनाने में मदद करते हैं| 
 

रविवार, 4 फ़रवरी

04 Feb | 09:00 AM - 09:40 PM
फ्रंट लॉन

प्रात: संगीत: डॉ. कमला शंकर

प्रस्तुति: उत्साद इमामुद्दीन खान डागर, इंडियन म्यूजिक आर्ट एंड कल्चर सोसाइटी द्वारा प्रस्तुत। | ब्लूवन इंक

04 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
फ्रंट लॉन

वर्ष 2023 के लिए इंटरनेशनल बुकर प्राइज जीतने वाले, बुल्गेरियाई लेखक, गोर्गी गोस्पोदिनोव का उपन्यास, टाइम शेल्टर बताता है कि लोग किस तरह एक नकली बुने हुए अतीत में शरण ले लेते हैं| इस किताब का अंग्रेजी में अनुवाद एंजेला रोडल ने किया है| नंदिनी नायर के साथ संवाद में, वह अपनी किताब और उन निजी व राजनीतिक अनुभवों के बारे में बताएँगे, जिसने उन्हें ये किताब लिखने के लिए प्रेरित किया|
 

04 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
चारबाग

बुद्धिमान और हाजिरजवाब सुधा मूर्ति का लेखन विभिन्न विषयों और शैलियों को कवर करता है। उनकी नई किताब, कॉमन येट अनकॉमन, रोजमर्रा की जिंदगी और आम लोगों की विचित्रताओं और कमजोरियों की एक दिल छू लेने वाली तस्वीर है। संपादकीय और प्रकाशन सलाहकार मेरू गोखले के साथ संवाद में, वह अपने शानदार और असाधारण रूप से सफल जीवन के बारे में बात करेंगी|
 

04 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
मुग़ल टेंट

04 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
दरबार हॉल

बहुत से लोग सोचते हैं कि जलवायु परिवर्तन का तात्पर्य मुख्य रूप से गर्म तापमान से है, लेकिन तापमान वृद्धि केवल कहानी की शुरुआत है। चूँकि पृथ्वी एक प्रणाली है, जहाँ सबकुछ जुड़ा हुआ है, हर छोटा परिवर्तन अन्य पहलुओं को प्रभावित करने की क्षमता रखता है। इतिहास और वर्तमान राजनीति को ध्यान में रखते हुए, एक प्रतिष्ठित पैनल जलवायु संकट के प्रभाव को बेहतर ढंग से समझने के लिए हमारे अतीत से मिले सबक का मूल्यांकन करेगा।
 

04 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
बैठक

फेस्टिवल रीडिंग रूम को सभी प्लेटफार्मों पर आवाजों और आख्यानों की श्रृंखला से प्रेरणा मिलती है। इस सत्र में लेखिका और स्तंभकार आरेफ़ा तहसीन, लेखक और सिविल सेवा अधिकारी रॉबिन गुप्ता और अकादमिक व लेखक सरस मनिकम अपनी प्रेरणा और लिखित शब्द की खोज पर बात करेंगे|
 

04 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
जयपुर बुक मार्क

सीगल बुक्स ने 2023 में अपने 40 साल पूरे किये हैं| इस आइकोनिक पबिशिंग हाउस ने बॉर्डर्स और सीमाओं के पार जाकर किताबों का प्रकाशन किया है| नवीन किशोर हमें सीगल के असाधारण सफर पर ले जाएंगे, एक ऐसा सफ़र जो दोस्ती, भरोसे से शुरू हुआ और उसने कई साहित्यिक सम्बन्ध बनाए|
 

04 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
फ्रंट लॉन

वैदिक मंक साध्वी भगवती सरस्वती की किताब, हॉलीवुड टू द हिमालयाज: ए जर्नी ऑफ हीलिंग एंड ट्रांसफॉर्मेशन बेस्टसेलर है। साध्वीजी ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से मनोविज्ञान में पीएचडी की और सत्ताईस वर्षों से अधिक समय से परमार्थ निकेतन, ऋषिकेश में पवित्र गंगा के तट पर रह रही हैं, जहां वह आध्यात्मिक शिक्षा देती हैं, लिखती हैं और महिला नेतृत्व की एक अनूठी आवाज के रूप में कार्य करती हैं। वे विभिन्न मानवीय परियोजनाओं की देखरेख करती हैं, जिसके लिए उन्हें राष्ट्रपति बाईडेन द्वारा लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से सम्मानित किया गया। मीडिया प्रोफेशनल और एनर्जी हीलर पुनीता रॉय के साथ एक प्रेरणादायक सत्र में, वह अपनी आध्यात्मिक प्रथाओं और ज्ञान शिक्षण पर चर्चा करेंगी|

04 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
चारबाग

प्रसिद्ध टेलीविजन प्रेजेंटर और लेखक रिचर्ड ओसमान की बेस्टसेलर क्राइम सीरीज, द थर्सडे मर्डर क्लब  की 3 मिलियन से अधिक प्रतियां बिक चुकी हैं| इनकी कहानी चार असंभावित दोस्तों के गिर्द घूमती है, क्योंकि वे अनसुलझी हत्याओं की जांच के लिए अपने शांतिपूर्ण सेवानिवृत्ति गांव में सप्ताह में एक बार मिलते हैं। सीरीज में द थर्सडे मर्डर क्लब, द मैन हू डाइड ट्वाइस, द बुलेट दैट मिस्ड और द लास्ट डेविल टू डाई शामिल हैं। अपराध लेखक वसीम खान के साथ संवाद में, ओसमान हत्या, रहस्य और तबाही की इस अपरंपरागत सत्तर वर्षीय दुनिया की गहराई में उतरेंगे|
 

04 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
मुग़ल टेंट

पत्रकार, साहित्यिक आलोचक और उपन्यासकार नीलांजना एस रॉय का नया उपन्यास, ब्लैक रिवर एक ऐसे समाज के बारे में लिखता है जो वर्ग विभाजन, धार्मिक संघर्ष और लैंगिक हिंसा के बीच सुलझ रहा है। दोस्ती, प्यार और दुःख के विषयों की खोज करते हुए, ब्लैक रिवर धर्म की राजनीति और घर और देश के नुकसान के साथ जुड़ी हुई न्याय की एक कोमल और चिंतनशील खोज है। पत्रकार और उद्यमी प्रज्ञा तिवारी के साथ संवाद में रॉय इस उपन्यास और अपने लेखन पर चर्चा करेंगी।
 

04 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
दरबार हॉल

लियोनार्डो दा विंची के आविष्कारक और वैज्ञानिक अवतार ने कई बार एक चित्रकार के रूप में उनके महत्व को लगभग कम किया है। संग्रहालय क्यूरेटर और कला इतिहासकार ल्यूक सिसों कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में फिट्ज़विलियम संग्रहालय के निदेशक हैं। उनकी अत्यधिक प्रशंसित किताब, लियोनार्डो दा विंची – पेंटर एट द कोर्ट ऑफ़ मिलान ने पुनर्जागरण काल के सबसे अधिक मांग वाले नामों में से एक की जटिल प्रकृति को समझने का प्रयास किया। प्रसिद्ध लेखक टिम पार्क्स के साथ संवाद में, सिसों दा विंची की कला और समय पर गहराई से प्रकाश डालते हैं।
 

04 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
बैठक

दो असाधारण महिलाएं अगली पीढ़ी को शारीरिक और मानसिक शक्ति से सशक्त बनाने की बात करती हैं। लेखिका और शिक्षाविद, पर्दिस माधवी की नई किताब, बुक ऑफ क्वींस, मध्य पूर्वी घुड़सवार महिलाओं की पीढ़ियों और तालिबान और अन्य आतंकवादी संगठनों से अपनी मातृभूमि की रक्षा करने के उनके प्रयासों की अनकही कहानी है। एमी विजेता पत्रकार, कार्यकर्ता और यौन-तस्करी विरोधी एनजीओ 'अपने आप' की संस्थापक रुचिरा गुप्ता की नई किताब, आई किक एंड आई फ्लाई, बिहार की एक लड़की के यौन-व्यापार में बेचे जाने से बचने के इर्द-गिर्द घूमती है। रचना सिंह के साथ संवाद में, वे अपने काम और उन महिलाओं के बारे में बात करेंगे, जो स्त्रीत्व की पारंपरिक कहानियों को चुनौती देती हैं।
 

04 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
जयपुर बुक मार्क

ओटीटी की नज़र से पब्लिशिंग| अपने कंटेट को और रोचक व स्क्रीन-फ्रेंडली बनाने के लिए प्रकाशक क्या कर सकते हैं? आपस में वे अपने रिश्ते को और मज़बूत कैसे कर सकते हैं? एक सत्र, जहाँ नये समाज की नई ज़रूरतों पर चर्चा होगी|
 

04 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
फ्रंट लॉन

लेखक और साहित्यिक इतिहासकार पेरुमाल मुरुगन का नया उपन्यास, फायर बर्ड, जिसका तमिल से अंग्रेजी में जननी कन्नन द्वारा अनुवाद किया गया है| इस उपन्यास को 2023 जेसीबी प्राइज फॉर लिटरेचर से सम्मानित किया गया| इसका कथानक स्वयं मुरुगन के जीवन के विस्थापन और आंदोलन के अनुभवों से लिया गया है| प्रकाशक कन्नन सुंदरम और मानसी सुब्रमण्यम के साथ संवाद में, वह लगातार बदलती दुनिया में जड़ों और अपनेपन की मानवीय इच्छा पर एक मार्मिक नज़र डालेंगे।
 

04 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
चारबाग

कामयाब लेखिका कैथरीन रुंडेल की किताब, द गोल्डन मोल: एंड अदर लिविंग ट्रेजर  विश्व के दुर्लभ प्रजाति के जीवों की बात करती है| इस सत्र में युवान आवेस के साथ संवाद में कैथरीन हमें हमारी दुनिया की सुंदरता, उसकी नाजुकता और विचित्रता से आश्चर्यचकित होने और उससे प्रेम करने का अवसर देंगी|
 

04 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
मुग़ल टेंट

एक शानदार सत्र जहाँ तीन फ़ूड लेखक हमें भारतीय जायकों के सफ़र पर ले चलेंगे| फ़ूड लेखिका, रेस्तरां सलाहकार और 'केरन’स गॉरमेट किचन' की संस्थापक, केरन आनंद की किताब, मसाला मेमसाहिब हमें पांच भारतीय राज्यों के स्थानीय व्यंजनों, खाने के तरीकों और आकर्षक पाक इतिहास से परिचित कराती है| स्वीडिश जासूसी उपन्यासकार, यात्रा लेखक और बैंगलोर के सेमी-डीलक्स राइटिंग प्रोग्राम के संस्थापक-निदेशक, ज़ैक ओ'येह की हाल ही में प्रकाशित, डाइजेस्टिंग इंडिया एक यात्री के अनूठे व्यंजनों और भोजन की आदतों की खोज की बेहद मनोरंजक कहानी है| वीडियो जॉकी, फूड व्लॉगर और लेखिका मारिया गोरेटी की फ्रॉम माई किचन टू योर्स: फूड, लव एंड अदर इंग्रीडिएंट्स  इस बात का जश्न मनाती है कि वह अपना जीवन कैसे जीती हैं और पूरे भारत से आसानी से बनने वाली स्वादिष्ट रेसिपी के साथ हर महीने के लिए छह कोर्स का फ़ूड लेआउट प्रस्तुत करती है। अमृता त्रिपाठी के साथ संवाद में, वे अपनी किताबों के बारे में बात करेंगे और उन सभी चीज़ों पर भी जो हमारे टेस्ट-बड्स को गुदगुदाती हैं।
 

04 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
दरबार हॉल

COP28 समझौते को फॉसिल फ्यूल एरा के ‘अंत की शुरुआत’ माना गया| विशेषज्ञों के इस सत्र में वक्ता उन संभावित रास्तों के विषय में बताएँगे जो इस परिवर्तन को सहज बना सकते हैं| ये सत्र वैश्विक प्रतिबद्धता को समर्पित है, ये प्रकृति के लिए हमारे कर्तव्य का प्रतीक है|

04 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
बैठक

आप दूसरे जीवन को कैसे समझते हैं और उसे एक पन्ने पर कैसे दर्ज करते हैं? किसी और की कहानी में खुद को पूरी तरह डुबाने, इतिहास को खंगालने और उसे जीवंत बनाने में क्या लगता है? अटल बिहारी वाजपेयी, मौलाना अबुल कलाम आज़ाद और इंदिरा गांधी जैसे प्रतिष्ठित और जटिल व्यक्तित्वों के जीवनीकार इस सत्र में चर्चा करेंगे कि इन व्यक्तित्वों को सम्मोहक और प्रामाणिक रूप से जीवन में लाने का क्या मतलब है, और ऐसा करने में उन्हें किन चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।

04 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
जयपुर बुक मार्क

भारत में हजारों भाषाएं बोली जाती हैं| उसकी अपनी अनेक लिपियाँ हैं। विविध भाषाओँ के साहित्यकार लेखन में नित नये प्रयोगों पर विचार करते हैं| नए और पुराने पाठकों को पृष्ठ या स्क्रीन की तरफ खींचने वाली कौन सी प्रमुख वजहें हैं?
 

04 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
फ्रंट लॉन

लेखक और पत्रकार पैट्रिक रेडेन कीफ की धमाकेदार किताब, एम्पायर ऑफ़ पेन: द सीक्रेट हिस्ट्री ऑफ़ सक्लेर डायनेस्टी, परिवार की महत्वाकांक्षाओं और बेरहम तरीकों पर नज़र डालती है और ओक्सीकांटिन महामारी के दौरान उनकी भूमिका पर सवाल उठाती है| इस किताब को वर्ष 2021 बैली गिफर्ड अवार्ड से सम्मानित किया गया था| अमेरिकी नैतिकता और महत्वाकांक्षा पर एक परेशान करने वाली कहानी, यह गाथा पर्ड्यू फार्मा के मालिकों और मानव स्वास्थ्य के प्रति उनकी पूर्ण उपेक्षा की जांच करती है। सत्र संचालन करेंगी प्रज्ञा तिवारी|

04 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
चारबाग

04 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
मुग़ल टेंट

04 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
दरबार हॉल

04 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
बैठक

04 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
फ्रंट लॉन

 शब्दों के धनी शशि थरूर हमें हमारे युग की चुटीली कहावतें प्रदान करते हैं। जोसेफ जकारियास के साथ सह-लिखित उनकी नई किताब, द लेस यू प्रीच, द मोर यू लर्न: एफोरिज्म्स फॉर अवर एज  मुकाबला करने, जीवित रहने और सफल होने पर संक्षिप्त और सारगर्भित जीवन सबक देती है। बेस्टसेलिंग लेखक प्रेरक रूप से उन तरीकों को साझा करते हैं जिनसे हम निराशा, असुरक्षा पर विजय पा सकते हैं और अपने दोस्तों और परिवार के साथ संबंधों को बेहतर बना सकते हैं।
 

04 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
चारबाग

यह सबसे अच्छा समय है; यह सबसे बुरा समय है. विज्ञान हमें छोटे से छोटे अणु से लेकर ब्रह्मांड के अंत तक, दुनिया की व्याख्या करने की अनुमति देता है। फिर भी हम एक-दूसरे से लड़ना जारी रखते हैं क्योंकि मानवीय लालच और अहंकार हमारे ग्रह के नाजुक संतुलन को नष्ट कर देते हैं। एक महत्वपूर्ण सत्र जो भू-राजनीति, इतिहास के बोझ, ग्रहीय चेतना और सरकारों, महाद्वीपों और संस्कृतियों के बीच सहयोग की तत्काल आवश्यकता को संबोधित करेगा|
 

04 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
मुग़ल टेंट

अनियंत्रित ऑनलाइन दुनिया युवाओं के लिए एक भयावह और अनिश्चित वातावरण हो सकती है। लेखिका और स्तंभकार नेहा जे. हीरानंदानी ने द इंडियन एक्सप्रेस और वोग इंडिया के लिए पेरेंटिंग पर लेख लिखे हैं। उनकी नई किताब, आईपेरेंट  डिजिटल पीढ़ी के माता-पिता को उनके बच्चों के लिए साइबर-सुरक्षा की दुनिया में ले जाती है। शिवानी सिब्बल एक अभिभावक और उपन्यास इक्वेशन की लेखिका हैं, जो पारिवारिक, सामाजिक परिवर्तन और वर्ग विभाजन की पड़ताल करता है। माता-पिता, लेखक, गणितज्ञ और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में विज्ञान के प्रोफेसर, मार्कस दू सौतोय, कई पुस्तकों के लेखक हैं, उनकी नई किताब, अराउंड द वर्ल्ड इन 80 गेम्स यह बताती है कि कैसे गणित और खेल हमेशा एक-दूसरे से गहराई से जुड़े हुए हैं। प्रियंका खन्ना के साथ संवाद में वक्ता डिजिटल दुनिया और वास्तविक दुनिया के अंतर और उनके बीच संतुलन पर चर्चा करेंगे|
 

04 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
दरबार हॉल

पुरस्कृत पत्रकार और राजनीतिक कमेंटेटर नीरजा चौधरी की नई किताब, हाउ प्राइम मिनिस्टर्स डिसाइड आज़ाद भारत के छह प्रमुख प्रधानमंत्रियों के कार्यकाल का विश्लेषण करती है और बताती है कि कैसे उनके प्रमुख फैसलों ने भारत के इतिहास को बदला| प्रत्यक्ष साक्षात्कारों, उपाख्यानों और आंखें खोल देने वाले वृत्तांतों के माध्यम से बुनी गई कहानी शक्ति और मानवीय पतनशीलता की दुनिया पर प्रकाश डालती है। मंदिरा नायर के साथ संवाद में, चौधरी इन घटनाओं के पीछे की आंतरिक कार्यप्रणाली और अक्सर अपारदर्शी प्रक्रियाओं में अपनी गहरी अंतर्दृष्टि साझा करेंगी|
 

04 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
बैठक

तीन शानदार लेखक जो भारत के मिथकों का वर्णन और रचनात्मक पुनर्व्याख्या करते हैं। लेखक और अकादमिक कोरल दासगुप्ता ने विचारोत्तेजक सती सीरीज लिखी है, जो स्त्री चेतना के साथ हिंदू महाकाव्यों से पंच कन्याओं की खोज करती है। इस सीरीज की नई किताब है, मंदोदरी, जो रावण की पत्नी के संघर्ष को याद करती है और प्रेम व नैतिक कर्तव्यों को संतुलित करने की कोशिश करती है। लेखक, पटकथाकार और पूर्व एंकर सत्यार्थ नायक की बेस्टसेलर महागाथा: पुराणों की 100 कथाएं कुछ महानतम पौराणिक कहानियों को संकलित करती हैं, जिनमें कई कम ज्ञात कहानियाँ भी शामिल हैं। संपादक और लेखक सक्षम गर्ग का उपन्यास, संसार: एंटर द वैली ऑफ़ द गॉड हमें हिमालय के हृदय में छिपे देवताओं के दायरे के माध्यम से एक काल्पनिक यात्रा पर ले जाता है। सत्र में वे प्राचीन ग्रंथों पर चर्चा करते हुए उन्हें समकालीन पाठकों के सामने प्रस्तुत करेंगे|

04 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
जयपुर बुक मार्क

तमिल प्रकाशक कलाचुवादु पिछले बीस सालों से लगाता पेरुमाल मुरुगन की किताबें प्रकाशित कर रहा है| हाल ही में उनकी किताब फायर बर्ड को मिला जेसीबी अवार्ड उनकी रचनात्मक एकता को समर्पित है| ऐसी साहित्यिक मित्रता कैसे बनती है?
 

04 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
फ्रंट लॉन

इतिहासकार और लेखक पीटर फ्रैंकोपन की नई किताब, द अर्थ ट्रांसफोर्मेड: एन अनटोल्ड हिस्ट्री बताती है कि किस तरह से जलवायु परिवर्तन ने विकास पर प्रभाव डाला है| फ्रैंकोपन बताते हैं कि कैसे प्रकृति ने हमेशा इतिहास के लेखन में एक मौलिक भूमिका निभाई है और प्रकृति के आदेश पर सभ्यताओं के पतन का मूल्यांकन किया है। सत्र संचालन करेंगे युवान आवेस|

04 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
चारबाग

हमारा प्लेनेट बहुत तेजी से बदल रहा है। समुद्र का स्तर बढ़ने और तापमान बढ़ने के साथ, दुनियाभर की सरकारों और उद्योगों ने जलवायु परिवर्तन से उत्पन्न चुनौतियों को कम करने के लिए प्रणालीगत कदम उठाना शुरू कर दिया है। सत्र में वक्ता इसके अधिक टिकाऊ, न्यायसंगत और जरूरी कार्रवाई पर चर्चा करेंगे, जो वैश्विक अर्थव्यवस्था में बदलाव ला रहा है।
 

04 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट

वर्जीनिया वुल्फ को 20वीं सदी की एक प्रमुख लेखिका, महान उपन्यासकार, निबंधकार और साहित्यिक इतिहास में एक नारीवादी और आधुनिकतावादी के रूप में पहचाना जाता है। लेखिका और साहित्यिक आलोचक, मेर्वे एमरे की द एनोटेटेड मिसेज डेलोवे, एक शानदार, सचित्र हार्डकवर संस्करण में वर्जीनिया वूल्फ के अभूतपूर्व उपन्यास, मिसेज डेलोवे पर की गई टिप्पणी है। मिसेज डेलोवे को साहित्यिक आधुनिकतावाद का एक महत्वपूर्ण कार्य और बीसवीं शताब्दी के सबसे महत्वपूर्ण और प्रभावशाली उपन्यासों में से एक माना जाता है। अनीश गावंडे के साथ संवाद में, एमरे वुल्फ के किरदारों के माध्यम से उनकी सौंदर्य और राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं पर चर्चा करेंगी|
 

04 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
दरबार हॉल

 फिक्शन कहाँ से आता है? इसकी रचना प्रक्रिया क्या है? आप ऐसे किरदारों और हालातों को कैसे गढ़ते हैं, जो विश्वसनीय लगने लगते हैं? और पाठक उनसे क्यों जुड़ जाते हैं? दुनिया के पांच लोकप्रिय उपन्यासकार डेमो गल्गुट, हेर्नन डिअज़, मोनिका अली, टिम पार्क्स और कैटी किटामुरा उपन्यास की प्रक्रिया पर अपने विचार साझा करेंगे| सत्र संचालन करेंगी नंदिनी नायर|   
 

04 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
बैठक

रियर एडमिरल संतोष कुमार गुप्ता और कमोडोर गुरनाम सिंह 1971 के भारत-पाक युद्ध के दौरान नौसेना, सेना और वायु सेना द्वारा निभाई गई महत्वपूर्ण भूमिका पर कमोडोर श्रीकांत केस्नुर से संवाद करेंगे|
 

04 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
जयपुर बुक मार्क

भारत और यूके में फलते-फूलते इंडी पब्लिशिंग ने पहले कभी भी इतना हैरान नहीं किया था, जितना वर्तमान परिदृश्य में कर रहा है| आज इन दोनों ही देशों में इंडी पब्लिशिंग की बेहद संभावनाएं हैं| 
 

04 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
फ्रंट लॉन

अनकॉमन लव  चित्रा बनर्जी दिवाकरुनी द्वारा लिखी गई एक दिल को छू लेने वाली जीवनी है| उन्होंने सुधा मूर्ति और नारायण मूर्ति की शादी और शादी से पहले के शुरुआती दिनों को अपनी किताब में दर्ज किया है| मूर्ति युगल की ये प्रेम कहानी वास्तव में इनफ़ोसिस की स्थापना की कहानी भी है| ये इकलौती ऐसी किताब है, जहाँ खुद मूर्ति युगल ने हिस्सा लिया है, लेखिका के साथ बैठकर लम्बे साक्षात्कार दिए और अपने जिंदगी को बयां किया है| प्रियंका खन्ना के साथ संवाद में वे उन कहानियों की चर्चा करेंगे, जो प्रेरक थीं, और उनमें दर्द भी था, मानवीय संवेदनाएं थीं, जिन्होंने उनके चरित्र, उनकी सफलता, उनके परोपकार को आयाम दिया|
 

04 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
चारबाग

04 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
मुग़ल टेंट

लेखक, अनुवादक और पूर्व राजनयिक नवदीप सूरी और नवतेज सरना इस सत्र में पंजाबियत के सार के बारे में बात करेंगे| सूरी द्वारा अपने दादा नानक सिंह की 'खून दे सोहिले' (हाइम इन ब्लड) का हाल ही में प्रकाशित अनुवाद उस हिंसा और आघात की याद दिलाता है, जो धार्मिक संघर्ष अपने साथ ला सकता है। इसकी अगली कड़ी है, ‘अग्ग दी खेड़’ (ए गेम ऑफ फायर)। उनके पहले अनुवादों में जलियांवाला बाग नरसंहार पर सिंह की लंबी कविता, खूनी वैसाखी शामिल है। सरना की सैवेज हार्वेस्ट उनके पिता मोहिंदर सिंह सरना की भारत के विभाजन पर लघु कहानियों के संग्रह का अनुवाद है। उनका अपना उपन्यास, क्रिमसन स्प्रिंग भी जलियांवाला बाग रक्तपात की भयावहता का मार्मिक वर्णन है। अकादमिक सरबजोत सिंह के साथ संवाद में, वे अपने पूर्वजों की विशाल विरासत और पंजाबी साहित्य में निभाई गई प्रारंभिक भूमिका पर चर्चा करेंगे|
 

04 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
दरबार हॉल

राधिका अयंगर की शोधपरक किताब, फायर ऑन द गेंजेस: लाइफ अमोंग द डेड इन बनारस डोम समुदाय के पारंपरिक व्यवसाय और जलती चिताओं की कहानी कहती है| राधिका पत्रकार हैं, जो पिछले आठ सालों से इस समुदाय पर शोध कर रही हैं| वे कला, संस्कृति और लैंगिकता पर भी लिखती हैं| संजॉय के. रॉय के साथ संवाद में वे अपनी शोध और डोम समुदाय के यथार्थ पर बात करेंगी|

04 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
बैठक

लाइब्रेरीज किताबों और पढ़ने के प्रति आकर्षित करती हैं। साक्षरता और साहित्यिक पहुंच के प्रति जेसीबी फाउंडेशन की गहरी प्रतिबद्धता कम्युनिटी लाइब्रेरी प्रोजेक्ट में दिखती है जो 'पढ़ना ही सोचना है' के विचार का प्रतीक है। सत्र में प्रतिष्ठित वक्ता सभी के लिए सुलभ पुस्तकालय नेटवर्क के दृष्टिकोण के बारे में बात करेंगे|
 

04 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
जयपुर बुक मार्क

पिक्चर बुक्स अपने नवेले पाठकों को चित्रों और शब्दों के रहस्य को उजागर करने के लिए आकर्षित करती हैं। यही वो पहली सीढ़ी है, जो बच्चों में किताबों से जुड़ने की नींव डालती है| सत्र में इसी कदम पर चर्चा होगी|
 

04 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
फ्रंट लॉन

04 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
चारबाग

04 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
मुग़ल टेंट

04 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
दरबार हॉल

04 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
बैठक

04 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
फ्रंट लॉन

अभिनेता इरफ़ान खान के जबरदस्त अभिनय ने भारतीय सिनेमा में तूफान ला दिया। नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के दिनों से लेकर टेलीविजन में उनके लगभग एक दशक लंबे कार्यकाल और द नेमसेक, लाइफ ऑफ पाई, मकबूल और हिंदी मीडियम जैसी पथप्रदर्शक फिल्मों में अपने अभिनय से इरफ़ान ने सभी को प्रभावित किया। फिल्म समीक्षक और लेखिका शुभ्रा गुप्ता की इरफ़ान: ए लाइफ इन मूवीज़  उनके समकालीन लोगों के साथ बातचीत और किंवदंती के साथ उनके समय की यादों का एक संग्रह है। अपनी प्रिय पत्नी और थिएटर अभिनेत्री सुतपा सिकदर और फिल्म निर्माता विशाल भारद्वाज के साथ संवाद में वे इरफान की कला, शिल्प और जीवन पर चर्चा करेंगी| सत्र संचालन करेंगी सत्या सरन|
 

04 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
चारबाग

 



 

04 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
मुग़ल टेंट

324 ईसापूर्व से 185 ईसापूर्व तक, मौर्यों ने लगभग पूरे भारतीय महाद्वीप पर अपनी दक्षता और प्रशासन क्षमता के बल पर राज किया| इस सत्र में मौर्य इतिहास के कुछ खास पहलुओं पर चर्चा होगी| करिश्माई शासक चन्द्रगुप्त मौर्य से लेकर उनके उत्तराधिकारियों तक, और फिर उपनिवेशवाद और उपनिवेशवाद पश्चात् की स्थितियों पर पड़े प्रभाव की नज़र से भी भारत के इस पहले पैन-इंडिया राजवंश पर चर्चा होगी|
 

04 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
दरबार हॉल

महिलाओं का आर्थिक जीवन अक्सर उनके नियंत्रण से बाहर रहता है। इस सत्र में वित्त और वित्त से जुड़ी उन रणनीतियों पर चर्चा होगी, जो महिलाओं की समग्र सामाजिक-आर्थिक स्थिति को बढ़ाने में सहायक हों|
 

04 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
बैठक

ये सत्र उन लेखकों को समर्पित है, जो भाषाओं के बीच आसानी से जगह बनाते हुए, भाषा और संस्कृति का आदान-प्रदान करते हैं| जापानी लेखक योको तवाडा जर्मन से अनुवाद करते हैं, बी. जेयामोहन तमिल और मलयालम दोनों में लिखते हैं, और शुमोना सिन्हा एक बंगाली हैं जो फ्रेंच में लिखती हैं। लेखिका और अनुवादक सुचित्रा रामचंद्रन के साथ संवाद में, वे उन कई भाषाओं, संस्कृतियों और साहित्यिक स्थानों पर चर्चा करेंगे, जिनमें वो रहते हैं|
 

04 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
जयपुर बुक मार्क

इस सत्र में देश-विदेश के प्रकाशक अपनी चुनिन्दा किताबों की बात करेंगे| प्रोफेशनल मैचमेकिंग और अक्रॉस बॉर्डर बिजनेस का ये सबसे बढ़िया प्लेटफार्म रहेगा|
 

सोमवार, 5 फ़रवरी

05 Feb | 09:00 AM - 09:40 AM
फ्रंट लॉन

प्रात: संगीत: सप्तक चटर्जी

प्रस्तुति: ब्लूवन इंक

05 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
फ्रंट लॉन

भारतीय उपमहाद्वीप के भौगोलिक, सामाजिक और राजनीतिक परिदृश्य में दिल्ली ने हमेशा एक अभिन्न भूमिका निभाई है। स्वप्ना लिडले की नई किताब, ब्रोकन स्क्रिप्ट पिछले दो मुगल सम्राटों और ईस्ट इंडिया कंपनी के बीच जटिल संघर्ष को बयां करती है, जिनमें से एक के पास महज प्रतीकात्मक अधिकार था, दूसरे के पास तेजी से बढ़ती सैन्य और राजनीतिक शक्ति थी। इतिहासकार और लेखिका राणा सफ़वी की ट्राइलॉजी -- शाहजहानाबाद: द लीविंग सिटी ऑफ़ ओल्ड देल्ही; द फॉरगॉटन सिटीज ऑफ़ देल्ही; और व्हेयर स्टोन्स स्पीक: हिस्टोरिकल ट्रेल्स इन महरौली, द फर्स्ट सिटी ऑफ़ दिल्ली -- अपने किलों और इमारतों, अतीत की भव्यता और संघर्ष के जीवित स्मारकों के माध्यम से शहर की भव्यता पर एक सूक्ष्म नज़र डालती है। इतिहासकार, फेस्टिवल के को-डायरेक्टर और द लास्ट मुगल के लेखक विलियम डेलरिम्पल के साथ संवाद में, वक्ता पुरानी मुगल राजधानी की गलियों की सैर कराएंगे|
 

05 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
चारबाग

लेखक, गणितज्ञ और प्रोफेसर मार्कस दू सौतोय की नई किताब, अराउंड द वर्ल्ड इन एट्टी गेम्स खेलों की उत्पत्ति और उन्हें आकर्षक बनाने वाली चीज़ों की खोज करते हुए दुनिया की सैर कराती है। गेम थ्योरी, गेमिफिकेशन, गेमिंग रणनीतियों और कंप्यूटर गेम के गणित पर आधारित, सौतोय की मनोरम किताब दुनिया भर की संस्कृतियों में मनोरंजक खेलों के आविष्कार के पीछे के रहस्यों को उजागर करती है। टेलीविज़न प्रेजेंटर और लेखक रिचर्ड ओस्मान संग संवाद में वे बोर्ड गेम्स, कार्ड गेम्स और डाइस गेम्स के पीछे छिपे गणित के विचार को सामने लाएंगे|
 

05 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
मुग़ल टेंट

लेखिका, शिक्षाविद और गायिका रेबा सोम का नया संस्मरण, हॉप, स्किप एंड जंप, एक विदेश सेवा अधिकारी की पत्नी के रूप में उनके अनुभवों की दास्ताँ है, जिसमें उनके द्वारा विभिन्न पोस्टिंग और वातावरण में बिताए गए कई दशकों का विवरण है। सिविल सेवा अधिकारी राजन कश्यप का संस्मरण, बियॉन्ड द ट्रैपिंग्स ऑफ ऑफिस छात्र वर्षों के दौरान सिविल सेवाओं में उनकी यात्रा का वर्णन करता है, जो हमें उस विभाग की आंतरिक कार्यप्रणाली की झलक देता है, जो हमारे देश की रीढ़ है। मीडिया प्रोफेशनल और एनर्जी हीलर पुनिता रॉय के साथ संवाद में, वे हमें कई दिलचस्प किस्से सुनायेंगे|

05 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
फ्रंट लॉन

मनुष्य मूल रूप से एक प्रवासी प्रजाति है, जो किसी भी अन्य जीव की तुलना में सबसे ज्यादा अप्रवास करते हैं, लेकिन फिर भी प्रवासन हमारे समय के सबसे विवादास्पद विषयों में से एक है। एक अनूठा सत्र जो दुनिया के अंतर्संबंधों को बेहतर ढंग से समझने के लिए समय-समय पर मनुष्यों और फसलों दोनों के प्रवास पर चर्चा करेगा। सैम मिलर की नई किताब, माइग्रेंट्स: द स्टोरी ऑफ अस ऑल, मानव प्रजाति का खानाबदोश रूप प्रस्तुत करती है| इतिहासकार और लेखक सुरेशकुमार मुथुकुमारन की किताब, ट्रॉपिकल टर्न, प्राचीन मध्य पूर्व और भूमध्य सागर में चावल और कपास से लेकर खट्टे फल और खीरे जैसी एशियाई फसलों के शुरुआती इतिहास का वर्णन करती है। लेखिका आरती प्रसाद के साथ संवाद में, वे उन आकर्षक तरीकों का पता लगाएंगे जिनसे दुनियाभर में आंदोलन ने आधुनिक दुनिया में एक अद्वितीय पारिस्थितिक, सांस्कृतिक और सामाजिक ताने-बाने का निर्माण किया है।
 

05 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
चारबाग

इंसानों और उनके पालतू जानवरों के बीच का रिश्ता एक गहरा और सार्थक बंधन है। पशु प्रेमियों का एक पैनल मनुष्यों और उनके सबसे अच्छे दोस्तों के बीच अटूट रिश्ते पर दिल छू लेने वाली कहानियां प्रस्तुत करेगा| वे हमारे जीवन को किस कद्र प्रभावित करते हैं और उनके चले जाने के बाद भी परिवार एक साथ जुड़े रहते हैं।
 

05 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
मुग़ल टेंट

भागती हुई आधुनिक दुनिया में जब हम शांति की तलाश करते हैं, तो हमारा रुख खुद ब खुद काव्य की तरफ मुड़ जाता है| तीन कवि हमारी बेचैन दुनिया के विभिन्न पहलुओं को दर्शाते हुए हमारे समय की कविता प्रस्तुत करेंगे।

05 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
दरबार हॉल

राजनयिक और पुरस्कार से सम्मानित ऑस्ट्रेलियाई लेखिका फेलिसिटी वोल्क की डिज़ायर लाइन्स प्यार की एक दिल दहला देने वाली और भावुक कहानी है, जो हमें उस झूठ का सामना करने के लिए मजबूर करती है जो हम जीवित रहने के लिए खुद से कहते हैं। बीसवीं सदी के ऑस्ट्रेलियाई इतिहास के ऐतिहासिक स्थलों पर आधारित, उनका उपन्यास राजनीति, इतिहास और युद्ध में अपने स्वयं के असहज संबंधों को उजागर करता है। राजनयिक ओ’फार्रेल के साथ संवाद में, वोल्क अपनी कथा और लेखन प्रकिया पर चर्चा करेंगी|
 

05 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
बैठक

वरिष्ठ लेखिका, मृदुला गर्ग और साहित्यिक कार्यकर्ता और अनुवादक, कल्पना रैना, अपनी नई किताबों पर बात करेंगी| लैंगिक रूढ़िवादिता पर लगातार वार करने वाली मृदुला गर्ग का नया हिंदी उपन्यास, वे नायाब औरतें कथा संरचना के साथ प्रयोग करता है, क्योंकि यह यादों से कहानियां बुनता है और सामाजिक वर्जनाओं को आनंददायक सहजता से विकृत करता है। अनुवादकों को उद्यमशीलता के समर्थन के लिए जानी जाने वाली कल्पना रैना का हरि कृष्ण कौल की कहानियों का सह-अनुवाद, फॉर नाउ, इट्स नाइट, कश्मीरी पंडितों के जीवन में दुख और अकेलेपन के विभिन्न रंगों को सामने लाता है। एक विचारशील और आकर्षक सत्र में ये दोनों लेखिकाएँ प्रकाशक अदिति माहेश्वरी गोयल के साथ दिलचस्प चर्चा करेंगी|
 

05 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
फ्रंट लॉन

शर्मिष्ठा मुखर्जी की चर्चित जीवनी, प्रणब माई फादर: ए डॉटर रिमेम्बर्स पूर्व राजनेता और भारत के तेरहवें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के शानदार जीवन की एक आकर्षक झलक पेश करती है। उनकी डायरी प्रविष्टियों, शर्मिष्ठा को सुनाई गई व्यक्तिगत कहानियों और उनके स्वयं के शोध के आधार पर, यह व्यापक कथा प्रणब मुखर्जी के व्यक्तिगत और राजनीतिक जीवन को जोड़ती है| यह हमें मुखर्जी के जीवन में आमंत्रित करती है और प्रणब के राजनीतिक करियर के अब तक अज्ञात पहलुओं, उनकी अधूरी महत्वाकांक्षाओं और प्रमुख राजनेताओं के साथ उनकी निजी बातचीत को उजागर करती है| वीर सांघवी के साथ संवाद में, शर्मिष्ठा अपने काम में व्यस्त रहने वाले और धार्मिक बाबा के बारे में बात करेंगी, जो खाने की मेज पर घटनाओं को सुनाते थे और जिन्होंने कभी भी उन पर अपनी आस्था या विश्वास थोपने की कोशिश नहीं की।
 

05 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
चारबाग

जब पहचान और लैंगिकता की सीमाएं धुंधला रही हैं, तब लेखक और कार्यकर्त्ता बताएंगे कि वो कौन हैं, और उनके इस सफ़र की शुरुआत कैसे हुई|
 

05 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
मुग़ल टेंट

2024, 'इंटरनेशनल कैमलिड्स वर्ष', कैमलिड्स और विषम परिस्थितियों में रहते हुए लाखों परिवारों को आजीविका प्रदान करने में उनकी आवश्यक भूमिका को मान्यता देता है। वैज्ञानिक इलसे कोहलेर-रोलेफ्सों कैमल कर्मा की लेखिका हैं, जो राजस्थान के ऊंटों को बचाने के सन्दर्भ में रायका समुदाय और ऊंटों के साथ उनके संबंधों को बयां करती है। उनकी नई किताब, हूफप्रिंट्स ऑन द लैंड, लोगों और जानवरों के बीच कामकाजी साझेदारी का एक आकर्षक वर्णन है। युवान आवेस लिखते हैं, पढ़ाते हैं, सीखते हैं और वहां रहते हैं जहां परिदृश्य मानसिकता के साथ विलीन हो जाता है। वह एक पुरस्कृत लेखक, प्रकृति-शिक्षक और पर्यावरण-रक्षक व पल्लुयिर ट्रस्ट फॉर नेचर एजुकेशन एंड रिसर्च के मैनेजिंग ट्रस्टी हैं। कोहलेर-रोलेफ्सों और आवेस मिलकर दुनिया की ऊंट संस्कृतियों और उनसे जुड़ी बहुत से जरूरी बातों पर चर्चा करेंगे।
 

05 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
दरबार हॉल

रेशम, जो अपने हल्केपन, चमक और सुंदरता के लिए बेशकीमती है, अब तक ज्ञात सबसे मजबूत जैविक सामग्रियों में से एक है। लेखिका और ब्रॉडकास्टर आरती प्रसाद की किताब सिल्क रेशम की उत्पत्ति और प्राचीन मार्गों से लेकर उन जीवविज्ञानियों की कहानी तक एक सांस्कृतिक और जैविक इतिहास है, जिन्होंने रेशम पैदा करने वाले जानवरों के रहस्यों को सीखा| यह किताब चीन, इंडोनेशिया और भारत से लेकर अमेरिका और मेडागास्कर और भूमध्य सागर के मोलस्क जाती है। फेस्टिवल के को-डायरेक्टर, इतिहासकार और लेखक विलियम डेलरिम्पल सत्र संचालन करेंगे|

05 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
बैठक

05 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
फ्रंट लॉन

पुरस्कृत पत्रकार सोहिनी चट्टोपाध्याय की नई किताब, द डे आई बिकम ए रनर, आठ महिला एथलीटों की सम्मोहक कहानियाँ प्रस्तुत करती है और स्वतंत्र भारत के पूरे इतिहास को दर्शाती है। यह भारतीय गणराज्य का एक प्रेरणादायक वैकल्पिक विवरण है, जो इसकी महिला एथलीटों के माध्यम से दर्ज किया गया है। उपन्यासकार अमृता त्रिपाठी के साथ संवाद में, वे उन मार्मिक तरीकों पर चर्चा करेंगे, जिनसे इन महिलाओं ने पितृसत्तात्मक मानदंडों को चुनौती दी और धावकों का एक भाईचारा बनाया।
 

05 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
चारबाग

05 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
मुग़ल टेंट

05 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
दरबार हॉल

05 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
फ्रंट लॉन

लोकप्रिय लेखक और इतिहासकार विंसेंट ब्राउन की शानदार थ्रिलर, टैकी’ज़ रिवोल्ट: द स्टोरी ऑफ़ एन अटलांटिक स्लेव वॉर अटलांटिक दास व्यापार पर आधारित है। ब्रिटिश अटलांटिक दुनिया के शाही शासन को उखाड़ फेंकने वाले मौलिक विद्रोह, जिसे अंततः टैकी के विद्रोह के रूप में जाना जाता है, की कहानी इस किताब में दर्ज है| यह किताब वैकल्पिक परिप्रेक्ष्य की पेशकश करते हुए उत्पीड़न और गुलामी के विवादास्पद माहौल की पड़ताल करती है। घटित घटनाओं के बारे में, उत्पीड़न के क्रूर और अमानवीय तरीकों और विरोध करने वालों के लचीलेपन पर एक बेबाक नज़र के साथ। द शुगर बैरन्स के लेखक, इतिहासकार मैथ्यू पार्कर के साथ संवाद में, ब्राउन यूरोप, अफ्रीका और अमेरिका के परस्पर विरोधी इतिहास को जोड़ने वाली जटिल कथाओं को उजागर करेंगे|
 

05 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
चारबाग

05 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
मुग़ल टेंट

05 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
दरबार हॉल

बेल्जियम की लेखिका, पटकथाकार, लिबरेटिस्ट और पत्रकार गेया स्कोत्रेस का नया उपन्यास, ट्रोफी एक अमीर अमेरिकी शेयर व्यापारी हंटर व्हाइट की कहानी है, जो एक गैंडे को मारने के लिए अफ्रीका जाता है। उनकी पहली किताब, गर्ल्स, मुस्लिम्स एंड मोटरसाइकिल्स नामक एक यात्रा-वृतांत था, इसके बाद तीन उपन्यास और साक्षात्कार-संग्रह हेट आइंडे प्रकाशित हुए। स्कोत्रेस को 2022 में साहित्य के लिए यूरोपीय संघ पुरस्कार प्राप्त हुआ।
भारतीय लेखिका, स्तंभकार और बेंगलुरु पोएट्री फेस्टिवल की निदेशक, शिनी एंटनी के नए उपन्यास, कैन्ट में सत्तर के दशक की एक कहानीकार को एक किशोर कवि के साथ मिलकर दुनिया की यात्रा करते हुए दिखाया गया है| कलाकार और लेखिका बुलबुल शर्मा की नई किताब, सनबर्ड्स इन द मॉर्निंग एक आनंददायक कथा है, जो उन पक्षियों और जानवरों को समर्पित है, जिनका उन्होंने COVID19 महामारी के दिनों में सामना किया था। रचना सिंह के साथ संवाद में, वे अपने लेखन की विविधता और सीमा के बारे में बात करेंगे|
 

05 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
बैठक

जॉन ज़ुब्रिकी की नई किताब, डिथ्रोन्ड: पटेल, मेनन एंड द इंटीग्रेशन ऑफ प्रिंसली इंडिया, 1947 के बाद भारतीय संघ में रियासतों के विलय का एक दिलचस्प विवरण है। ज़ुब्रिकी ने शतरंज के खेल का एक मनोरम विवरण प्रस्तुत करने के लिए, माउंटबेटन से लेकर सरदार वल्लभभाई पटेल और वीपी मेनन से लेकर जवाहरलाल नेहरू तक, पात्रों की एक आकर्षक भूमिका निभाई है, जिसने उपमहाद्वीप को विखंडन से बचाया। लेखक और इतिहासकार सैम डेलरिम्पल और वी.पी.मेनन - द अनसंग आर्किटेक्ट ऑफ मॉडर्न इंडिया की लेखिका, इतिहासकार नारायणी बसु के साथ संवाद में, ज़ुब्रिकी हमें रियासती भारत के एकीकरण के बारे में बताएंगे|
 

05 Feb | 02:00 PM - 04:00 PM
जयपुर बुक मार्क

एक विचारोत्तेजक सत्र, जहाँ फेस्टिवल के डायरेक्टर्स ध्रुवीकृत होते संसार में फेस्टिवल की परिकल्पना पर चर्चा करेंगे|     

05 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
फ्रंट लॉन

इस सत्र में दो शानदार लेखकों की लेखन शैली और प्रक्रिया पर बात होगी| केटी किटामुरा का उपन्यास इंटिमेसीज़ नैतिक दुविधाओं से विकृत दुनिया पर एक गहन टिप्पणी प्रस्तुत करता है। इस उपन्यास को नेशनल बुक अवार्ड फॉर फिक्शन के लिए लॉन्गलिस्ट किया गया था, यह नैतिक दुविधा से विकृत समाज की बात करता है| वर्ल्ड कोर्ट में एक दुभाषिया की कहानी, जिसका जीवन अपने प्रेमी के विश्वासघात और मानवता के खिलाफ अपराधों के आरोपी एक गिरफ्तार राष्ट्रपति के बीच उलझता है। स्काई आर्ट्स लिटरेचर अवार्ड से सम्मानित मोनिका अली की नई किताब, लव मैरिज दो परिवारों की एक नाटकीय सगाई के कारण साथ आने की कहानी है। यह प्रेम और विवाह संस्था के सामाजिक और सांस्कृतिक तनाव की एक मनोरंजक कहानी प्रस्तुत करता है। बी रोलेट के साथ संवाद में, वे अपने किरदारों और कथाशिल्प की बात करेंगी|

05 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
चारबाग

05 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट

पूर्व शीर्ष पुलिस अधिकारी और बीसीसीआई के एंटी-करप्शन चीफ़, नीरज कुमार की हाल ही में प्रकाशित किताब, ए कॉप इन क्रिकेट खेल के कमजोर पक्ष को उजागर करती है, जो खेल की अखंडता को खतरे में डालने वाले गठजोड़ का आंखें खोलने वाला ब्यौरा प्रस्तुत करती है। पुलिस अधिकारी और सामाजिक कार्यकर्ता, आमोद के. कांत की खाकी ऑन ब्रोकन विंग्स: केसेस दैट शॉक्ड इंडिया, पुलिस डायरीज़ श्रृंखला का दूसरा खंड है। वह नेशनल हेडलाइन्स में छाए कुछ जघन्य अपराधों, सर्वव्यापी माफियाओं, आपराधिक न्याय प्रणाली की खामियों और जेल तथा सुधारात्मक सेवाओं के शोषण पर बात करेंगे| पूर्व आईपीएस अधिकारी मीरान चड्ढा बोरवंकर का हालिया संस्मरण, मैडम कमिश्नर भारतीय कानून प्रवर्तन में उनके छत्तीस वर्षों का एक स्पष्ट विवरण है। पूर्व राजनयिक और लेखक विकास स्वरूप के साथ एक मनोरंजक सत्र में वे वास्तविक जीवन के अनुभवों और पुलिस बल में अपने जीवन की अंदरूनी कहानियों को साझा करेंगे|

05 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
दरबार हॉल

दक्षिण पूर्व एशिया में भारतीय वास्तुकला, धर्म और भाषाओं का आदान-प्रदान कैसे संभव हुआ? भारत के किन केंद्रों ने अनुराधापुरा, अंगकोर वाट और बोरोबुदुर में विचारों का योगदान दिया, जिससे दुनिया के कुछ महानतम मंदिरों और स्मारकों का निर्माण हुआ? कला इतिहासकार नमन आहूजा की नई किताब, फणीगिरी तेलंगाना के बौद्ध पुरातात्विक स्थल पर असाधारण प्राचीन मूर्तियों की नई खोजों को समझने के लिए एक संदर्भ प्रदान करती है। आहूजा यह भी जांचते हैं कि दक्षिणी भारतीय स्थल रोमन, मिस्र, गंधारन और दक्षिण पूर्व एशियाई केंद्रों से कैसे जुड़े थे। सुरेशकुमार मुथुकुमारन का शोध प्राचीन यूरेशिया में लोगों के बीच बातचीत पर केंद्रित है, जिसमें लंबी दूरी की कनेक्टिविटी की जांच पर ध्यान केंद्रित किया गया है।
 

05 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
बैठक

05 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
फ्रंट लॉन

अकादमिक और लेखिका जोया चटर्जी की नई किताब, शैडोज़ एट नून, बीसवीं शताब्दी में दक्षिण एशियाई इतिहास के प्रमुख पहलुओं की पड़ताल करती है| राष्ट्रवाद, प्रवास, भोजन और स्वयं की खोज के विषयों के माध्यम से बुनी गई कहानी विभाजन और स्वतंत्रता की कहानी और पाकिस्तान, बांग्लादेश और भारत के आधुनिक राष्ट्रों के गठन का अनुसरण करती है। प्रज्ञा तिवारी के साथ संवाद में, चटर्जी क्षेत्र की सांस्कृतिक, राजनीतिक और सामाजिक संरचना पर प्रकाश डालेंगी|
 

05 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
चारबाग

इमोगेन एडवर्ड्स-जोन्स के उपन्यास, द विचेस ऑफ सेंट पीटर्सबर्ग और द विच’स डॉटर शाही रूस के रहस्यों और गुप्त प्रथाओं को बयां करते हैं| द विचेस ऑफ सेंट पीटर्सबर्ग पिछली सदी के अंत में रूसी दरबार में काले जादू की एक ऐतिहासिक काल्पनिक गाथा है, जो मोंटेनिग्रिन राजकुमारियों की सच्ची कहानी पर आधारित है, जिन्होंने रूसी दरबार में शादी की और रासपुतिन को ज़ार और ज़ारिना से मिलवाया। इसकी अगली कड़ी, द विच’स डॉटर, राजकुमारी मिलित्ज़ा की बेटी, नादेज़्दा के कारनामों का वर्णन करती है, क्योंकि वह रासपुतिन की हत्या के बाद खतरनाक परिस्थितियों का सामना करती है और सबसे असाधारण और असामान्य परिस्थितियों में प्रिंस ओर्लोव के प्यार में पड़ जाती है। प्रसिद्ध शिक्षाविद सुज़ाना टोरेस के साथ संवाद में, इमोगेन अपनी किताबों और उन महिलाओं की कहानियों पर चर्चा करेंगी, जो खूनी क्रांति में डूबे साम्राज्य की राख से उठी हैं|
 

05 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
मुग़ल टेंट

   चूँकि ब्रिटेन भव्य परियोजनाओं के उन्माद में डूबा हुआ था, 1768 में रॉयल नेवी ने दक्षिण सागर में एक अभियान के लिए व्हिटबी कोलियर खरीदा। कोई भी अनुमान नहीं लगा सकता था कि वह ब्रिटिश अन्वेषण के इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण जहाज बन जाएगा| उसका नाम ‘एंडेवर’ था| इतिहासकार और लेखक पीटर मूर की किताब, एंडेवर: द शिप एंड द एटीट्यूड दैट चेंज्ड द वर्ल्ड, ब्रिटिश अन्वेषण के इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण जहाज की एक ज्वलंत जीवनी प्रस्तुत करती है। इतिहासकार और ब्रॉडकास्टर क्लेयर राइट के साथ संवाद में मूर इससे जुड़े कई दिलचस्प किस्से प्रस्तुत करेंगे|

05 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
दरबार हॉल

लिकला द्वारा लिखित और रोहिना थापर और शांभवी ठाकुर द्वारा डिज़ाइन किया गया, आई स्पाई: इंडिजिनस आर्ट्स, पूरे भारत में लोक और आदिवासी कला परंपराओं का एक जादुई संग्रह है। आठ स्वदेशी चित्रकला परंपराओं के जादू को एक साथ लाते हुए, चित्रण कथा उन उत्पत्ति, कहानियों, तकनीकों और कलाकारों की पड़ताल करती है जिन्होंने इन परंपराओं को देश भर में जीवित रखा है।
 

05 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
बैठक

05 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
चारबाग

05 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
दरबार हॉल

05 Feb | 05:30 PM - 07:00 PM
फ्रंट लॉन

गुरूवार, 1 फ़रवरी

01 Feb | 09:00 AM - 09:40 AM
फ्रंट लॉन

प्रात: संगीत

01 Feb | 09:50 AM - 10:50 AM
फ्रंट लॉन

01 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
फ्रंट लॉन

हरदिल अजीज़ शायर, गुलज़ार साहब अपने नये काव्य-संग्रह के माध्यम से एक बार फिर से अपना जादू चलाने को तैयार हैं| उनके काव्य संग्रह, बाल--पर का अंग्रेजी अनुवाद, पुरस्कृत अनुवादक और लेखिका, रख्शंदा जलील ने किया है| बाल--पर गुलज़ार साहब के छह कविता संकलनों का संग्रह है| द्विभाषी इस संकलन में मूल और अनुवाद साथ-साथ चलता है, और ये गुलज़ार साहब काव्यात्मक सफ़र की सुहानी पेशकश है| इस विशाल संकलन में समस्त मानवीय भावों की तस्वीर है| भूतपूर्व राजनयिक और लोकप्रिय लेखक पवन के.वर्मा से संवाद में गुलज़ार साहब और रख्शंदा हमें सुरों के अनुपम सफ़र पर ले चलेंगे|   

01 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
फ्रंट लॉन

 रघुराम राजन और रोहित लाम्बा के सह-लेखन में लिखी, ब्रेकिंग मोल्ड: रीइमेजनिंग इकोनोमिक फ्यूचर, भारत की अर्थव्यवस्था से जुड़े कुछ मुश्किल सवालों को उठाती है| किताब में कुछ ऐसी रणनीतियां भी प्रस्तावित हैं, जिनसे भारत की अर्थव्यवस्था को उछाल दिया जा सकता है, जैसे मानव-पूँजी में निवेश करके, उच्च-दक्षता सर्विस में विस्तार करके, और तकनीक से जुड़े नये उत्पादों के माध्यम से| नौशाद फ़ोर्ब्स के संग संवाद में, वे भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास की बारीकियों और ग्लोबल इकोनॉमी पर अपने विचार व्यक्त करेंगे|

01 Feb | 1:00 PM - 1:50 PM
फ्रंट लॉन

क्रिकेट सही मायनों में भारतियों का धर्म है| बीते सालों के साथ खेल की भावना और अभ्यास दोनों ही बदल गए हैं, लेकिन एक जुनून ने अभी भी देश की पीढ़ियों और क्षेत्रों को साथ में बांधा हुआ है। लेखक, टिप्पणीकार, कोच और पूर्व क्रिकेटर, वेंकट सुंदरम की नई किताब, इंडियन क्रिकेट: देन एंड नाउ, खेल पर क्रिकेटरों और प्रमुख लेखकों के पचास लेखों का संग्रह है, जो महान क्रिकेटरों की विरासत को साझा करते हुए, भारत के क्रिकेट इतिहास के महत्वपूर्ण क्षणों का वर्णन करती है। पूर्व सिविल सेवक, पत्रकार, और लंबे समय तक भारतीय क्रिकेट प्रशासक और अंपायर, अमृत माथुर का संस्मरण, पिचसाइड: माई लाइफ इन इंडियन क्रिकेट, भारतीय क्रिकेट के परिवर्तनकारी दौर का एक व्यापक दृश्य प्रस्तुत करता है| दोनों के बीच हुई बातचीत क्रिकेट का दिलचस्प ब्यौरा प्रस्तुत करेगी| उद्यमी और गॉड्स ऑफ विलो के लेखक अमरीश कुमार के साथ बातचीत में, वे अपनी किताबों, अनुभवों और उस खेल के उपाख्यानों पर चर्चा करेंगे, जिसने वर्षों से खेल जगत को नियंत्रित किया है।

01 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
फ्रंट लॉन

इस सत्र में वक्ता ऐतिहासिक वास्तविकता और सैद्धांतिक आदर्शवाद और चुनावी प्रक्रिया की वास्तविकता के बीच संघर्ष की पड़ताल करेंगे| लेखक और अकादमिक यास्चा मॉनक की किताब, ग्रेट एक्सपेरिमेंट इतिहास, सामाजिक मनोविज्ञान और तुलनात्मक राजनीति पर आधारित है, जो सभी को खुश करने वाले एक समरूप समाज बनाने के तरीकों पर बात करती है। भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त और लेखक एस वाई क़ुरैशी की किताब, इंडियाज़ एक्सपेरिमेंट विद डेमोक्रेसी उन मूलभूत सिद्धांतों का मूल्यांकन करती है जो राष्ट्रीयता, नागरिकता और लोकतंत्र के विचारों के लिए मंच तैयार करते हैं। गिरीश कुबेर लोकसत्ता के संपादक हैं। मंदिरा नायर के साथ संवाद में, वे युद्ध, संघर्ष और बहुजातीय संघर्ष से टूटी हुई दुनिया में लोकतांत्रिक प्रथाओं के पोषण की जटिलताओं पर चर्चा करेंगे|

01 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
फ्रंट लॉन

अमेरिकी लेखिका और कॉपीराइटर, बोनी गार्मुस का पहला उपन्यास, लेसंस इन कैमिस्ट्री एक हताश कैमिस्ट के गिर्द घूमता है, जब वो अचानक खुद को एक कुकिंग शो में पाती है, जो 1960 के दशक के अमेरिका में क्रान्ति की चिंगारी लगा देता है| उपन्यास की नायिका, एलिज़ाबेथ जोट, पुरुषवादी समाज में अपनी पहचान की जंग लड़ती है| बी रोलेट के साथ संवाद में, गार्मुस अपने उपन्यास के महत्त्व और प्रासंगिकता पर बात करेंगी|

01 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
फ्रंट लॉन

बेस्टसेलिंग लेखक अमीश और उनकी बहन भावना रॉय ने अपनी नई किताब, आइडल्स: अनअर्थिंग पावर ऑफ मूर्ति पूजा में मूर्तिपूजा के वास्तविक अर्थ से जुड़े ज्वलंत सवालों को उठाया है| किताब में उन्होंने मिथकों और धार्मिक ग्रंथों की सरल, व्यावहारिक व्याख्याओं के माध्यम से इष्ट देवता और भक्ति के सार की खोज की है| सत्यार्थ नायक के साथ संवाद में, वे मूर्ति पूजा के प्रतीकात्मक और गहरे अर्थों और हमारे भीतर और बाहर देवत्व की खोज पर चर्चा करेंगे।

01 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
फ्रंट लॉन

01 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
फ्रंट लॉन

कॉमेडियन और अभिनेता कनन गिल का पहला उपन्यास, एक्ट्स ऑफ गॉड, मानव अस्तित्व, विविधता और जीवन के सवालों को एक साथ जोड़ता है। संवाद में गिल अपने चिर-परिचित अंदाज में अपने हास्य और लेखकीय जीवन की झलक देंगे|
 

शुक्रवार, 2 फ़रवरी

02 Feb | 09:00 AM - 09:40 AM
फ्रंट लॉन

प्रात: संगीत: फिल स्कार्फ

फिल स्कार्फ, प्रियांक कृष्णा और अनूप बनर्जी

प्रस्तुति: ब्लूवन इंक

02 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
फ्रंट लॉन

पुलित्ज़र  पुरस्कार से सम्मानित लेखक, हेर्नन डिआज़ की नई किताब, ट्रस्ट धन के गिर्द बुने मिथक की बात करती है| महामंदी से पहले के वर्षों में वॉल स्ट्रीट बिजनेसमैन और उसकी पत्नी की कहानी के विभिन्न संस्करणों के बाद, उपन्यास आत्म-धोखे के लिए मानवीय कमजोरी को आश्चर्यजनक ढंग से पकड़ता है। वर्ष 2023 के पुलित्ज़र पुरस्कार जीतने वाले इस उपन्यास पर जल्द ही एक टीवी सीरिज बनने वाली है| कला समीक्षक और लेखिका कैटी कितामुरा से संवाद में, डिआज़ ट्रस्ट यानी विश्वास को नैतिक गुण और वित्तीय प्रबंधन की नज़र से देखेंगे|  

02 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
फ्रंट लॉन

क्या होता है जब किसी किरदार के फैसले पूरे वर्णन को ही बदल देते हैं?
क्या होता है जब किसी एक्शन का डोमिनो इफेक्ट पड़ता है?
 
ऐसे नायकों और साहित्यिक किरदारों को समर्पित एक सत्र, जिनके फैसलों ने पूरी कहानी बदलकर रख दी| जेसीबी प्राइज फॉर लिटरेचर 2023 में शोर्टलिस्टेड किताबों के लेखक और अनुवादक उन आवाज़ों की बात करेंगे, जिनको खुद उन्हें जुबान दी|

02 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
फ्रंट लॉन

राजनयिक, लेखक, पब्लिक इंटेलेक्चुअल और अकादमिक गोपालकृष्ण गांधी की नई किताब, आई एम एन ऑर्डिनरी मैन, उनकी पिछली किताब, रेस्टलेस एज मर्करी: माय लाइफ एज ए यंग मैन के आगे की कहानी कहती है| कहानी मोहनदास करमचंद गांधी के भारत लौटने से शुरू होती है – उनकी आशाएं, चुनौतियाँ, जेल का दौरा, परिवार के साथ उनके सम्बन्ध, इत्यादि – और उनके अपने शब्दों में लिखे गए उनके आखरी दिन से ख़त्म होती है| संजॉय के. रॉय के साथ संवाद में, गांधी अपनी किताब से चुनिन्दा अंशों को पढेंगे और वर्तमान में गांधी की प्रासंगिकता पर चर्चा करेंगे|

02 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
फ्रंट लॉन

गुलज़ार साहब सबके चहेते कवि और गीतकार हैं। उनका हास्य, संवेदनशीलता और सहानुभूति पीढ़ियों के दिलों को छू जाती है। यतीन्द्र मिश्र की नई किताब, गुलज़ार साहब हमें उनके जीवन और समय की यात्रा पर ले जाती है। दो दशकों में सावधानीपूर्वक रिकॉर्ड की गई बातचीत पर आधारित, सत्या सरन द्वारा अंग्रेजी में अनुवादित, मिश्र की किताब गुलज़ार साहब की प्रतिभा को एक श्रद्धांजलि है।

02 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
फ्रंट लॉन

अमूर नदी रूस और चीन के बीच अत्यधिक विवादित सीमा बनाती है। यह पृथ्वी पर सबसे घनी किलेबंद सीमा है और दोनों देशों के इतिहास के साथ-साथ उनके अनूठे संबंधों का भी प्रतिनिधित्व करती है। यात्रा लेखन के लिए पुरस्कृत कॉलिन थुब्रों ने अपनी लोकप्रिय किताब, अमूर रिवर: बिटवीन रशिया एंड चाइना में अमूर की नाटकीय यात्रा का वर्णन किया है| किताब में इसके गुप्त स्रोत से लेकर लगभग 3,000 मील के विस्तार तक का सफ़र है। इतिहासकार और लेखक पीटर फ्रैंकोपैन के साथ संवाद में थुब्रों विविध लोगों, जलवायु और इलाकों के बीच से गुजरने वाली इस नदी के तत्काल इतिहास और वैश्विक भू-राजनीति पर इसके प्रभाव की पड़ताल करेंगे|


 

02 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
फ्रंट लॉन

पहला उपन्यास हमेशा सबसे कठिन होता है| तीन डब्यू लेखक साहित्यिक समीक्षक मेर्वे एमरे से संवाद में अपनी लेखन प्रक्रिया के विषय में बताएँगे|

02 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
फ्रंट लॉन

एक ज़रूरी सत्र जो दुनिया और उसमें भारत के स्थान पर नजर डालता है। एक संस्कृति के रूप में, भारत ने सदियों के आक्रमणों, प्रवासन और सामाजिक परिवर्तन के बावजूद अपनी मूल पहचान बरकरार रखी है। इस निरंतरता के पीछे मूल तत्व क्या है और वे कौन से कारक हैं जिन्होंने इसे पोषित किया है। मनमोहन वैद्य राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह और वी एंड द वर्ल्ड अराउंड के लेखक हैं। बद्री नारायण साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता कवि, निबंधकार और स्कूल ऑफ सोशल साइंसेज, जेएनयू में प्रोफेसर हैं और उत्तरी भारत की राजनीतिक समझ और निर्माण पर काम करते हैं। लेखक, राजनीतिज्ञ और पूर्व राजनयिक पवन के. वर्मा ने भारत और भारतीय सभ्यतागत मूल्यों पर विस्तार से लिखा है। पत्रकार मंदिरा नायर के साथ संवाद में, वे भारत के विचार और बदलती दुनिया में इसके स्थान पर चर्चा करेंगे।

02 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
फ्रंट लॉन

02 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
फ्रंट लॉन

शनिवार, 3 फ़रवरी

03 Feb | 09:00 AM - 09:40 AM
फ्रंट लॉन

प्रात: संगीत: The Trio One World

03 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
फ्रंट लॉन

पुलित्ज़र पुरस्कार विजेता केय बर्ड अपने लेखन और साहित्यिक सफ़र पर बात करते हैं| स्वर्गीय मार्टिन जे.शेर्विन बर्ड के साथ लिखी उनकी किताब अमेरिकन प्रोमिथेउस: द ट्राइंफ एंड ट्रेजेडी ऑफ़ जे. रोबर्ट ओपेन्हाईमर, जिसने क्रिस्टोफर नोलन को ओपेन्हाईमर फिल्म बनाने के लिए प्रेरित किया| बर्ड को संयुक्त राज्य अमेरिका-मध्य पूर्व के राजनीतिक संबंधों और जिमी कार्टर जैसी राजनीतिक हस्तियों की जीवनियों के लिए भी जाना जाता है।

03 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
फ्रंट लॉन

03 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
फ्रंट लॉन

एक सत्र न्याय के विचार के नाम|
उड़ीसा हाईकोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति एस. मुरलीधर ने लगभग दो दशकों तक भारत के सर्वोच्च न्यायालय और दिल्ली उच्च न्यायालय में वकालत की है। न्यायमूर्ति मदन बी. लोकुर वर्तमान में फिजी के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश हैं, उन्हें भारत का अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल नियुक्त किया गया था, और वह दिल्ली उच्च न्यायालय में न्यायाधीश और भारत के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश भी रहे हैं। सीतल कलंत्री और अपर्णा चंद्रा की सह-लिखित पुस्तक, कोर्ट ऑन ट्रायल: ए डेटा-ड्रिवेन अकाउंट ऑफ द सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया, सुप्रीम कोर्ट और इसकी प्रक्रियाओं के सामने आने वाली चुनौतियों और परीक्षणों का निरीक्षण करती है| यह किताब सर्वोच्च न्यायालय का एक सिंहावलोकन प्रदान करती है और इसकी प्रभावशीलता में सुधार के लिए डेटा-संचालित सुझाव प्रस्तुत करती है। सर्वोच्च न्यायालय का समग्र विवरण प्रदान करने के लिए एक शानदार पैनल अतीत, वर्तमान और भविष्य के संदर्भ में संवाद करेगा|
 

03 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
फ्रंट लॉन

लेखक देवदत्त पट्टनायक की नई किताब, बाहुबली: 63 इनसाइट्स इनटू जैनिज़्म भारत के सबसे प्राचीन धर्मों में से एक की कहानियां, प्रतीक, रिवाज और विचारों को पेश करती है| दर्शनशास्त्र से ओत-प्रोत और चित्रों से सुसज्जित, यह किताब उन तीर्थंकरों की यात्राओं का वर्णन करती है, जो आदर्श प्राणी माने जाते थे, जो आस्था के कम-ज्ञात सिद्धांतों की जांच करते हुए मानवता को सत्य और मुक्ति का मार्ग दिखाते थे। इस सत्र में ये प्रसिद्ध कहानीकार धर्म और अध्यात्म की कई अनकही कहानियां प्रस्तुत करेंगे|
 

03 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
फ्रंट लॉन

03 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
फ्रंट लॉन

पन्नों पर लिखी कहानी को रुपहले पर्दे तक कैसे लाया जाता है? कामयाब लेखक बोनी गार्मुस, केय बर्ड, बेन मकिन्त्रे और निकोलस शेक्सपियर पन्ने से पर्दे तक के इसी गुर की बारीकियां बताएंगे| लिटरेरी एजेंट चार्ल्स कोलिएर के साथ संवाद कला के इस रूप पर गहराई से बात होगी|

03 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
फ्रंट लॉन

क्या समान विचारधारा वाले देश नियम-आधारित वैश्विक व्यवस्था की रक्षा के लिए एक साथ रह सकते हैं? क्या QUAD के देश भू-राजनीतिक मजबूरियों और राजनीतिक अहंकार से आगे बढ़कर समान लक्ष्यों और हितों वाले भविष्य की ओर बढ़ सकते हैं? पत्रकार सुहासिनी हैदर ने भारत में अमेरिकी राजदूत, महामहिम एरिक गर्सेती; ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधानमंत्री, मैल्कम टर्नबुल; प्रसिद्ध लेखक और राजनीतिज्ञ शशि थरूर और भारत सरकार के पूर्व विदेश सचिव, श्याम सरन के साथ क्वाड और उसके परिणामों पर चर्चा करेंगी|
 

03 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
फ्रंट लॉन

03 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
फ्रंट लॉन

विलियम डेलरिम्पल के साथ सुशीला रमन और सैम मिल्स, विलियम ब्लेक की दूरदर्शी कविता का मंचन करेंगे| यह उनका नवीनतम प्रोजेक्ट है। ब्लेक अनगिनत कवियों, कलाकारों और दार्शनिकों के लिए प्रेरणा रहे हैं।
गीत में ब्लेक की अपनी शानदार, मूल सेटिंग के साथ, विलियम डेलरिम्पल उनके शब्दों को दोहराते हैं, जो ब्लेक के क्लासिक 'मैरिज ऑफ हेवन एंड हेल' से 'द वॉइस ऑफ द डेविल' बन जाते हैं। उनकी मृत्यु के दो शताब्दियों के बाद उनका उदात्त और उत्तेजक कार्य प्रत्येक नए युग के लिए खुद को पुनर्जीवित करता है।
 

रविवार, 4 फ़रवरी

04 Feb | 09:00 AM - 09:40 PM
फ्रंट लॉन

प्रात: संगीत: डॉ. कमला शंकर

प्रस्तुति: उत्साद इमामुद्दीन खान डागर, इंडियन म्यूजिक आर्ट एंड कल्चर सोसाइटी द्वारा प्रस्तुत। | ब्लूवन इंक

04 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
फ्रंट लॉन

वर्ष 2023 के लिए इंटरनेशनल बुकर प्राइज जीतने वाले, बुल्गेरियाई लेखक, गोर्गी गोस्पोदिनोव का उपन्यास, टाइम शेल्टर बताता है कि लोग किस तरह एक नकली बुने हुए अतीत में शरण ले लेते हैं| इस किताब का अंग्रेजी में अनुवाद एंजेला रोडल ने किया है| नंदिनी नायर के साथ संवाद में, वह अपनी किताब और उन निजी व राजनीतिक अनुभवों के बारे में बताएँगे, जिसने उन्हें ये किताब लिखने के लिए प्रेरित किया|
 

04 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
फ्रंट लॉन

वैदिक मंक साध्वी भगवती सरस्वती की किताब, हॉलीवुड टू द हिमालयाज: ए जर्नी ऑफ हीलिंग एंड ट्रांसफॉर्मेशन बेस्टसेलर है। साध्वीजी ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से मनोविज्ञान में पीएचडी की और सत्ताईस वर्षों से अधिक समय से परमार्थ निकेतन, ऋषिकेश में पवित्र गंगा के तट पर रह रही हैं, जहां वह आध्यात्मिक शिक्षा देती हैं, लिखती हैं और महिला नेतृत्व की एक अनूठी आवाज के रूप में कार्य करती हैं। वे विभिन्न मानवीय परियोजनाओं की देखरेख करती हैं, जिसके लिए उन्हें राष्ट्रपति बाईडेन द्वारा लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से सम्मानित किया गया। मीडिया प्रोफेशनल और एनर्जी हीलर पुनीता रॉय के साथ एक प्रेरणादायक सत्र में, वह अपनी आध्यात्मिक प्रथाओं और ज्ञान शिक्षण पर चर्चा करेंगी|

04 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
फ्रंट लॉन

लेखक और साहित्यिक इतिहासकार पेरुमाल मुरुगन का नया उपन्यास, फायर बर्ड, जिसका तमिल से अंग्रेजी में जननी कन्नन द्वारा अनुवाद किया गया है| इस उपन्यास को 2023 जेसीबी प्राइज फॉर लिटरेचर से सम्मानित किया गया| इसका कथानक स्वयं मुरुगन के जीवन के विस्थापन और आंदोलन के अनुभवों से लिया गया है| प्रकाशक कन्नन सुंदरम और मानसी सुब्रमण्यम के साथ संवाद में, वह लगातार बदलती दुनिया में जड़ों और अपनेपन की मानवीय इच्छा पर एक मार्मिक नज़र डालेंगे।
 

04 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
फ्रंट लॉन

लेखक और पत्रकार पैट्रिक रेडेन कीफ की धमाकेदार किताब, एम्पायर ऑफ़ पेन: द सीक्रेट हिस्ट्री ऑफ़ सक्लेर डायनेस्टी, परिवार की महत्वाकांक्षाओं और बेरहम तरीकों पर नज़र डालती है और ओक्सीकांटिन महामारी के दौरान उनकी भूमिका पर सवाल उठाती है| इस किताब को वर्ष 2021 बैली गिफर्ड अवार्ड से सम्मानित किया गया था| अमेरिकी नैतिकता और महत्वाकांक्षा पर एक परेशान करने वाली कहानी, यह गाथा पर्ड्यू फार्मा के मालिकों और मानव स्वास्थ्य के प्रति उनकी पूर्ण उपेक्षा की जांच करती है। सत्र संचालन करेंगी प्रज्ञा तिवारी|

04 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
फ्रंट लॉन

 शब्दों के धनी शशि थरूर हमें हमारे युग की चुटीली कहावतें प्रदान करते हैं। जोसेफ जकारियास के साथ सह-लिखित उनकी नई किताब, द लेस यू प्रीच, द मोर यू लर्न: एफोरिज्म्स फॉर अवर एज  मुकाबला करने, जीवित रहने और सफल होने पर संक्षिप्त और सारगर्भित जीवन सबक देती है। बेस्टसेलिंग लेखक प्रेरक रूप से उन तरीकों को साझा करते हैं जिनसे हम निराशा, असुरक्षा पर विजय पा सकते हैं और अपने दोस्तों और परिवार के साथ संबंधों को बेहतर बना सकते हैं।
 

04 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
फ्रंट लॉन

इतिहासकार और लेखक पीटर फ्रैंकोपन की नई किताब, द अर्थ ट्रांसफोर्मेड: एन अनटोल्ड हिस्ट्री बताती है कि किस तरह से जलवायु परिवर्तन ने विकास पर प्रभाव डाला है| फ्रैंकोपन बताते हैं कि कैसे प्रकृति ने हमेशा इतिहास के लेखन में एक मौलिक भूमिका निभाई है और प्रकृति के आदेश पर सभ्यताओं के पतन का मूल्यांकन किया है। सत्र संचालन करेंगे युवान आवेस|

04 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
फ्रंट लॉन

अनकॉमन लव  चित्रा बनर्जी दिवाकरुनी द्वारा लिखी गई एक दिल को छू लेने वाली जीवनी है| उन्होंने सुधा मूर्ति और नारायण मूर्ति की शादी और शादी से पहले के शुरुआती दिनों को अपनी किताब में दर्ज किया है| मूर्ति युगल की ये प्रेम कहानी वास्तव में इनफ़ोसिस की स्थापना की कहानी भी है| ये इकलौती ऐसी किताब है, जहाँ खुद मूर्ति युगल ने हिस्सा लिया है, लेखिका के साथ बैठकर लम्बे साक्षात्कार दिए और अपने जिंदगी को बयां किया है| प्रियंका खन्ना के साथ संवाद में वे उन कहानियों की चर्चा करेंगे, जो प्रेरक थीं, और उनमें दर्द भी था, मानवीय संवेदनाएं थीं, जिन्होंने उनके चरित्र, उनकी सफलता, उनके परोपकार को आयाम दिया|
 

04 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
फ्रंट लॉन

04 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
फ्रंट लॉन

अभिनेता इरफ़ान खान के जबरदस्त अभिनय ने भारतीय सिनेमा में तूफान ला दिया। नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के दिनों से लेकर टेलीविजन में उनके लगभग एक दशक लंबे कार्यकाल और द नेमसेक, लाइफ ऑफ पाई, मकबूल और हिंदी मीडियम जैसी पथप्रदर्शक फिल्मों में अपने अभिनय से इरफ़ान ने सभी को प्रभावित किया। फिल्म समीक्षक और लेखिका शुभ्रा गुप्ता की इरफ़ान: ए लाइफ इन मूवीज़  उनके समकालीन लोगों के साथ बातचीत और किंवदंती के साथ उनके समय की यादों का एक संग्रह है। अपनी प्रिय पत्नी और थिएटर अभिनेत्री सुतपा सिकदर और फिल्म निर्माता विशाल भारद्वाज के साथ संवाद में वे इरफान की कला, शिल्प और जीवन पर चर्चा करेंगी| सत्र संचालन करेंगी सत्या सरन|
 

सोमवार, 5 फ़रवरी

05 Feb | 09:00 AM - 09:40 AM
फ्रंट लॉन

प्रात: संगीत: सप्तक चटर्जी

प्रस्तुति: ब्लूवन इंक

05 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
फ्रंट लॉन

भारतीय उपमहाद्वीप के भौगोलिक, सामाजिक और राजनीतिक परिदृश्य में दिल्ली ने हमेशा एक अभिन्न भूमिका निभाई है। स्वप्ना लिडले की नई किताब, ब्रोकन स्क्रिप्ट पिछले दो मुगल सम्राटों और ईस्ट इंडिया कंपनी के बीच जटिल संघर्ष को बयां करती है, जिनमें से एक के पास महज प्रतीकात्मक अधिकार था, दूसरे के पास तेजी से बढ़ती सैन्य और राजनीतिक शक्ति थी। इतिहासकार और लेखिका राणा सफ़वी की ट्राइलॉजी -- शाहजहानाबाद: द लीविंग सिटी ऑफ़ ओल्ड देल्ही; द फॉरगॉटन सिटीज ऑफ़ देल्ही; और व्हेयर स्टोन्स स्पीक: हिस्टोरिकल ट्रेल्स इन महरौली, द फर्स्ट सिटी ऑफ़ दिल्ली -- अपने किलों और इमारतों, अतीत की भव्यता और संघर्ष के जीवित स्मारकों के माध्यम से शहर की भव्यता पर एक सूक्ष्म नज़र डालती है। इतिहासकार, फेस्टिवल के को-डायरेक्टर और द लास्ट मुगल के लेखक विलियम डेलरिम्पल के साथ संवाद में, वक्ता पुरानी मुगल राजधानी की गलियों की सैर कराएंगे|
 

05 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
फ्रंट लॉन

मनुष्य मूल रूप से एक प्रवासी प्रजाति है, जो किसी भी अन्य जीव की तुलना में सबसे ज्यादा अप्रवास करते हैं, लेकिन फिर भी प्रवासन हमारे समय के सबसे विवादास्पद विषयों में से एक है। एक अनूठा सत्र जो दुनिया के अंतर्संबंधों को बेहतर ढंग से समझने के लिए समय-समय पर मनुष्यों और फसलों दोनों के प्रवास पर चर्चा करेगा। सैम मिलर की नई किताब, माइग्रेंट्स: द स्टोरी ऑफ अस ऑल, मानव प्रजाति का खानाबदोश रूप प्रस्तुत करती है| इतिहासकार और लेखक सुरेशकुमार मुथुकुमारन की किताब, ट्रॉपिकल टर्न, प्राचीन मध्य पूर्व और भूमध्य सागर में चावल और कपास से लेकर खट्टे फल और खीरे जैसी एशियाई फसलों के शुरुआती इतिहास का वर्णन करती है। लेखिका आरती प्रसाद के साथ संवाद में, वे उन आकर्षक तरीकों का पता लगाएंगे जिनसे दुनियाभर में आंदोलन ने आधुनिक दुनिया में एक अद्वितीय पारिस्थितिक, सांस्कृतिक और सामाजिक ताने-बाने का निर्माण किया है।
 

05 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
फ्रंट लॉन

शर्मिष्ठा मुखर्जी की चर्चित जीवनी, प्रणब माई फादर: ए डॉटर रिमेम्बर्स पूर्व राजनेता और भारत के तेरहवें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के शानदार जीवन की एक आकर्षक झलक पेश करती है। उनकी डायरी प्रविष्टियों, शर्मिष्ठा को सुनाई गई व्यक्तिगत कहानियों और उनके स्वयं के शोध के आधार पर, यह व्यापक कथा प्रणब मुखर्जी के व्यक्तिगत और राजनीतिक जीवन को जोड़ती है| यह हमें मुखर्जी के जीवन में आमंत्रित करती है और प्रणब के राजनीतिक करियर के अब तक अज्ञात पहलुओं, उनकी अधूरी महत्वाकांक्षाओं और प्रमुख राजनेताओं के साथ उनकी निजी बातचीत को उजागर करती है| वीर सांघवी के साथ संवाद में, शर्मिष्ठा अपने काम में व्यस्त रहने वाले और धार्मिक बाबा के बारे में बात करेंगी, जो खाने की मेज पर घटनाओं को सुनाते थे और जिन्होंने कभी भी उन पर अपनी आस्था या विश्वास थोपने की कोशिश नहीं की।
 

05 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
फ्रंट लॉन

पुरस्कृत पत्रकार सोहिनी चट्टोपाध्याय की नई किताब, द डे आई बिकम ए रनर, आठ महिला एथलीटों की सम्मोहक कहानियाँ प्रस्तुत करती है और स्वतंत्र भारत के पूरे इतिहास को दर्शाती है। यह भारतीय गणराज्य का एक प्रेरणादायक वैकल्पिक विवरण है, जो इसकी महिला एथलीटों के माध्यम से दर्ज किया गया है। उपन्यासकार अमृता त्रिपाठी के साथ संवाद में, वे उन मार्मिक तरीकों पर चर्चा करेंगे, जिनसे इन महिलाओं ने पितृसत्तात्मक मानदंडों को चुनौती दी और धावकों का एक भाईचारा बनाया।
 

05 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
फ्रंट लॉन

लोकप्रिय लेखक और इतिहासकार विंसेंट ब्राउन की शानदार थ्रिलर, टैकी’ज़ रिवोल्ट: द स्टोरी ऑफ़ एन अटलांटिक स्लेव वॉर अटलांटिक दास व्यापार पर आधारित है। ब्रिटिश अटलांटिक दुनिया के शाही शासन को उखाड़ फेंकने वाले मौलिक विद्रोह, जिसे अंततः टैकी के विद्रोह के रूप में जाना जाता है, की कहानी इस किताब में दर्ज है| यह किताब वैकल्पिक परिप्रेक्ष्य की पेशकश करते हुए उत्पीड़न और गुलामी के विवादास्पद माहौल की पड़ताल करती है। घटित घटनाओं के बारे में, उत्पीड़न के क्रूर और अमानवीय तरीकों और विरोध करने वालों के लचीलेपन पर एक बेबाक नज़र के साथ। द शुगर बैरन्स के लेखक, इतिहासकार मैथ्यू पार्कर के साथ संवाद में, ब्राउन यूरोप, अफ्रीका और अमेरिका के परस्पर विरोधी इतिहास को जोड़ने वाली जटिल कथाओं को उजागर करेंगे|
 

05 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
फ्रंट लॉन

इस सत्र में दो शानदार लेखकों की लेखन शैली और प्रक्रिया पर बात होगी| केटी किटामुरा का उपन्यास इंटिमेसीज़ नैतिक दुविधाओं से विकृत दुनिया पर एक गहन टिप्पणी प्रस्तुत करता है। इस उपन्यास को नेशनल बुक अवार्ड फॉर फिक्शन के लिए लॉन्गलिस्ट किया गया था, यह नैतिक दुविधा से विकृत समाज की बात करता है| वर्ल्ड कोर्ट में एक दुभाषिया की कहानी, जिसका जीवन अपने प्रेमी के विश्वासघात और मानवता के खिलाफ अपराधों के आरोपी एक गिरफ्तार राष्ट्रपति के बीच उलझता है। स्काई आर्ट्स लिटरेचर अवार्ड से सम्मानित मोनिका अली की नई किताब, लव मैरिज दो परिवारों की एक नाटकीय सगाई के कारण साथ आने की कहानी है। यह प्रेम और विवाह संस्था के सामाजिक और सांस्कृतिक तनाव की एक मनोरंजक कहानी प्रस्तुत करता है। बी रोलेट के साथ संवाद में, वे अपने किरदारों और कथाशिल्प की बात करेंगी|

05 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
फ्रंट लॉन

अकादमिक और लेखिका जोया चटर्जी की नई किताब, शैडोज़ एट नून, बीसवीं शताब्दी में दक्षिण एशियाई इतिहास के प्रमुख पहलुओं की पड़ताल करती है| राष्ट्रवाद, प्रवास, भोजन और स्वयं की खोज के विषयों के माध्यम से बुनी गई कहानी विभाजन और स्वतंत्रता की कहानी और पाकिस्तान, बांग्लादेश और भारत के आधुनिक राष्ट्रों के गठन का अनुसरण करती है। प्रज्ञा तिवारी के साथ संवाद में, चटर्जी क्षेत्र की सांस्कृतिक, राजनीतिक और सामाजिक संरचना पर प्रकाश डालेंगी|
 

05 Feb | 05:30 PM - 07:00 PM
फ्रंट लॉन

गुरूवार, 1 फ़रवरी

01 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
चारबाग

03. प्रोफेट सोंग

पॉल लिंच संग संवाद नंदिनी नायर; परिचय: केविन केली, भारत में आयरलैंड के राजदूत

सपोर्टेड बाय एम्बेसी ऑफ़ आयरलैंड

लेखक पॉल लिंच का बुकर प्राइज 2023 से सम्मानित उपन्यास, प्रोफेट सोंग, हाशिये पर खड़े समाज का एक उत्तेजक, प्रेरक और टकरावपूर्ण वर्णन है| एक महिला द्वारा अपने परिवार को बचाने की इस कहानी में आयरलैंड के पितृसत्तात्मक और तानाशाह समाज की झलक है| यह कहानी आज़ादी और अभिव्यक्ति की है| नंदिनी नायर के साथ संवाद में, लिंच अपने लेखन की बारीकियों के साथ ही, एक परिवार को जोड़ने में माँ के संघर्ष को भी बयां करेंगे|
 

01 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
चारबाग

बी. जेयामोहन एक तमिल और मलयालम लेखक व साहित्य समीक्षक हैं, जो मिथक, दर्शन और कल्पना पर लिखते हैं| जयमोहन का विस्तृत और विविध लेखन भारत की समृद्ध साहित्यिक शास्त्रीय परंपराओं के सार की जांच और व्याख्या करता है। आपने कई तमिल फिल्मों की पटकथा लिखी है, जिनमें हाल ही में रिलीज हुई फिल्म, पोन्नी सेल्वन भी शामिल है| लेखिका और अनुवादक सुचित्रा रामचंद्रन ने जेयामोहन की एज्हाम उलागम का अंग्रेजी में अनुवाद किया| लेखिका अंजुम हसन के साथ बातचीत में, वे अपने समृद्ध लेखकीय जीवन और अनुवाद की कई बारीकियों के माध्यम से खोजे गए बहुस्तरीय आख्यानों पर चर्चा करेंगे।

01 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
चारबाग

01 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
चारबाग

प्रधानमंत्री बनकर एक देश की नियति निर्धारण करना कैसा होता है? ऑस्ट्रेलिया के भूतपूर्व प्रधानमंत्री, माल्कोल्म टर्नबुल, लेखक और भूतपूर्व राजनयिक नवदीप सूरी के साथ संवाद में अपने कार्यकाल और उसमें लिए गए महत्वपूर्ण निर्णयों पर चर्चा करेंगे| 
 

01 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
चारबाग

किसी दूसरे के जीवन को समझकर उन्हें पन्नों पर कैसे दर्ज किया जाता है? किसी और की कहानी में डूबकर, इतिहास को खंगालकर, उसे जीवंत कैसे किया जाता है? इस सत्र में महान जीवनीकार एकत्र होकर, जीवनी लेखन की बारीकियों की चर्चा करेंगे| वे बताएँगे कि इस राह में उन्हें किन चुनौतियों का सामना करना पड़ता है|

शुक्रवार, 2 फ़रवरी

02 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
चारबाग

42. द ओरिएंट आइल

जेरी ब्रोटों संग संवाद विलियम डेलरिम्पल

इतिहासकार, लेखक और ब्रॉडकास्टर जेरी ब्रोटों की किताब, द ओरिएंट आइल, मुस्लिम समाज के साथ इंग्लैंड के रिश्ते और उसके व्यापारिक व राजनीतिक प्रभाव की बात करती है| व्यक्तिगत बातचीत के आधार पर इसमें दर्ज कहानियां एक समृद्ध टेपेस्ट्री का हिस्सा हैं, जो अंततः उस समय की भूराजनीति द्वारा निर्देशित थी। इतिहासकार, लेखक और फेस्टिवल के को-डायरेक्टर विलियम डेलरिम्पल के साथ संवाद में, ब्रोटों उन राजनीतिक, सांस्कृतिक और सामाजिक अनिवार्यताओं पर बात करेंगे, जिन्होंने पूर्व और पश्चिम में साझा इतिहास के लिए जमीन तैयार की।

02 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
चारबाग

02 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
चारबाग

02 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
चारबाग

02 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
चारबाग

बेस्टसेलिंग इतिहासकार बेन मकिन्त्रे की नई नॉन-फिक्शन किताब, कोल्दित्ज़: प्रिज्नर्स ऑफ़ कैसल इतिहास की सबसे बदनाम जेल की सच्ची कहानी है| द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान मित्र देशों के अधिकारियों के लिए युद्ध शिविर की जेल के रूप में कोल्डिट्ज़ को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनामी मिली| द्वितीय विश्व युद्ध के समय पर आधारित, मकिन्त्रे की किताब जेल और उसके भीतर कैद विश्व बंदियों और उनके रोमांचक पलायन की जीवनी प्रस्तुत करती है। लेखिका नारायणी बसु के साथ बातचीत में, मकिन्त्रे हमें जर्मन जेल की दीवारों के भीतर वास्तविक जीवन की जासूसी के बारे में गहराई से बताते हैं।    

शनिवार, 3 फ़रवरी

03 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
चारबाग

89. द पावर ऑफ़ मिथ

आनंद नीलकंठन संग संवाद सत्यार्थ नायक

प्रस्तुति: द वीक

लेखक, स्तंभकार और पटकथा लेखक आनंद नीलकंठन कहते हैं, "हर रामायण अलग है, हर महाभारत अलग है।" भारतीय महाकाव्यों को उनके विरोधियों के नजरिए से याद करते हुए, उन्होंने कहानियों की अद्भुत व्याख्याएं गढ़ीं, जो अपार संभावनाओं और अटूट पुनर्कथन की दुनिया को उजागर करती हैं। नीलकंठन लोकप्रिय कहानीकार हैं, जिन्होंने प्रसिद्ध बाहुबली त्रयी सहित तेरह किताबें लिखी हैं| उनके लेखन में उपन्यास, टेलीविजन शो, ऑडियो पुस्तकें और फिल्में शामिल हैं। इस सत्र में, नीलकंठन, नेशनल बेस्टसेलर, महागाथा - 100 टेल्स फ्रॉम द पुराण के लेखक सत्यार्थ नायक के साथ संवाद में मिथकों की अदम्य शक्ति और उनके भीतर मौजूद कहानियों पर चर्चा करेंगे|

03 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
चारबाग

 इतिहासकार और पुरातत्ववेत्ता जोसफिन कुइन की नई किताब, हाउ द वर्ल्ड मेड द वेस्ट, पश्चिम के बनने की कहानी है, जो 4000 सालों के इतिहास को कवर करती है| इतिहास के भीतर 'सभ्यताओं' के विचार पर सवाल उठाते हुए, कुइन एक दिलचस्प विचार प्रस्तुत करती हैं कि कैसे विशिष्ट और अलग-थलग सभ्यताओं के बजाय संपर्क और संबंध थे, जिन्होंने ऐतिहासिक परिवर्तन को प्रेरित किया। इतिहासकार और लेखक पीटर फ्रैंकोपैन और क्लासिकिस्ट और लेखिका मैरी बियर्ड के साथ संवाद में, कुइन ने 'पश्चिम' के विचार और समय में खो गए साझा इतिहास पर चर्चा करेंगी|
 

03 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
चारबाग

03 Feb | 1:00 PM - 1:50 PM
चारबाग

 भारत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों का एक संघ है, और केंद्र और राज्यों के बीच संबंध महत्वपूर्ण हैं। इस रिश्ते की व्याख्या अलग-अलग दृष्टिकोणों और अक्सर विवादास्पद रूप से की जाती है। राजनीतिज्ञ और लेखक शशि थरूर सहित एक प्रतिष्ठित पैनल; भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त नवीन चावला; और राजस्थान की पूर्व राज्यपाल मार्गरेट अल्वा इस विषय पर लेखक और अकादमिक वर्गीस के. जॉर्ज से संवाद करेंगे|

03 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
चारबाग

उपन्यासकार और पटकथाकार डेमो गल्गुट के द प्रॉमिस को 2021 में बुकर प्राइज से सम्मानित किया गया था| यह रंगभेद के बाद दक्षिण अफ्रीका की पृष्ठभूमि में, रिश्तों में पॉवर के खेल को दर्शाता है। एक श्वेत परिवार, बदलते समाज से परेशान होकर, एक खेत और एक विलंबित वादे को लेकर झगड़ता है। हिंसक अतीत, उथल-पुथल भरे राजनीतिक माहौल, बदलते समाज से जूझते साउथ अफ्रीका की पृष्ठभूमि में, गल्गुट ने संबंधों में संघर्ष की कहानी बुनी है| गल्गुट की अन्य किताबें हैं: ए सिनलेस सीजन, द गुड डॉक्टर और आर्कटिक समर | सत्र संचालन करेंगे अनीश गावंडे|
 

03 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
चारबाग

03 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
चारबाग

रविवार, 4 फ़रवरी

04 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
चारबाग

138. कॉमन यट अनकॉमन

सुधा मूर्ति संग संवाद मेरु गोखले

प्रस्तुति: राजस्थान पत्रिका

बुद्धिमान और हाजिरजवाब सुधा मूर्ति का लेखन विभिन्न विषयों और शैलियों को कवर करता है। उनकी नई किताब, कॉमन येट अनकॉमन, रोजमर्रा की जिंदगी और आम लोगों की विचित्रताओं और कमजोरियों की एक दिल छू लेने वाली तस्वीर है। संपादकीय और प्रकाशन सलाहकार मेरू गोखले के साथ संवाद में, वह अपने शानदार और असाधारण रूप से सफल जीवन के बारे में बात करेंगी|
 

04 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
चारबाग

प्रसिद्ध टेलीविजन प्रेजेंटर और लेखक रिचर्ड ओसमान की बेस्टसेलर क्राइम सीरीज, द थर्सडे मर्डर क्लब  की 3 मिलियन से अधिक प्रतियां बिक चुकी हैं| इनकी कहानी चार असंभावित दोस्तों के गिर्द घूमती है, क्योंकि वे अनसुलझी हत्याओं की जांच के लिए अपने शांतिपूर्ण सेवानिवृत्ति गांव में सप्ताह में एक बार मिलते हैं। सीरीज में द थर्सडे मर्डर क्लब, द मैन हू डाइड ट्वाइस, द बुलेट दैट मिस्ड और द लास्ट डेविल टू डाई शामिल हैं। अपराध लेखक वसीम खान के साथ संवाद में, ओसमान हत्या, रहस्य और तबाही की इस अपरंपरागत सत्तर वर्षीय दुनिया की गहराई में उतरेंगे|
 

04 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
चारबाग

कामयाब लेखिका कैथरीन रुंडेल की किताब, द गोल्डन मोल: एंड अदर लिविंग ट्रेजर  विश्व के दुर्लभ प्रजाति के जीवों की बात करती है| इस सत्र में युवान आवेस के साथ संवाद में कैथरीन हमें हमारी दुनिया की सुंदरता, उसकी नाजुकता और विचित्रता से आश्चर्यचकित होने और उससे प्रेम करने का अवसर देंगी|
 

04 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
चारबाग

04 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
चारबाग

यह सबसे अच्छा समय है; यह सबसे बुरा समय है. विज्ञान हमें छोटे से छोटे अणु से लेकर ब्रह्मांड के अंत तक, दुनिया की व्याख्या करने की अनुमति देता है। फिर भी हम एक-दूसरे से लड़ना जारी रखते हैं क्योंकि मानवीय लालच और अहंकार हमारे ग्रह के नाजुक संतुलन को नष्ट कर देते हैं। एक महत्वपूर्ण सत्र जो भू-राजनीति, इतिहास के बोझ, ग्रहीय चेतना और सरकारों, महाद्वीपों और संस्कृतियों के बीच सहयोग की तत्काल आवश्यकता को संबोधित करेगा|
 

04 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
चारबाग

हमारा प्लेनेट बहुत तेजी से बदल रहा है। समुद्र का स्तर बढ़ने और तापमान बढ़ने के साथ, दुनियाभर की सरकारों और उद्योगों ने जलवायु परिवर्तन से उत्पन्न चुनौतियों को कम करने के लिए प्रणालीगत कदम उठाना शुरू कर दिया है। सत्र में वक्ता इसके अधिक टिकाऊ, न्यायसंगत और जरूरी कार्रवाई पर चर्चा करेंगे, जो वैश्विक अर्थव्यवस्था में बदलाव ला रहा है।
 

04 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
चारबाग

04 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
चारबाग

04 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
चारबाग

 



 

सोमवार, 5 फ़रवरी

05 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
चारबाग

190. अराउंड द वर्ल्ड इन एट्टी गेम्स

मार्कस दू सौतोय, सत्र परिचय: संजॉय के. रॉय

प्रस्तुति सैमसंग गैलेक्सी टैब S9 सीरीज

लेखक, गणितज्ञ और प्रोफेसर मार्कस दू सौतोय की नई किताब, अराउंड द वर्ल्ड इन एट्टी गेम्स खेलों की उत्पत्ति और उन्हें आकर्षक बनाने वाली चीज़ों की खोज करते हुए दुनिया की सैर कराती है। गेम थ्योरी, गेमिफिकेशन, गेमिंग रणनीतियों और कंप्यूटर गेम के गणित पर आधारित, सौतोय की मनोरम किताब दुनिया भर की संस्कृतियों में मनोरंजक खेलों के आविष्कार के पीछे के रहस्यों को उजागर करती है। टेलीविज़न प्रेजेंटर और लेखक रिचर्ड ओस्मान संग संवाद में वे बोर्ड गेम्स, कार्ड गेम्स और डाइस गेम्स के पीछे छिपे गणित के विचार को सामने लाएंगे|
 

05 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
चारबाग

इंसानों और उनके पालतू जानवरों के बीच का रिश्ता एक गहरा और सार्थक बंधन है। पशु प्रेमियों का एक पैनल मनुष्यों और उनके सबसे अच्छे दोस्तों के बीच अटूट रिश्ते पर दिल छू लेने वाली कहानियां प्रस्तुत करेगा| वे हमारे जीवन को किस कद्र प्रभावित करते हैं और उनके चले जाने के बाद भी परिवार एक साथ जुड़े रहते हैं।
 

05 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
चारबाग

जब पहचान और लैंगिकता की सीमाएं धुंधला रही हैं, तब लेखक और कार्यकर्त्ता बताएंगे कि वो कौन हैं, और उनके इस सफ़र की शुरुआत कैसे हुई|
 

05 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
चारबाग

05 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
चारबाग

05 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
चारबाग

05 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
चारबाग

इमोगेन एडवर्ड्स-जोन्स के उपन्यास, द विचेस ऑफ सेंट पीटर्सबर्ग और द विच’स डॉटर शाही रूस के रहस्यों और गुप्त प्रथाओं को बयां करते हैं| द विचेस ऑफ सेंट पीटर्सबर्ग पिछली सदी के अंत में रूसी दरबार में काले जादू की एक ऐतिहासिक काल्पनिक गाथा है, जो मोंटेनिग्रिन राजकुमारियों की सच्ची कहानी पर आधारित है, जिन्होंने रूसी दरबार में शादी की और रासपुतिन को ज़ार और ज़ारिना से मिलवाया। इसकी अगली कड़ी, द विच’स डॉटर, राजकुमारी मिलित्ज़ा की बेटी, नादेज़्दा के कारनामों का वर्णन करती है, क्योंकि वह रासपुतिन की हत्या के बाद खतरनाक परिस्थितियों का सामना करती है और सबसे असाधारण और असामान्य परिस्थितियों में प्रिंस ओर्लोव के प्यार में पड़ जाती है। प्रसिद्ध शिक्षाविद सुज़ाना टोरेस के साथ संवाद में, इमोगेन अपनी किताबों और उन महिलाओं की कहानियों पर चर्चा करेंगी, जो खूनी क्रांति में डूबे साम्राज्य की राख से उठी हैं|
 

05 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
चारबाग

गुरूवार, 1 फ़रवरी

01 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
मुग़ल टेंट

04. म्यूजिकली स्पीकिंग: द कोर्ड्स ऑफ़ मुग़ल इंडिया

कैथरीन स्कोफिल्ड संग संवाद विद्या शाह और राणा सफवी

प्रस्तुति: रेड एफएम

 
इतिहासकार और लेखिका कैथरीन स्कोफिल्ड की नई किताब, म्यूज़िक एंड म्यूज़िशियन्स इन लेट मुग़ल इंडिया, उस समय के दौरान संगीत, संगीतकारों और उनके दर्शकों का एक नया इतिहास प्रदान करने के लिए नौ संगीतकारों के जीवन की कहानी बयां करती हैं| संगीतकार और लेखिका विद्या शाह और इतिहासकार और लेखिका राणा सफ़वी के साथ संवाद में, स्कोफील्ड उन तरीकों पर चर्चा करेंगी की, जिनसे मुगल संस्कृति ने ब्रिटिश शासन में राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक उथल-पुथल का जवाब दिया।
 

01 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
मुग़ल टेंट

  दो शानदार महिला उपन्यासकार, मंजू कपूर और देविका रेगे अपने नये उपन्यासों पर चर्चा करेंगी| द गैलरी में, कपूर चार महिलाओं के जीवन को आपस में जोड़ती हैं, जो अपने अलग-अलग रास्तों की चुनौतियों को सुलझाती हैं| कविता और संपत्ति की पृष्ठभूमि पर आधारित यह उपन्यास अकेलेपन और लालसा की बात करता है, और पूछता है कि एक महिला को अपने लिए खड़े होने के लिए क्या करना पड़ता है। देविका रेगे का पुरस्कृत डेब्यू उपन्यास क्वार्टरलाइफ़ एक महत्वपूर्ण आम चुनाव के बाद की पृष्ठभूमि पर आधारित है, जो भारत की राजनीतिक चेतना का एक तीखा दर्पण है। रेगे की कथा का आर्क उसके पात्रों को चित्रित करता है क्योंकि वे देश के अशांत और बदलते परिदृश्य में कदम रखते हैं| रचना सिंह के साथ संवाद में कपूर और रेगे अपनी लेखन प्रक्रिया और प्रेरणा पर चर्चा करेंगी।

01 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
मुग़ल टेंट

01 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
मुग़ल टेंट

लेखिका सोनोरा झा का नया उपन्यास, लाफ्टर, वर्ग, विशेषाधिकार, कट्टरपंथ और आधुनिक शिक्षा पर एक मज़ेदार वर्णन है, जो हमें दुनिया के बारे में हमारी धारणाओं का सामना करने के लिए मजबूर करता है। यह कहानी एक श्वेत पुरुष कॉलेज प्रोफेसर और एक नए दक्षिण एशियाई सहकर्मी के प्रति उसके खतरनाक जुनून की कहानी है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने इसे "जबरदस्त हास्य उपलब्धि" कहा है। सुज़ाना टोरेस के साथ संवाद में सोनोरा वासना और प्रतिशोध की मार्मिक गाथा में 'दूसरे' के विचार पर चर्चा करेंगी।

  • सोनोरा झा का नया उपन्यास, लाफ्टर, वर्ग, विशेषाधिकार, कट्टरपंथ और आधुनिक शिक्षा पर एक मज़ेदार वर्णन है, जो हमें दुनिया के बारे में हमारी धारणाओं का सामना करने के लिए मजबूर करता है। यह कहानी एक श्वेत पुरुष कॉलेज प्रोफेसर और एक नए दक्षिण एशियाई सहकर्मी के प्रति उसके खतरनाक जुनून की कहानी है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने इसे "जबरदस्त हास्य उपलब्धि" कहा है। सुज़ाना टोरेस के साथ संवाद में सोनोरा वासना और प्रतिशोध की मार्मिक गाथा में 'दूसरे' के विचार पर चर्चा करेंगी।

01 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट



                     

01 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
मुग़ल टेंट

एक सत्र मेंटल हेल्थ की गंभीरता और जनरल हेल्थ पॉलिसीज के नाम| वक्ता मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े सभी पहलुओं पर बात करेंगे और इसके इलाज में आने वाली कमी, सामाजिक-आर्थिक हालात और वास्तिवकता पर भी प्रकाश डालेंगे|

01 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
मुग़ल टेंट

01 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
मुग़ल टेंट

युद्ध रिपोर्ताज की वास्तविकता के नाम एक सत्र| यह बताता है कि युद्ध की आंतरिक प्रकृति से साहित्य कैसे प्रभावित होता है। पत्रकार और लेखक रोजर कोहेन ने यूक्रेन युद्ध को कवर करते हुए टाइम्स टीमों के साथ पुलित्जर पुरस्कार और जॉर्ज पोल्क पुरस्कार अर्जित किया। वह पहले अफगानिस्तान, इराक, बोस्निया और ईरान जैसे विभिन्न अशांत क्षेत्रों से रिपोर्ट कर चुके हैं। पत्रकार और लेखक अंजन सुंदरम ने मध्य अफ़्रीकी गणराज्य, कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य और रवांडा से रिपोर्ट की है। पत्रकार स्टीफन संग संवाद में वे बताएँगे कि किस तरह से संघर्ष ने उनकी यात्रा और लेखन को प्रभावित किया है।
 
 

शुक्रवार, 2 फ़रवरी

02 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
मुग़ल टेंट

43. यशोधरा एंड वीमेन ऑफ़ द संघ

श्याम सेल्वादुरै और वेनेसा आर. सेसों संग संवाद अरुंधति सुब्रमनियम; परिचय: भारत में कनाडा के डिप्टी हाई कमिशनर, स्टीवर्ट व्हीलर

प्रस्तुति: दैनिक भास्कर

बुद्ध की ख्याति अंधेरे में खड़ी यशोधरा की नींव पर बनती है, वो युवा पत्नी जिसे महल में तन्हा छोड़ दिया गया था| श्याम सेल्वादुरै का विचारोत्तेजक उपन्यास, मेंशन ऑफ़ द मून हमें छठी सदी के भारत में वापस ले जाता है, और यशोधरा की शादी के शुरुआती सालों और पति द्वारा छोड़ दिए जाने की बेचैनी से परिचित कराता है| इसी पर एक दूसरा पहलू वेनेसा आर. सेसों का उपन्यास, यशोधरा: ए नॉवेल प्रस्तुत करता है| इसमें बुद्ध की कहानी को यशोधरा की नज़र से लिखा गया है, और ऐसा करते हुए बौद्ध मठों और संघ में एक छिपी हुई समानता उजागर हो जाती है| उनकी नई किताब, द गैदरिंग: ए स्टोरी ऑफ़ द फर्स्ट बुद्धिस्ट वीमेन है| सत्र में, सेल्वादुरै और सेसों अपने-अपने नजरिये से यशोधरा के जीवन को प्रस्तुत करेंगी| उनसे संवाद करेंगी प्रसिद्ध कवयित्री और लेखिका अरुंधति सुब्रमण्यम|
 

02 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
मुग़ल टेंट

आधी रात को आजादी मिलने के 77 साल बाद, भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक बनकर उभरी है। नीति, व्यापार और वित्त क्षेत्र के दिग्गजों का एक खास पैनल भारत की आर्थिक कहानी की विरासत और विकास का मूल्यांकन करते हुए भारतीय व्यापार और उद्यम के भविष्य पर चर्चा करेगा|

02 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
मुग़ल टेंट

एक महत्वपूर्ण सत्र जो शारीरिक और मानसिक विकलांगताओं का सामना करने वाले व्यक्तियों के प्रति इतिहास, कानून और एक विकसित समाज की सामाजिक अपेक्षाओं के ढांचे को नेविगेट करता है। इस चर्चा में, वक्ता विकलांगता से जूझ रहे लोगों और उनकी देखभाल करने वालों के सामने आने वाली चुनौतियों और उनके लिए सुलभ सुविधाओं व सहायता प्रणाली पर बात करेंगे| उनके लिए उपलब्ध सरकारी नीतियों और व्यावहारिक उपायों पर भी चर्चा होगी|

02 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
मुग़ल टेंट

02 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
मुग़ल टेंट

पत्रकार चार्ल्स ग्लास की नई किताब, सोल्जर्स डोंट गो मैड, युद्ध के दो महान कवियों, सेजफ्राइड सेसून और विलफ्रेड ओवेन की दोस्ती और प्रथम विश्वयुद्ध के उन पर पड़े प्रभाव की बात करती है| वे एक दूसरे से भाईचारे, कविता और मानसिक बीमारी की वजह से जुड़े थे, ये कहानी उन सैनिकों और डॉक्टर के संघर्ष को बयां करती है, जो उस दौर की मानसिकता को झेलते हैं| लेखक और पत्रकार मुकुंद पद्मनाभन संग संवाद में ग्लास भयानक युद्ध की पृष्ठभूमि में कला के माध्यम से उत्पन्न सकारात्मक प्रभाव की बात करेंगे|
 

02 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट

भारत अनेक विरोधाभासों का देश है। दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था और बढ़ती तकनीकी प्रगति के बीच संतुलन बनाते हुए, हम ऐसी गरीबी भी देखते हैं, जहां जनता जीवित रहने के लिए संघर्ष कर रही है। इस सत्र में समावेशी विकास और वृद्धि की दिशा में नीति और रणनीतियों का मूल्यांकन किया जाएगा| भारत के योजना आयोग के पूर्व सदस्य और लेखक अरुण मायरा ने इस विषय पर विस्तार से लिखा है। उनकी नई किताब, शेपिंग द फ्यूचर: ए गाइड फॉर सिस्टम लीडर्स, ‘सिस्टम बीइंग’, ‘सिस्टम थिंकिंग’ और ‘सिस्टम एक्टिंग’ के तीन विषयों का अनुसरण करती है, जो भविष्य के नेताओं के लिए एक रूपरेखा प्रस्तुत करती है। पद्म विभूषण से सम्मानित रघुनाथ माशेलकर उदारीकरण के बाद के भारत में विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार नीतियों को आकार देने में एक प्रभावशाली विचारक रहे हैं। फोर्ब्स मार्शल के सह-अध्यक्ष और द स्ट्रगल एंड द प्रॉमिस: रिस्टोरिंग इंडियाज पोटेंशियल के लेखक नौशाद फोर्ब्स के साथ संवाद में, वे भारत के भविष्य के लिए एक वैचारिक रोडमैप प्रस्तुत करते हैं, जो इसकी विविध सामाजिक, आर्थिक और सांस्कृतिक आवश्यकताओं के अनुकूल है।

02 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
मुग़ल टेंट

विविध सभ्यताओं और संस्कृतियों में व्याप्त नारीवाद के प्राचीन और नवीन, दोनों ही रूपों ने शायद महिला आंदोलन को अधिक लचीलापन प्रदान किया है। महिला अधिकार, अंतरविरोधी नारीवाद, जातीय हाशिये, सामाजिक पदानुक्रम और आर्थिक अभाव जैसे मुद्दे कई रूप लेते हैं और उनकी बहुलता को समझना होगा। इस सत्र में विश्व प्रसिद्ध लेखक और कार्यकर्ता तात्कालिक संदर्भों और समानता व न्याय की व्यापक खोज पर बात करेंगे|

02 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
मुग़ल टेंट

02 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
मुग़ल टेंट

लोकप्रिय लेखिका और पत्रकार मृणाल पांडे का उपन्यास, सहेला रे हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत के गुमनामी में घिरते घरानों की कहानी कहता है, उनके अपने शब्दों में, "एक खोए हुए सौंदर्य शास्त्र, एक कला रूप, एक जीवन शैली का अंतिम रोना"। उपन्यास की नायिका, विद्या, उस समय की कहानियों और परंपराओं को उजागर करने के लिए पुराने पत्र, तस्वीरें और ग्रामोफोन रिकॉर्ड एकत्र करती है, जब संगीत की प्रथा की तुलना पवित्र पूजा से की जाती थी। 
लेखक, स्तंभकार और कल्चरल आइकन यतीन्द्र मिश्र ने भारतीय संगीत की विरासत पर बड़े पैमाने पर काम किया है। उनकी किताबों में लता मंगेशकर और बेगम अख्तर की जीवनियां शामिल हैं। अकादमिक और लेखिका कैथरीन स्कोफिल्ड के साथ संवाद में मृणाल और यतीन्द्र संगीत के इतिहास और स्मृति, कलाकारों के जीवन के अनकहे कोड, और भारतीय विरासत के बीच संबंधों पर बात करेंगे|

शनिवार, 3 फ़रवरी

03 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
मुग़ल टेंट

90. द पेल ब्लू डॉट: चेरिशिंग आवर प्लेनेट

मुकेश बंसल, अमिताभ कांत और नीलकंठ मिश्रा संग संवाद विष्णु सोम

प्रस्तुति सैमसंग गैलेक्सी टैब S9 सीरीज

अमिताभ कांत, मुकेश बंसल और नीलकंठ मिश्रा हमारे प्लेनेट और ब्रह्मांड में हमारे स्थान को संवारने के सामयिक विषय का पता लगाएंगे। जैसे-जैसे भारत प्लेनेटरी सिस्टम और उससे आगे का पता लगाने की दिशा में आगे बढ़ रहा है, एक प्रजाति के रूप में हमारी दृष्टि का विस्तार हो रहा है और हमारे क्षितिज व्यापक हो रहे हैं। यहां तक कि जैसे ही 'एक विश्व' की चेतना उभरती है, लालच और अहंकार दुनिया को विभाजित करता है, उद्यमी, लेखक, टेक्नोक्रेट और भविष्य के स्पेस प्रोफेशनल बढ़ते स्पेस इकोसिस्टम के भीतर वैश्विक अर्थव्यवस्था की रोमांचक क्षमता का पता लगाते हैं। इस सत्र में हमारी बदलती दुनिया पर बात होगी|
 

03 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
मुग़ल टेंट

मॉडर्न लव का परिदृश्य बदल गया है, हमारे समय के अनुरूप ढल रहा है और विकसित हो रहा है। इस सत्र में वक्ता रोमांस, इच्छा और प्रतिबद्धता के बदलते स्वरुप पर बात करेंगे| स्तंभकार और लेखिका सीमा गोस्वामी का लोकप्रिय स्तंभ 'स्पेक्टेटर' समकालीन जीवन और समाज को प्रस्तुत करता है। लेखिका शिवानी सिब्बल का पहला उपन्यास, इक्वेशन पारिवारिक, सामाजिक परिवर्तन और वर्ग विभाजन पर केंद्रित है। लेखक और अनुवादक अनीश गावंडे पिंक लिस्ट इंडिया के क्यूरेटर हैं -- LGBTQIA+ अधिकारों का समर्थन करने वाले भारतीय राजनेताओं का एक संग्रह। मारिया गोरेटी के साथ संवाद में वे हलचल और बदलाव की दुनिया में प्यार के स्वरुप पर चर्चा करेंगे|
 

03 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
मुग़ल टेंट

03 Feb | 1:00 PM - 1:50 PM
मुग़ल टेंट

03 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
मुग़ल टेंट

एक दिलचस्प सत्र जो तीन लेखकों की नज़र से महान युद्ध में उपमहाद्वीपीय भागीदारी के पहलुओं पर विचार करेगा|
मुकुंद पद्मनाभन की किताब, द ग्रेट फ्लैप ऑफ़ 1942 द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान भारत में जापानी खतरे के कारण उत्पन्न घबराहट का वर्णन करती है। म्होंलुमो किकों द्वारा रचित हिज मेजेस्टीज़ हेडहंटर कोहिमा की महाकाव्य घेराबंदी पर एक आंतरिक परिप्रेक्ष्य प्रदान करती है। विष्णु सोम के साथ संवाद में वे सैन्य इतिहास के विभिन्न पहलुओं और प्रभावों व परिणामों पर चर्चा करेंगे।
 

03 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट

इस सत्र में वर्तमान वैश्विक जलवायु संकट की पृष्ठभूमि में भारत की प्राथमिक ऊर्जा आवश्यकताओं और फॉसिल फ्यूल्स पर निर्भरता और इसके प्रभाव पर एक गहन चर्चा होगी। देश में ऊर्जा परिवर्तन को बढ़ावा देने वाले अवसरों और रुझानों की खोज करते हुए, वे इसके बड़े राजनीतिक, आर्थिक और राजनयिक निहितार्थों और जटिलताओं का मूल्यांकन करते हुए ऊर्जा के स्थायी स्रोतों में बदलाव पर चर्चा करेंगे|

03 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट

03 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
मुग़ल टेंट

03 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
मुग़ल टेंट

आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस और डेटा विज्ञान ने विभिन्न क्षेत्रों में ज्ञान की हमारी समझ और प्रयोग को बदल दिया है। जलवायु और पर्यावरणीय चुनौतियों के साथ एआई का अंतर्संबंध अफोर्डबल क्लीन एनर्जी को बढ़ाने और ग्रह के कार्बन फुटप्रिंट्स को कम करने के लिए परिवर्तनकारी अवसर प्रदान करता है। इस सत्र में जलवायु परिवर्तन के असर को कम करने में एआई के उपयोग और आगे आने वाली चुनौतियों के समाधान पर बात की जाएगी|

रविवार, 4 फ़रवरी

04 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
मुग़ल टेंट

139. एंगर मैनेजमेंट: स्ट्रेटेजीज फॉर पीस

नवतेज सरना के साथ बातचीत में अजय बिसारिया, मे-एलिन स्टेनर और डायना मिकेविसिएन

04 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
मुग़ल टेंट

पत्रकार, साहित्यिक आलोचक और उपन्यासकार नीलांजना एस रॉय का नया उपन्यास, ब्लैक रिवर एक ऐसे समाज के बारे में लिखता है जो वर्ग विभाजन, धार्मिक संघर्ष और लैंगिक हिंसा के बीच सुलझ रहा है। दोस्ती, प्यार और दुःख के विषयों की खोज करते हुए, ब्लैक रिवर धर्म की राजनीति और घर और देश के नुकसान के साथ जुड़ी हुई न्याय की एक कोमल और चिंतनशील खोज है। पत्रकार और उद्यमी प्रज्ञा तिवारी के साथ संवाद में रॉय इस उपन्यास और अपने लेखन पर चर्चा करेंगी।
 

04 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
मुग़ल टेंट

एक शानदार सत्र जहाँ तीन फ़ूड लेखक हमें भारतीय जायकों के सफ़र पर ले चलेंगे| फ़ूड लेखिका, रेस्तरां सलाहकार और 'केरन’स गॉरमेट किचन' की संस्थापक, केरन आनंद की किताब, मसाला मेमसाहिब हमें पांच भारतीय राज्यों के स्थानीय व्यंजनों, खाने के तरीकों और आकर्षक पाक इतिहास से परिचित कराती है| स्वीडिश जासूसी उपन्यासकार, यात्रा लेखक और बैंगलोर के सेमी-डीलक्स राइटिंग प्रोग्राम के संस्थापक-निदेशक, ज़ैक ओ'येह की हाल ही में प्रकाशित, डाइजेस्टिंग इंडिया एक यात्री के अनूठे व्यंजनों और भोजन की आदतों की खोज की बेहद मनोरंजक कहानी है| वीडियो जॉकी, फूड व्लॉगर और लेखिका मारिया गोरेटी की फ्रॉम माई किचन टू योर्स: फूड, लव एंड अदर इंग्रीडिएंट्स  इस बात का जश्न मनाती है कि वह अपना जीवन कैसे जीती हैं और पूरे भारत से आसानी से बनने वाली स्वादिष्ट रेसिपी के साथ हर महीने के लिए छह कोर्स का फ़ूड लेआउट प्रस्तुत करती है। अमृता त्रिपाठी के साथ संवाद में, वे अपनी किताबों के बारे में बात करेंगे और उन सभी चीज़ों पर भी जो हमारे टेस्ट-बड्स को गुदगुदाती हैं।
 

04 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
मुग़ल टेंट

04 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
मुग़ल टेंट

अनियंत्रित ऑनलाइन दुनिया युवाओं के लिए एक भयावह और अनिश्चित वातावरण हो सकती है। लेखिका और स्तंभकार नेहा जे. हीरानंदानी ने द इंडियन एक्सप्रेस और वोग इंडिया के लिए पेरेंटिंग पर लेख लिखे हैं। उनकी नई किताब, आईपेरेंट  डिजिटल पीढ़ी के माता-पिता को उनके बच्चों के लिए साइबर-सुरक्षा की दुनिया में ले जाती है। शिवानी सिब्बल एक अभिभावक और उपन्यास इक्वेशन की लेखिका हैं, जो पारिवारिक, सामाजिक परिवर्तन और वर्ग विभाजन की पड़ताल करता है। माता-पिता, लेखक, गणितज्ञ और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में विज्ञान के प्रोफेसर, मार्कस दू सौतोय, कई पुस्तकों के लेखक हैं, उनकी नई किताब, अराउंड द वर्ल्ड इन 80 गेम्स यह बताती है कि कैसे गणित और खेल हमेशा एक-दूसरे से गहराई से जुड़े हुए हैं। प्रियंका खन्ना के साथ संवाद में वक्ता डिजिटल दुनिया और वास्तविक दुनिया के अंतर और उनके बीच संतुलन पर चर्चा करेंगे|
 

04 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट

वर्जीनिया वुल्फ को 20वीं सदी की एक प्रमुख लेखिका, महान उपन्यासकार, निबंधकार और साहित्यिक इतिहास में एक नारीवादी और आधुनिकतावादी के रूप में पहचाना जाता है। लेखिका और साहित्यिक आलोचक, मेर्वे एमरे की द एनोटेटेड मिसेज डेलोवे, एक शानदार, सचित्र हार्डकवर संस्करण में वर्जीनिया वूल्फ के अभूतपूर्व उपन्यास, मिसेज डेलोवे पर की गई टिप्पणी है। मिसेज डेलोवे को साहित्यिक आधुनिकतावाद का एक महत्वपूर्ण कार्य और बीसवीं शताब्दी के सबसे महत्वपूर्ण और प्रभावशाली उपन्यासों में से एक माना जाता है। अनीश गावंडे के साथ संवाद में, एमरे वुल्फ के किरदारों के माध्यम से उनकी सौंदर्य और राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं पर चर्चा करेंगी|
 

04 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
मुग़ल टेंट

लेखक, अनुवादक और पूर्व राजनयिक नवदीप सूरी और नवतेज सरना इस सत्र में पंजाबियत के सार के बारे में बात करेंगे| सूरी द्वारा अपने दादा नानक सिंह की 'खून दे सोहिले' (हाइम इन ब्लड) का हाल ही में प्रकाशित अनुवाद उस हिंसा और आघात की याद दिलाता है, जो धार्मिक संघर्ष अपने साथ ला सकता है। इसकी अगली कड़ी है, ‘अग्ग दी खेड़’ (ए गेम ऑफ फायर)। उनके पहले अनुवादों में जलियांवाला बाग नरसंहार पर सिंह की लंबी कविता, खूनी वैसाखी शामिल है। सरना की सैवेज हार्वेस्ट उनके पिता मोहिंदर सिंह सरना की भारत के विभाजन पर लघु कहानियों के संग्रह का अनुवाद है। उनका अपना उपन्यास, क्रिमसन स्प्रिंग भी जलियांवाला बाग रक्तपात की भयावहता का मार्मिक वर्णन है। अकादमिक सरबजोत सिंह के साथ संवाद में, वे अपने पूर्वजों की विशाल विरासत और पंजाबी साहित्य में निभाई गई प्रारंभिक भूमिका पर चर्चा करेंगे|
 

04 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
मुग़ल टेंट

04 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
मुग़ल टेंट

324 ईसापूर्व से 185 ईसापूर्व तक, मौर्यों ने लगभग पूरे भारतीय महाद्वीप पर अपनी दक्षता और प्रशासन क्षमता के बल पर राज किया| इस सत्र में मौर्य इतिहास के कुछ खास पहलुओं पर चर्चा होगी| करिश्माई शासक चन्द्रगुप्त मौर्य से लेकर उनके उत्तराधिकारियों तक, और फिर उपनिवेशवाद और उपनिवेशवाद पश्चात् की स्थितियों पर पड़े प्रभाव की नज़र से भी भारत के इस पहले पैन-इंडिया राजवंश पर चर्चा होगी|
 

सोमवार, 5 फ़रवरी

05 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
मुग़ल टेंट

191.   हॉप, स्किप एंड जम्प: बियॉन्ड द ट्रैपिंग ऑफ़ ऑफिस

राजन कश्यप और रेबा सोम संग संवाद पुनीता रॉय

लेखिका, शिक्षाविद और गायिका रेबा सोम का नया संस्मरण, हॉप, स्किप एंड जंप, एक विदेश सेवा अधिकारी की पत्नी के रूप में उनके अनुभवों की दास्ताँ है, जिसमें उनके द्वारा विभिन्न पोस्टिंग और वातावरण में बिताए गए कई दशकों का विवरण है। सिविल सेवा अधिकारी राजन कश्यप का संस्मरण, बियॉन्ड द ट्रैपिंग्स ऑफ ऑफिस छात्र वर्षों के दौरान सिविल सेवाओं में उनकी यात्रा का वर्णन करता है, जो हमें उस विभाग की आंतरिक कार्यप्रणाली की झलक देता है, जो हमारे देश की रीढ़ है। मीडिया प्रोफेशनल और एनर्जी हीलर पुनिता रॉय के साथ संवाद में, वे हमें कई दिलचस्प किस्से सुनायेंगे|

05 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
मुग़ल टेंट

भागती हुई आधुनिक दुनिया में जब हम शांति की तलाश करते हैं, तो हमारा रुख खुद ब खुद काव्य की तरफ मुड़ जाता है| तीन कवि हमारी बेचैन दुनिया के विभिन्न पहलुओं को दर्शाते हुए हमारे समय की कविता प्रस्तुत करेंगे।

05 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
मुग़ल टेंट

2024, 'इंटरनेशनल कैमलिड्स वर्ष', कैमलिड्स और विषम परिस्थितियों में रहते हुए लाखों परिवारों को आजीविका प्रदान करने में उनकी आवश्यक भूमिका को मान्यता देता है। वैज्ञानिक इलसे कोहलेर-रोलेफ्सों कैमल कर्मा की लेखिका हैं, जो राजस्थान के ऊंटों को बचाने के सन्दर्भ में रायका समुदाय और ऊंटों के साथ उनके संबंधों को बयां करती है। उनकी नई किताब, हूफप्रिंट्स ऑन द लैंड, लोगों और जानवरों के बीच कामकाजी साझेदारी का एक आकर्षक वर्णन है। युवान आवेस लिखते हैं, पढ़ाते हैं, सीखते हैं और वहां रहते हैं जहां परिदृश्य मानसिकता के साथ विलीन हो जाता है। वह एक पुरस्कृत लेखक, प्रकृति-शिक्षक और पर्यावरण-रक्षक व पल्लुयिर ट्रस्ट फॉर नेचर एजुकेशन एंड रिसर्च के मैनेजिंग ट्रस्टी हैं। कोहलेर-रोलेफ्सों और आवेस मिलकर दुनिया की ऊंट संस्कृतियों और उनसे जुड़ी बहुत से जरूरी बातों पर चर्चा करेंगे।
 

05 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
मुग़ल टेंट

05 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
मुग़ल टेंट

05 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
मुग़ल टेंट

पूर्व शीर्ष पुलिस अधिकारी और बीसीसीआई के एंटी-करप्शन चीफ़, नीरज कुमार की हाल ही में प्रकाशित किताब, ए कॉप इन क्रिकेट खेल के कमजोर पक्ष को उजागर करती है, जो खेल की अखंडता को खतरे में डालने वाले गठजोड़ का आंखें खोलने वाला ब्यौरा प्रस्तुत करती है। पुलिस अधिकारी और सामाजिक कार्यकर्ता, आमोद के. कांत की खाकी ऑन ब्रोकन विंग्स: केसेस दैट शॉक्ड इंडिया, पुलिस डायरीज़ श्रृंखला का दूसरा खंड है। वह नेशनल हेडलाइन्स में छाए कुछ जघन्य अपराधों, सर्वव्यापी माफियाओं, आपराधिक न्याय प्रणाली की खामियों और जेल तथा सुधारात्मक सेवाओं के शोषण पर बात करेंगे| पूर्व आईपीएस अधिकारी मीरान चड्ढा बोरवंकर का हालिया संस्मरण, मैडम कमिश्नर भारतीय कानून प्रवर्तन में उनके छत्तीस वर्षों का एक स्पष्ट विवरण है। पूर्व राजनयिक और लेखक विकास स्वरूप के साथ एक मनोरंजक सत्र में वे वास्तविक जीवन के अनुभवों और पुलिस बल में अपने जीवन की अंदरूनी कहानियों को साझा करेंगे|

05 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
मुग़ल टेंट

   चूँकि ब्रिटेन भव्य परियोजनाओं के उन्माद में डूबा हुआ था, 1768 में रॉयल नेवी ने दक्षिण सागर में एक अभियान के लिए व्हिटबी कोलियर खरीदा। कोई भी अनुमान नहीं लगा सकता था कि वह ब्रिटिश अन्वेषण के इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण जहाज बन जाएगा| उसका नाम ‘एंडेवर’ था| इतिहासकार और लेखक पीटर मूर की किताब, एंडेवर: द शिप एंड द एटीट्यूड दैट चेंज्ड द वर्ल्ड, ब्रिटिश अन्वेषण के इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण जहाज की एक ज्वलंत जीवनी प्रस्तुत करती है। इतिहासकार और ब्रॉडकास्टर क्लेयर राइट के साथ संवाद में मूर इससे जुड़े कई दिलचस्प किस्से प्रस्तुत करेंगे|

गुरूवार, 1 फ़रवरी

01 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
दरबार हॉल

05. सोंग्स ऑफ़ मिलारेपा

एंड्रयू क्विंटमैन और केली दोरजी संग संवाद, नमिता गोखले द्वारा परिचय

प्रस्तुति: ब्लूवन इंक

हिमालय  के पवित्र शिखर में अध्यात्म और रहस्यवाद की समयातीत परम्परा समाई है| प्रबुद्ध गुरु धार्मिक और आध्यात्मिक समुदायों के लिए एक स्थायी और जीवंत उपस्थिति कैसे बनते हैं? प्रसिद्ध अकादमिक और लेखक एंड्रू क्विंटमैन ने तिब्बत के गुरु और आध्यात्मिक कवि, मिलारेपा के जीवन पर बहुत लिखा है| अभिनेता और लेखक केली दोरजी बौद्ध धर्म को मानते हैं| उनकी किताब, हिडन रेनबो, हमें बौद्धिक प्रतीकों के माध्यम से आंतरिक शांति और स्वीकृति के एक आध्यात्मिक सफ़र पर ले जाती है|
ये दोनों मिलारेपा के जीवन के साहित्यिक प्रतिनिधित्व की बात करते हुए रहस्य और अध्यात्म के अनेक कहानियां सुनायेंगे| इस सत्र में मिस्टिक एंड सेप्टिक्स: इन सर्च ऑफ़ हिमालयन मास्टर्स के हिन्दी अनुवाद का लोकार्पण भी होगा|

01 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
दरबार हॉल

वर्तमान समय में, कुछ लोगों के लिए कल्पना एक लक्जरी है; कुछ ऐसा जो अंततः मायावी है, जिसका उपयोग करना कठिन है और इसे दूसरों के लिए छोड़ देना ही बेहतर है| लेकिन कल्पना करने का क्या मतलब है? हम इसके बारे में कैसे सोचते हैं, और यह इतना महत्वपूर्ण क्यों है कि हम अपने लिए इसकी कल्पना करें? अल्बर्ट रीड की विचारोत्तेजक किताब, इमेजिनेशन मसल, कल्पना को हमारे जीवन में सबसे आगे रखती है। लेखिका अमृता त्रिपाठी से संवाद में अल्बर्ट मानव मस्तिष्क की असीम क्षमता और समय के साथ विचारों की उत्पत्ति पर चर्चा करेंगे|

01 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
दरबार हॉल

01 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
दरबार हॉल

लेखक और प्रकृतिवादी युवान आवेस की नई किताब, इंटरटाइडल: कोस्ट एंड मार्श डायरी, दो साल और तीन मानसून में फैली हुई, तट और आर्द्रभूमि, जलवायु और स्वयं की गहरी टिप्पणियों की एक डायरी है। जहां भूमि समुद्र से मिलती है - और जहां अस्तित्व दुनिया से मिलता है, कथा सौंदर्य और नाजुकता के परिदृश्य के बीच सबसे छोटे जीवन रूपों के साथ बातचीत का पता लगाती है। प्रसिद्ध लेखक रोबर्ट मैकफार्लें के साथ संवाद में, आवेस हमें मनुष्य, जानवर, समुद्र और तट की सीमाओं से परे सामंजस्यपूर्ण सह-अस्तित्व की यात्रा पर ले जाएंगे|

01 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
दरबार हॉल

इस सत्र में दक्षिण एशियाई व्यंजनों की विविध पाक परंपराओं पर बात होगी| यादों, व्यंजनों और पारिवारिक इतिहास में डूबी, लेखिका और सांस्कृतिक इतिहासकार तराना हुसैन खान और लेखिका और इतिहासकार राणा सफ़वी हमें अवधी और रामपुर के व्यंजनों की समृद्ध सांस्कृतिक और सामाजिक परंपराओं के विषय में बतायेंगी और समय के साथ इसमें आए बदलावों पर भी रौशनी डालेंगी|

01 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
दरबार हॉल

पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ माना गया है| क्या मीडिया के बदलते स्वरुप और नई तकनीकों ने पत्रकारिता के मूल आदर्शों को प्रभावित किया है?

01 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
दरबार हॉल

01 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
दरबार हॉल

लुईस फाउलर-स्मिथ की नई किताब, सेक्रेड ट्रीज़ ऑफ इंडिया, पारिस्थितिक स्थिरता और पृथ्वी पर जीवन की निरंतरता के लिए वनों की कटाई से उत्पन्न बुनियादी खतरे की जांच करती है। फाउलर-स्मिथ ने भारत में 10 सालों तक कार्य किया है, इसी अनुभव का लाभ उठाते हुए उन्होंने भारत के पवित्र वृक्षों और वृक्ष-पूजा की परंपराओं को दर्ज किया, जो प्रकृति के पश्चिमी पूंजीवादी वस्तुकरण के लिए एक शक्तिशाली विकल्प प्रस्तुत करता है। इस सत्र में, वह एक ऐसी संस्कृति पर चर्चा करेंगी, जिनकी पेड़ों के प्रति श्रद्धा ने उन्हें पारिस्थितिक विनाश को रोकने में मदद की है।

शुक्रवार, 2 फ़रवरी

02 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
दरबार हॉल

44. द मेमोरिस्ट

मणि शंकर अय्यर और गुरुचरण दास संग संवाद मंदिरा नायर

प्रस्तुति: राजस्थान पत्रिका

दो प्रमुख लेखक और पब्लिक इंटेलेक्चुअल, मणिशंकर अय्यर और गुरुचरण दास, अपनी हाल ही में प्रकाशित किताबों पर चर्चा करेंगे| इन किताबों में व्यक्तिगत और राजनीतिक घटनाओं और उनसे होने वाले प्रभाव को वर्णित किया गया है| पूर्व राजनयिक और राजनीतिज्ञ, मणिशंकर अय्यर का संस्मरण, अय्यर’स मेमोयर्स ऑफ ए मेवरिक: द फर्स्ट फिफ्टी इयर्स, और उसकी अगली कड़ी, द राजीव आई न्यु, विदेश सेवा और राजनीति में उनके जीवन के स्पष्ट, विचारशील और मजाकिया विवरण हैं। लेखक, स्तंभकार और प्रॉक्टर एंड गैंबल के पूर्व सीईओ, गुरुचरण दास की हाल ही में प्रकाशित किताब, अनदर सॉर्ट ऑफ फ्रीडम: ए मेमॉयर एक मार्मिक कहानी है, जो हमें विभाजन की अराजकता से लेकर असफल पहले प्यार और अपरंपरागत करियर निर्णयों तक उनके जीवन के उतार-चढ़ाव से रूबरू कराती है। इस मनोरंजक सत्र में, मंदिरा नायर से संवाद में वे अपने जीवन और किताबों पर बात करेंगे|

02 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
दरबार हॉल

02 Feb | 12:00 PM - 12:50 PM
दरबार हॉल

सत्ता का चेहरा कैसा दिखाई देता है?
कला में किसका स्मरण किया जाता है और क्यों?
और हम उन राजनेताओं के बुत को देखकर क्या सोचते हैं, जिनकी हमने आलोचना की थी?
 
प्रमुख क्लासिकवादी और कल्चरल कमेंटेटर मैरी बियर्ड की हालिया प्रकाशित किताब ट्वेल्व सीज़र्स: इमेजेस ऑफ़ पॉवर फ्रॉम द एन्शियंट वर्ल्ड टू द मॉडर्न, रोमन आर्ट और उसके पश्चिम पर पड़े प्रभाव की बात करती है| प्राचीन शाही कल्पना और आधुनिक दृश्य कल्पना के बीच संबंधों की जांच करते हुए, बियर्ड हमें रोमन सम्राटों, विशेष रूप से 'बारह सीज़र', क्रूर जूलियस सीज़र से लेकर ‘फ्लाई-टॉर्चर’ देने वाले डोमिनिशियन तक की छवियों के माध्यम से उनके आधुनिक महत्व को समझाती हैं। सत्र में, वे बदलती पहचानों और सत्ता के अनिश्चित प्रतिनिधित्व पर बात करेंगी|

02 Feb | 01:00 PM - 01:50 PM
दरबार हॉल

02 Feb | 02:00 PM - 02:50 PM
दरबार हॉल

समाज के विकास के साथ सीखने की प्रणालियाँ भी विकसित होनी चाहिएं; एजुकेशन और इन्नोवेशन बदलती वास्तविकताओं और प्रतीक्षारत चुनौतियों के लिए बहुत ज़रूरी हैं। इस सत्र में विशेषज्ञ शिक्षा के बदलते आयामों में शिक्षा के भविष्य और इसे व्यापक सामाजिक कल्याण और सार्वजनिक भलाई से जोड़ने पर बात करेंगे|

प्रोफेसर चार्ली जेफ़री यॉर्क यूनिवर्सिटी के वाईस-चांसलर और प्रेजिडेंट हैं। उनका मानना है कि शिक्षा सामाजिक और आर्थिक कल्याण प्रदान कर सकती है। आर्ची कॉमिक्स की को-सीईओ, नैन्सी सिल्बरक्लीट ने उन तरीकों पर बड़े पैमाने पर काम किया है, जिनके माध्यम से ग्राफिक उपन्यासों को बच्चों की शिक्षा के लिए उपयोग में लाया जा सकता है। अकादमिक और लेखिका सीतल कलंत्री सिएटल यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ लॉ में एसोसिएट डीन हैं। प्रियांक नारायण एक अनुभवी उद्यमी और शिक्षाविद् हैं। वह IndiaPreneurship के संस्थापक हैं, जो भारत में उद्यमशीलता के अवसरों को दुनिया के सामने प्रदर्शित करने पर केंद्रित संगठन है।

इनसे संवाद करेंगे संजॉय के. रॉय|

02 Feb | 03:00 PM - 03:50 PM
दरबार हॉल

 दो प्रतिबद्ध लेखक अपनी नई किताबों पर चर्चा करेंगे| वो किताबें जो मतभेद, निराशा और आशा की तलाश पर आधारित हैं| प्रमुख राजनीति विचारक और बहु-संस्कृति और गैर-पश्चिमी समाज में धर्मनिरपेक्षता के विद्वान्, राजीव भार्गव, अपनी नई किताब, रिइमेजनिंग इंडियन सेक्युलरिज्म में विरोधियों द्वारा भारतीय धर्मनिरपेक्षता के दुरुपयोग और जानबूझकर की गई विकृति पर सवाल उठाते हैं। इससे पहले उनके लेखों का संकलन, बिटवीन होप एंड डेस्पेयर, भारत की सामूहिक नैतिक पहचान पर प्रासंगिक सवाल उठाते हुए, एक समावेशी, बहुलवादी भारत के विचार की तलाश करता है| प्रमुख राजनीति अर्थशास्त्री और सामाजिक कमेंटेटर परकाला प्रभाकर की नई किताब, क्रूकेड टिम्बर ऑफ़ न्यू इंडिया, धार्मिक बहुलवाद के उदय में ‘नये भारत’ की पड़ताल करती है| इन दोनों से संवाद करेंगे मोहित सत्यानंद|       

02 Feb | 04:00 PM - 04:50 PM
दरबार हॉल

भारतीय फैशन की विरासत अतीत और वर्तमान, परंपरा और आधुनिकता के तत्वों को साथ लेकर चलती है| फैशन डिजाइनर तरुण ताहिलियानी के डिजाइंस में ये साफ़ झलकता है, जिसमें वैश्वीकरण और उपनिवेशीकरण के प्रभाव से लेकर लंबे समय से भूली हुई तकनीकों के पुनरुद्धार तक शामिल हैं। इन्वेस्टीगेटिव जर्नलिस्ट आलिया अल्लाना के साथ लिखी गई उनकी किताब, जर्नी टू इंडिया मॉडर्न, इस पर विस्तार से बात करती है। लेखिका शिवानी सिब्बल के साथ संवाद में, ताहिलियानी फैशन में अपने अन्वेषणों और उन सवालों के बारे में जानकारी साझा करेंगे, जो वह अपने डिजाइनों के माध्यम से उठाना चाहते हैं।   

02 Feb | 05:00 PM - 05:30 PM
दरबार हॉल

02 Feb | 05:30 PM - 06:20 PM
दरबार हॉल

तीन प्रमुख भारतीय कवि अपने काम, प्रेरणा, मीटर और सुर पर चर्चा करेंगे| नवीन किशोर के नए काव्य संग्रह मदर म्यूज़ क्विंट में सम्मोहक छंद, जन्म देने वाली मां और मातृभाषा के लिए संवेदना, यादों और सपनों की गहराई से कोहरे की तरह उभरते हैं| रंजीत होसकोटे का आठवां कविता संग्रह, आइसलाइट दुस्साहसी अन्वेषण और चिंतनशील वापसी के बीच से गुजरता है क्योंकि यह खोई हुई दुनिया और रिश्तों को संग्रहीत करता है, और अतीत, वर्तमान और भविष्य के मार्मिक संस्करणों को संकलित करता है। अरुंधति सुब्रमण्यम का हालिया संकलन वाइल्ड वुमेन: सीकर्स, प्रोटागोनिस्ट्स, एंड गॉडेसेस इन सेक्रेड इंडियन पोएट्री भारतीय उपमहाद्वीप में महिलाओं की, उनके द्वारा और उनके लिए भयावह आवाजों को एक साथ बुनता है और हमें महिला शक्ति की एक विस्फोटक विरासत को पुनः प्राप्त करने के लिए आमंत्रित करता है। कविता के इस सुरीले सत्र का संचालन अनीशा लालवानी करेंगी|

शनिवार, 3 फ़रवरी

03 Feb | 10:00 AM - 10:50 AM
दरबार हॉल

91. राजा रवि वर्मा: द शेपिंग ऑफ़ एन आर्टिस्ट

गणेश वी. शिवास्वमी संग संवाद असद लालजी

प्रस्तुति: एबीपी लाइव

हमारे देश के सबसे महान और मॉडर्न आर्टिस्ट, राजा रवि वर्मा के नाम के सत्र| गणेश वी.शिवास्वामी के छह वॉल्यूम की सीरीज में से दूसरी किताब, राजा रवि वर्मा: एन एवरलास्टिंग इंप्रिंट कलाकार के जीवन, शैली और कला पर पड़ी उनकी अमिट छाप की बात करती है| सत्र संचालन असद लालजी करेंगे|   
 

03 Feb | 11:00 AM - 11:50 AM
दरबार हॉल